लाइव टीवी

एयरटेल बन सकती है विदेशी कंपनी, लेने जा रही ये बड़ा फैसला

भाषा
Updated: December 8, 2019, 9:29 PM IST
एयरटेल बन सकती है विदेशी कंपनी, लेने जा रही ये बड़ा फैसला
भारती एयरटेल

भारती टेलीकॉम ने सिंगापुर की सिंगटेल और अन्य विदेशी कंपनियों से 4,900 करोड़ रुपये के विदेशी निवेश के लिए सरकार से अनुमति मांगी है

  • Share this:
नई दिल्ली. भारती टेलीकॉम ने सिंगापुर की सिंगटेल और अन्य विदेशी कंपनियों से 4,900 करोड़ रुपये के विदेशी निवेश के लिए सरकार से अनुमति मांगी है. इस कदम से देश की सबसे पुरानी निजी क्षेत्र की यह दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी एक विदेशी कंपनी की इकाई बन जाएगी. भारती टेलीकॉम, दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी भारती एयरटेल की प्रवर्तक है.

50 फीसद से अधिक हो जाएगी विदेशी हिस्सेदारी
मामले से जुड़े एक अधिकारिक सूत्र ने बताया कि इस पूंजी निवेश से भारती टेलीकॉम में विदेशी हिस्सेदारी बढ़कर 50 प्रतिशत से अधिक हो जाएगी, जिससे यह एक विदेशी स्वामित्व वाली इकाई बन जाएगी. वर्तमान में, सुनील भारती मित्तल और उनके परिवार की भारती टेलीकॉम में करीब 52 प्रतिशत हिस्सेदारी है. भारती टेलीकॉम की भारती एयरटेल में करीब 41 प्रतिशत हिस्सेदारी है.

ये भी पढ़ें: सिर्फ 1 घंटे में 10 हजार रुपये तक कमाने का शानदार मौका! जानिए क्या है शर्त

इसी माह मिल सकती है मंजूरी
सूत्र ने कहा, "भारती टेलीकॉम ने कंपनी में 4,900 करोड़ रुपये के विदेशी निवेश के लिए आवेदन किया है. इसमें सिंगटेल और कुछ अन्य विदेशी निवेशकों की ओर से होने वाला निवेश शामिल है. इसके साथ ही भारती टेलीकॉम विदेशी इकाई बन जाएगी क्योंकि इसकी बहुलांश हिस्सेदारी विदेशी निवेशकों के पास होगी. दूरसंचार विभाग के इसी महीने इस निवेश को मंजूरी देने की उम्मीद है."

दूरसंचार विभाग ने इससे पहले इस साल की शुरुआत में भारती एयरटेल के प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) आवेदन को वापस कर दिया था क्योंकि कंपनी ने विदेशी निवेशकों के बारे में स्पष्ट जानकारी नहीं दी थी.ये भी पढ़ें: नया प्लान! बाढ़ और अन्य प्राकृतिक आपदाओं में हुए नुकसान की भरपाई करेगी मोदी सरकार

सूत्र ने कहा कि वर्तमान में, भारती एयरटेल में कुल विदेशी हिस्सेदारी 43 प्रतिशत है. कंपनी की प्रवर्तक इकाई भारती टेलीकॉम के विदेशी कंपनी बन जाने के साथ ही कंपनी (भारती एयरटेल) में विदेशी हिस्सेदारी बढ़कर 84 प्रतिशत के पार हो जाएगी.

पहले ही 100 फीसदी एफडीआई के लिए आवेदन कर चुकी है कंपनी
भारती एयरटेल ने कहा है कि विदेशी इक्विटी पूंजी में मामूली वृद्धि से भी भारती टेलिकॉम में विदेशी निवेश 50 प्रतिशत से ऊपर निकल जायेगा. भारती एयरटेल कंपनी में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) को 100 प्रतिशत पर ले जाने के लिये पहले ही आवेदन कर चुकी है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 8, 2019, 9:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर