अपना शहर चुनें

States

लॉकडाउन इम्पैक्ट: इस कंपनी ने कर्मचारियों की सैलरी में की 20% तक की कटौती, साथ ही कुछ को बिना वेतन ही छुट्टी पर भेजा

लॉकडाउन इम्पैक्ट: इस कंपनी ने कर्मचारियों की सैलरी में की 20% तक की कटौती
लॉकडाउन इम्पैक्ट: इस कंपनी ने कर्मचारियों की सैलरी में की 20% तक की कटौती

एयर एशिया इंडिया (AirAsia) ने कोरोना वायरस महामारी के चलते तीन मई तक सभी उड़ानों के रद्द रहने के कारण अपने कर्मचारियों के अप्रैल के वेतन में 20 प्रतिशत तक की कटौती की है.

  • Share this:
नई दिल्ली. एयर एशिया इंडिया (AirAsia) ने कोरोना वायरस महामारी के चलते तीन मई तक सभी उड़ानों के रद्द रहने के कारण अपने कर्मचारियों के अप्रैल के वेतन में 20 प्रतिशत तक की कटौती की है. एक सूत्र ने यह जानकारी देते हुये कहा, हालांकि, जिनका मासिक वेतन 50,000 रुपये या उससे कम है, उनके वेतन में कटौती नहीं होगी. इससे पहले इंडिगो, स्पाइसजेट और विस्तार जैसी दूसरी घरेलू विमानन कंपनियां भी इस तरह की घोषणाएं कर चुकी हैं.

सूत्र ने पीटीआई को बताया कि एयरएशिया इंडिया ने अपने कर्मचारियों के अप्रैल वेतन में 20 प्रतिशत तक की कटौती की है. वरिष्ठ प्रबंधन के वेतन में 20 प्रतिशत की कटौती होगी, जबकि जबकि अन्य श्रेणियों में आने वाले अधिकारियों के वेतन में 17 प्रतिशत, 13 प्रतिशत और सात प्रतिशत की कटौती होगी.

ये भी पढ़ें: भारत ने चीन को सबक सिखाने के लिए उठाया बड़ा कदम, करोड़ों के नुकसान से घबराया चीन



उन्होंने बताया कि जिन कर्मचारियों का वेतन 50,000 रुपये प्रति माह या उससे कम है, उनके वेतन में कटौती नहीं होगी. एयर एशिया इंडिया के प्रवक्ता ने संपर्क करने पर इस बारे में टिप्पणी करने से इनकार किया.
स्पाइसजेट रोटेशनल बेसिस पर कर्मचारियों को छुट्टी पर भेजा
स्पाइसजेट (SpiceJet) ने 50 हजार रुपये प्रति महीने से अधिक कमाई करने वाले कर्मचारियों को बिना पेमेंट ही छुट्टी पर भेजने का फैसला लिया है. सूत्रों द्वारा जानकारी के मुताबिक, एक साथ सभी कर्मचारियों को छुट्टी पर नहीं भेजा जाएगा, बल्कि उन्हें रोटेशनल बेसिस पर भेजा जाएगा. स्पाइसजेट के अलावा अन्य कंपनियों ने भी अपने कर्मचारियों के लिए leave without pay का ऐलान किया था. दरअसल, देशभर में लॉकडाउन के बीच विमान सेवाएं भी पूरी तरह से बंद हैं. ऐसे में कंपनियों की रेवेन्यू पर इसका खासा असर पड़ रहा है. यही कारण है कि ​प्राइवेट विमान कंपनियों को कॉस्ट कटिंग का सहारा लेना पड़ रहा है.

ये भी पढ़ें: इनकम टैक्स डिपार्टमेंट जारी करेगा नया ITR फॉर्म, जानें क्या है वजह?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज