लाइव टीवी

इन रेलवे स्टेशनों से सफर करना होगा महंगा, एयरपोर्ट की तरह वसूला जाएगा ये चार्ज

भाषा
Updated: February 12, 2020, 8:58 PM IST
इन रेलवे स्टेशनों से सफर करना होगा महंगा, एयरपोर्ट की तरह वसूला जाएगा ये चार्ज
इन स्टेशनों पर लगेगा चार्ज

रेलवे बोर्ड (Railway Board) के अध्यक्ष वीके यादव ने पत्रकारों को बताया कि नये विकसित रेलवे स्टेशनों पर शुल्क वहां आने वाले यात्रियों की संख्या के आधार पर अलग-अलग होगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. रेलवे (Railway) पुनर्विकसित रेलवे स्टेशनों पर उपलब्ध जनसुविधाओं के लिए हवाई अड्डों की तरह शुल्क वसूल करेगा. रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी. बता दें कि हवाई यात्रा में यूजर डेवलपमेंट फीस (UDF) कर का हिस्सा होता है जिसका हवाई यात्री भुगतान करते हैं. यूडीएफ विभिन्न हवाई अड्डों पर वसूला जाता है और इसकी दरें विभिन्न पहलुओं पर निर्भर होने की वजह से अलग-अलग है. रेलवे बोर्ड (Railway Board) के अध्यक्ष वीके यादव ने पत्रकारों को बताया कि नये विकसित रेलवे स्टेशनों पर शुल्क वहां आने वाले यात्रियों की संख्या के आधार पर अलग-अलग होगी.

इन स्टेशनों का होगा पुनर्विकास
उन्होंने बताया कि मंत्रालय जल्द ही शुल्क के रूप में वसूली जाने वाली राशि से संबंधित अधिसूचना जारी करेगा. उन्होंने बताया कि 1,296 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से अमृतसर, नागपुर, ग्वालियर और साबरमती रेलवे स्टेशनों का पुनर्विकास करने के लिए रेलवे ने प्रस्ताव आमंत्रित किए हैं.

ये भी पढ़ें: अब तेजस ट्रेन में ज्यादा सामान लेकर यात्रा करना पड़ेगा महंगा, देने होंगे एक्स्ट्रा चार्ज



मामूली होगा यूडीएफ शुल्क
उल्लेखनीय है कि सरकार ने भारतीय रेलवे स्टेशन पुनर्विकास निगम लिमिटेड (IRSDC) के जरिये 2020-2021 में पूरे देश में 50 स्टेशनों के पुनर्विकास के लिए निविदा जारी करने की योजना बनाई है और इसपर 50,000 करोड़ रुपये का निवेश का प्रस्ताव है. यादव ने बताया, यूजर डेवलपमेंट फीस हवाई अड्डा परिचालकों की ओर से लिए जा रहे शुल्क के अनुरूप ही होंगे. इससे स्टेशनों के उन्नयन के लिए धन की व्यवस्था होगी. यह शुल्क बहुत मामूली होगा.किराये में होगी बढ़ोतरी
उन्होंने कहा कि सुविधा शुल्क की वजह से किराए में मामूली बढ़ोतरी होगी लेकिन इससे यात्रियों को विश्व स्तरीय स्टेशनों की सुविधा का एहसास होगा.

ये भी पढ़ें: यहां 15 फरवरी से मुफ्त में मिलेंगे FASTag, जानें कब तक है ऑफर!



400 रेलवे स्टेशनों का पुनर्विकास की योजना
उल्लेखनीय है कि नरेंद्र मोदी नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक सरकार ने पहले कार्यकाल में 400 रेलवे स्टेशनों का पुनर्विकास करने की घोषणा की थी. योजना के तहत स्टेशनों के विकास पर व्यय होने वाला धन स्टेशन के आसपास की जमीन को विकसित कर एकत्र किया जाएगा. रेलवे स्टेशनों का पुनर्विकास वित्तीय व्यावहारिकता के आधार पर किया जा रहा है.

सरकार के थिंक टैंक नीति आयोग ने अक्टूबर में स्टेशन पुनर्विकास योजना में देरी होने पर रेल मंत्रालय की खिचांई की थी. आयोग ने 50 स्टेशनों को प्राथमिकता के आधार पर पुनर्विकास करने के लिए शीर्ष नौकरशाहों की अधिकार प्राप्त समूह बनाने की सिफारिश की थी.

ये भी पढ़ें: 

16 मार्च से बदल जाएंगे SBI, ICICI और HDFC बैंक के ATM से पैसे निकालने के नियम, यहां जानिए सबकुछ
14 करोड़ किसानों को अब 6000 रु वाली किसान सम्मान निधि के साथ लाखों के फायदे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 8:56 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर