अब भारत से भी कारोबार समेटेगी एयरएशिया! नुकसान में है कंपनी, एशिया में शुरू की थीं अफोर्डेबल फ्लाइट्स

एयरएशिया भारत से अपना कारोबार समेटने की तैयारी कर रही है.
एयरएशिया भारत से अपना कारोबार समेटने की तैयारी कर रही है.

बजट एयरलाइन सर्विस प्रोवाइडर एयर एशिया इंडिया (AirAsia India) की मुख्‍य कंपनी एयर एशिया ग्रुप बीएचडी (AirAsia Group Bhd) ने कहा कि भारत में ज्‍वाइंट वेंचर एयरलाइन में निवेश की समीक्षा की जा रही है. इस समय भारत में कंपनी का कारोबार नुकसान में चल रहा है. एयर एशिया इंडिया पहले भी भारत से कारोबार समेटने के संकेत दे चुकी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 17, 2020, 10:37 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. एशिया में किफायती उड़ान सेवा (Affordable flights) की शुरुआत करने वाली एयरलाइन कंपनी एयर एशिया (Air Asia) भारत से अपना बिजनेस समेट रही है. मलेशिया की फ्लैगशिप बजट एयरलाइन एयरएशिया ग्रुप बीएचडी (AirAsia Group Bhd) ने भारत में कारोबार समेटने के संकेत दिए हैं. कंपनी की ओर से मंगलवार को कहा गया है कि वह भारत में ज्‍वाइंट वेंचर एयरलाइन में अपने निवेश की समीक्षा कर रही है. कंपनी ने कहा कि भारत में नुकसान से आर्थिक बोझ बढ़ता जा रहा है. बता दें कि कंपनी ने पिछले महीने जापान (Japan) में भी अपना कारोबार बंद कर दिया था. अक्‍टूबर 2020 में ही एयर एशिया इंडिया (AirAsia India) ने भी भारत से कारोबार समेटने के संकेत दिए थे.

एयर एशिया इंडिया में टाटा संस की है 51 फीसदी हिस्‍सेदारी
एयरएशिया ग्रुप बीएचडी की एयरएशिया इंडिया में 49 फीसदी हिस्सेदारी है. यह टाटा के साथ कंपनी का संयुक्‍त उपक्रम है. टाटा संस एयर एशिया इंडिया में एयर एशिया ग्रुप की हिस्सेदारी खरीदने के लिए बातचीत कर रहा है. एयर एशिया की भारतीय कंपनी एयर एशिया इंडिया (Air Asia India) में टाटा ग्रुप (Tata Group) की बहुलांश हिस्‍सेदारी (Majority Stake) है. हालांकि, कंपनी की ओर से एयर एशिया के भारत में कारोबार बंद करने को लेकर अब तक कोई बात नहीं कही गई है. मलेशिया की एयर एशिया को कभी क्षेत्र में सस्ती विमानन सेवा में आई क्रांति की शुरुआत करने वाली कंपनी के तौर पर पहचाना जाता था.

ये भी पढ़ें- अब दवाइयों की होम डिलिवरी भी करेगी Amazon, ग्राहकों को मिलेगा शानदार डिस्काउंट
टाटा संस कंपनी की 100% हिस्‍सेदारी खरीदने की तैयारी में


कोरोना संकट के बीच एविएशन सेक्टर (Aviation Sector) पर बहुत बुरा असर पड़ा. हालांकि, अब हालात धीरे-धीरे सामान्‍य हो रहे हैं. फिर भी एयर एशिया कई देशों में अपना कारोबार बंद करने की योजना बना रही है. एयर एशिया इंडिया ने 2014 में ऑपरेशंस शुरू किया था. हालांकि, कंपनी कभी मुनाफे में नहीं आई. भारत में इसकी बाजार हिस्सेदारी 6.8 फीसदी है. देश में इसके कर्मचारियों की संख्या 3,000 से ज्‍यादा है. टाटा संस की एयर एशिया इंडिया में 51 फीसदी हिस्सेदारी है. पिछले महीने खबर आई थी कि टाटा मलेशियाई साझेदार की 49 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने पर विचार कर रही है. एयर एशिया इस ज्‍वाइंट वेंचर में ज्यादा निवेश करने को तैयार नहीं है.

ये भी पढ़ें- लक्ष्मी विलास बैंक के ग्राहकों को तगड़ा झटका, 16 दिसंबर तक निकाल पाएंगे ज्‍यादा से ज्‍यादा 25,000 रुपये

कोरोना वैक्‍सीन की खबर से शेयर में दर्ज किया गया उछाल
एयरएशिया ग्रुप का शेयर (Share) मंगलवार को 29 जून के बाद अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच गया. ग्रुप की लॉन्ग हॉल कंपनी एयरएशिया एक्स बीएचडी का शेयर 14 फीसदी तक चढ़ा. अमेरिका की मॉडर्ना की वैक्सीन के कोविड-19 (Corona Vaccine) के खिलाफ 94.5 फीसदी कारगर होने की खबर से दुनियाभर के शेयर बाजारों (Stock Markets) में जबरदस्त तेजी देखी जा रही है. इसी क्रम में भारतीय शेयर बाजार (Indian Share Markets) भी शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज