Home /News /business /

air travel to become costlier from august 31 government is going to end the limit on fares jst

हवाई सफर 31 अगस्त से हो जाएगा महंगा! सरकार किराए पर सीमा को करने जा रही खत्म

सरकार 31 अगस्त से हवाई जहाज के किराए पर लगी सीमा हटाएगी.

सरकार 31 अगस्त से हवाई जहाज के किराए पर लगी सीमा हटाएगी.

केंद्रीय उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा है कि 31 अगस्त से हवाई किराए पर लगाई गई लिमिट को खत्म कर दिया जाएगा. 2020 में लॉकडाउन के बाद दोबारा हवाई यात्रा शुरू होने पर यह कैप लगाया था ताकि किरायों को नियंत्रित किया जा सके.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

31 अगस्त से हवाई किराए से लिमिट हटा दी जाएगी.
इसके बाद विमान कंपनियां अपनी मर्जी से कितना भी किराया तय कर सकेंगी.
मई 2020 में सरकारी ने हवाई यात्रा के किराए पर सीमा लगा दी थी.

नई दिल्ली. घरेलू हवाई किराए पर लगाई गई सीमा लगभग 27 महीने के अंतराल के बाद 31 अगस्त से हटा दी जाएगी. केंद्रीय उड्डयन मंत्रालय ने बुधवार यह जानकारी दी. उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट किया, ‘‘हवाई किराए की सीमा को हटाने का फैसला दैनिक मांग और विमान ईंधन (एटीएफ) की कीमतों के सावधानीपूर्वक विश्लेषण के बाद लिया गया है. स्थिरता आने लगी है और हमें भरोसा है कि यह क्षेत्र निकट भविष्य में घरेलू यातायात में वृद्धि के लिए तैयार है.’’

उड्डयन मंत्रालय ने बुधवार को एक आदेश में कहा कि घरेलू परिचालन की वर्तमान स्थिति की समीक्षा करने के बाद किराए की सीमा को 31 अगस्त 2022 से खत्म करने का फैसला किया गया. रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण रिकॉर्ड स्तर तक पहुंचने के बाद एटीएफ की कीमतें पिछले कुछ हफ्तों के दौरान नीचे आई हैं. दिल्ली में एटीएफ की कीमत एक अगस्त को 1.21 लाख रुपये प्रति किलोलीटर थी, जो पिछले महीने की तुलना में करीब 14 फीसदी कम है.

ये भी पढ़ें- डिजिटल कर्ज के संबंध में आरबीआई ने जारी के नए नियम, केवल रेगुलेटेड इकाई ही दे पाएगी अब लोन

2020 में लगाई गई थी सीमा
कोविड-19 महामारी के कारण दो महीने के लॉकडाउन के बाद 25 मई, 2020 को विमान सेवाएं फिर शुरू होने पर मंत्रालय ने उड़ान की अवधि के आधार पर घरेलू हवाई किराए पर निचली और ऊपरी सीमा लगा दी थी. इसके तहत एयरलाइंस किसी यात्री से 40 मिनट से कम की घरेलू उड़ानों के लिए 2,900 रुपये (जीएसटी को छोड़कर) से कम और 8,800 रुपये (जीएसटी को छोड़कर) से अधिक किराया नहीं ले सकती हैं.

सस्ते भी मिल सकते हैं टिकट
दरअसल, सीमा हटाए जाने के बाद बहुत जल्दी टिकट बुक करने वाले लोगों को काफी कम किराया चुकाना पड़ सकता है. क्योंकि फ्लाइट फुल करने के लिए एयरलाइन्स काफी पहले से ऑफर देना शुरू कर देती हैं. हालांकि, एक समय सीमा के बाद ये छूट खत्म होती है और डायनेमिक फेयर लागू हो जाता है. यानी अब अगर आप अंतिम समय में टिकट खरीदेंगे तो आपको भारी किराया चुकाना पड़ेगा.

ये भी पढ़ें- कोटक महिंद्रा के ग्राहकों के लिए खुशखबरी! बैंक ने एफडी पर ब्याज बढ़ाया, चेक करें नए रेट्स

एविएशन सेक्टर में तेजी
कोरोनोवायरस महामारी के दौरान लगभग सभी सेक्टर की हालत खस्ता हो गई थी. लॉकडाउन के चलते रेलवे और एविएशन सेक्टर को भी बड़ा नुकसान झेलना पड़ा था. इस महामारी ने विदेशी विमान से लेकर डोमेस्टिक फ्लाइट तक के बंद हो जाने से देश के एविएशन सेक्टर को लगभग तबाह कर दिया था. लेकिन अब यह क्षेत्र रिकवरी कर रहा है और खासकर हवाई यात्रियों की संख्या के मामले में तेजी आई है. धीरे-धीरे विमान कंपनियां भी इस नुकसान से उबार रही है.

एटीएफ की कीमतें
इस महीने की शुरुआत में ही पेट्रोलियम कंपनियों ने एटीएफ की कीमतों में कटौती की थी. दिल्ली में अब एटीएफ की कीमत 1,38,147.93 रुपये प्रति किलोलीटर से कम होकर 1,21,915.57 रुपये प्रति किलोलीटर हो गई है. कोलकाता में जेट ईंधन की कीमत अब 128,425.21 रुपये है, मुंबई में इसका दाम 120,875.86 रुपये है और चेन्नई में एक किलोलीटर विमान ईंधन की कीमत 126,516.29 रुपये है.

Tags: Airlines, Business news, Business news in hindi, Civil aviation, Flight fare, Jyotiraditya Madhavrao Scindia, Ministry of civil aviation

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर