लाइव टीवी

AGR मामला: Airtel ने दूरसंचार विभाग को ₹10 हजार करोड़ का एजीआर बकाया चुकाया

News18Hindi
Updated: February 17, 2020, 11:47 AM IST

भारती एयरटेल (Bharti Airtel) ने सोमवार को दूरसंचार विभाग को एडजस्टेड ग्रॉस रेवेन्यू (AGR) के 10,000 करोड़ रुपये बकाये का भुगतान किया है. Airtel ने कहा, बाकी बचे पैसे कुछ दिनों में चुका दिए जाएंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 17, 2020, 11:47 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की सख्ती और सरकार की कड़ी डेडलाइन के बाद टेलिकॉम कंपनी भारती एयरटेल (Bharti Airtel) ने सोमवार को दूरसंचार विभाग को एडजस्टेड ग्रॉस रेवेन्यू (AGR) के 10,000 करोड़ रुपये बकाये का भुगतान किया है. Airtel ने कहा, बाकी बचे पैसे कुछ दिनों में चुका दिए जाएंगे. अब कंपनी पर 25,000 करोड़ रुपये का बकाया रह गया है. एयरटेल को एजीआर के मद में 35,000 करोड़ रुपये का भुगतान करना है. कंपनी के मुताबिक, भारती एयरटेल, भारती हेक्साकॉम और टेलीनॉर की ओर से कुल 10,000 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है. बता दें कि वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea) और भारती एयरटेल सहित 16 कंपनियों को एजीआर के तहत करीब एक लाख करोड़ रुपये टेलिकॉम विभाग को चुकाने हैं.

कंपनी ने कहा, हम शीघ्रता के साथ स्वआकलन की प्रक्रिया में हैं और उच्चतम न्यायालय की अगली सुनवाई से पहले हम इस प्रक्रिया को पूरा करके बचे बकाया का भी भुगतान करेंगे. एयरटेल ने कहा कि बचे हुए बकाया का भुगतान करने के वक्त वह इससे जुड़ी और जानकारी भी देगी.

ये भी पढ़ें: कर्ज में डूबी Air India दे रही है बस 799 रुपये में हवाई सफर का मौका, जानें कब तक है ऑफर?





एयरटेल पर 35586 करोड़ का बकाया
बता दें कि एजीआर मामले में न्यायालय के कड़े रुख के बाद दूरसंचार विभाग ने 14 फरवरी से भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया जैसी दूरसंचार कंपनियों को जल्द से जल्द अपना पिछला सांविधिक बकाया चुकाने के आदेश जारी करने शुरू कर दिए. भारती एयरटेल को लाइसेंस शुल्क और स्पेक्ट्रम उपयोग शुल्क समेत सरकार को कुल 35,586 करोड़ रुपये का सांविधिक बकाया देना है. एयरटेल ने विभाग के आदेश पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा था कि वह कुल बकाये में से 10,000 करोड़ रुपये का भुगतान 20 फरवरी तक और बाकी बची राशि 17 मार्च तक कर देगी.

ये भी पढ़ें: SBI में है खाता तो 10 दिन में निपटा लें ये काम, वरना नहीं निकाल पाएंगे अपने पैसे



कितना है कंपनियों पर कुल बकाया
टेलिकॉम विभाग के प्रति इन कंपनियों का करीब 1.63 लाख करोड़ रुपये बकाया है. इसमें कंपनियों का लाइसेंस फीस और स्पेक्ट्रम यूसेज चार्ज शामिल है. लाइसेंस के तौर पर बकाया रकम 92,642 करोड़ रुपये और स्पेक्ट्रम यूसेज चार्ज के तौर पर 70,869 करोड़ रुपये बकाया है. सबसे अधिक बकाया भारती एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया का है.

ये भी पढ़ें:

EPFO ने नौकरीपेशा लोगों को किया अलर्ट! इन ऑफर्स से रहें सावधान, नहीं तो लग सकता है चूना
SBI दे रहा सस्ते में घर-दुकान खरीदने का मौका! बस 1 दिन का है समय
अप्रैल से सुकन्या और PPF खाते को लेकर होगा बड़ा बदलाव! अब भी नहीं चुकाना होगा इन 9 आय पर टैक्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 17, 2020, 11:25 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर