क्रिकेटर कर रहे स्टार्टअप में निवेश, अजिंक्य रहाणे ने बताया कैसे आया कंपनियों में निवेश का आइडिया

क्रिकेटर अजिंक्य रहाणे

क्रिकेटर अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने पिछले साल दो स्टार्टअप कंपनियों में निवेश किया है, जिसमें से पहला महिंद्रा सपोर्टेड एग्रीटेक स्टार्टअप मेरा किसान और दूसरा खेल प्रेमियों के लिए डिजिटल प्लेटफॉर्म हडल.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टेस्ट टीम के उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane, Vice-Captain) का पहला प्यार भले ही क्रिकेट क्यों ना हो लेकिन जब उन्हें स्टार्टअप निवेशक बनने का मौका मिला तो वो पीछे नहीं हटे. रहाणे ने ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज में भारत को शानदार जीत दिलाई है. रहाणे के अलावा भी भारतीय क्रिकेट टीम में ऐसे कई खिलाड़ी हैं, जिन्होंने स्टार्टअप में जमकर निवेश किया है. रहाणे ने पिछले साल दो स्टार्टअप कंपनियों में निवेश किया है, जिसमें से पहला महिंद्रा सपोर्टेड एग्रीटेक स्टार्टअप मेरा किसान और दूसरा खेल प्रेमियों के लिए डिजिटल प्लेटफॉर्म हडल.

    मेरा किसान के ब्रांड एंबेसडर हैं रहाणे- पुणे स्थित एग्रीटेक स्टार्टअप मेरा किसान के रहाणे ब्रांड एंबेसडर भी हैं. Mera Kisan प्राइवेट लिमिटेड की स्थापना 2016 में महिंद्रा एग्री सॉल्युशंस लिमिटेड की सहायक कंपनी के तौर पर की गयी. यह महिंद्रा एंड महिंद्रा के पूर्ण स्वामित्व वाली एक सहायक कंपनी है. यह प्रमाणीकरण, तकनीकी सहायता और जैविक और पौष्टिक खाद्य पदार्थों की मदद से जैविक किसानों के साथ मिलकर काम करता है. महिंद्रा एग्री सॉल्युशंस (Mahindra Agri Solutions) के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी अशोक शर्मा ने कहा कि रहाणे के पास कंपनी में अल्पांश हिस्सेदारी होगी.

    सीधा किसान जुड़ सकते हैं- मेरा किसान स्टार्टअप पर आप ऑर्गेनिक घी, ताजा फल-सब्जी, ऑर्गेनिक चावल, दाल, आटा, दलिया, सूखे मेवा और मसाले भी खरीद सकते हैं. शुद्ध और ऑर्गेनिक शहद और अंडे भी यहां से खरीदे जा सकते हैं. मेरा किसान स्टार्टअप के बारे में महिंद्रा एग्री सॉल्युशंस के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी अशोक शर्मा ने बताया कि वे सीधे किसानों से सामान खरीद कर अपने इस प्लेटफार्म के माध्यम से बेचते हैं. किसान सीधे उनसे जुड़ सकते हैं.

    ये भी पढ़ें: बैंक डूबने पर आपको मिलेंगे 5 लाख रुपये, जानिए कब, किसे और कैसे मिलता है यह पैसा

    रहाणे ने बताया निवेश के लिए क्यों हुए आकर्षित- रहाणे से जब पूछा गया कि उन्होंने निवेशक बनने का फैसला क्यों किया, तब उन्होंने बताया कि क्रिकेटर होने के नाते बचपन से ही हमारी दिनचर्या बहुत ही फोकस्ड होती है. मैंने जितना क्रिकेट खेला मुझे उतना ही घूमने का मौका भी मिला. उस दौरान नए लोगों से मिलना, उन्हें जानना और उनके द्वारा किये जा रहे विभिन्न आकर्षक बिजनेस के बारे में भी जानने को मिला.



    रहाणे ने कहा कि क्रिकेट के बाद के जीवन की योजना बनाना महत्वपूर्ण है और इसीलिए शुरुआती समय में ही आकर्षक बिजनेस वैंचर के साथ साझेदारी की, जो भविष्य में अच्छा बिजनेस बन सकता है. ये तभी हुआ जब मैंने अपने बिजनेस पार्टनर अखिल रानाडे से बातचीत की और हम दिलचस्प अवसर तलाशने लगे, जहां पर हम निवेश कर सकते थे.

    कौन हैं अखिल रानाडे- अखिल रानाडे एक स्पोर्ट्स मार्केटिंग प्रोफेशनल हैं, जिन्होंने अपने करियर की शुरुआत विज्ञापन दिग्गजों ओ एंड एम और डीडीबी मुद्रा (O&M and DDB Mudra) के खेल विपणन प्रभागों के साथ की. उन्होंने आईएमजी के स्पोर्ट्स कंसल्टिंग डिवीजन में भी काम किया. 2014 में अपनी खुद की कंपनी Achilles Sports शुरू करने से पहले उनका आखिरी कार्यकाल Puma में था. इसके साथ ही उन्होंने रहाणे के साथ भी काम किया.

    ये भी पढ़ें: RBI की सख्‍ती! वित्‍तीय अनियमितता रोकने को गैर-बैंकिंग वित्‍तीय कंपनियों और शहरी सहकारी बैंकों का होगा इंटरनल ऑडिट

    गौतम गंभीर ने भी लगाया स्टार्टअप में पैसा- क्रिकेटर से नेता बने गौतम गंभीर ने भी निवेश की शुरुआत की. गंभीर ने हेल्थटेक स्टार्टअप एफवाईआई हेल्थ में निवेश किया, जो ऑफिसों के लिए सॉल्य़ूशन डेवलप कर रहा है. ऑफिस महामारी के बाद फिर से खुल गए हैं. ऑफिसों में कर्मचारियों को शिक्षित करने वाला ये स्टार्टअप मुख्य रूप से उनकी दैनिक स्वास्थ्य जांच करने पर ध्यान देता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.