होम /न्यूज /व्यवसाय /

राकेश झुनझुनवाला का ड्रीम प्रोजेक्ट थी अकासा एयरलाइन, करना चाहते थे एविएशन इंडस्ट्री में बड़ा गेम चेंज

राकेश झुनझुनवाला का ड्रीम प्रोजेक्ट थी अकासा एयरलाइन, करना चाहते थे एविएशन इंडस्ट्री में बड़ा गेम चेंज

राकेश झुनझुनवाला ने अकासा एयर में किया था करीब 400 करोड़ रुपये का निवेश.

राकेश झुनझुनवाला ने अकासा एयर में किया था करीब 400 करोड़ रुपये का निवेश.

राकेश झुनझुनवाला की अगुवाई वाली अकासा एयर के पहले विमान ने 7 अगस्त को उड़ान भरी थी. यह उनका ड्रीम प्रोजेक्ट था जिसके जरिए वह भारतीय एविएशन इंडस्ट्री बड़ा बदलाव करना चाह रहे थे.

हाइलाइट्स

राकेश झुनझुनवाला का ड्रीम प्रोजेक्ट थी अकासा एयर.
बढ़ते हुए एविएशन सेक्टर को भुनाना चाहते थे झुनझुनवाला.
राकेश झुनझुनवाला की एयरलाइन में 40 फीसदी हिस्सेदारी थी.

नई दिल्ली. दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला का आज (14 अगस्त 2022) को 62 वर्ष की आयु में निधन हो गया. वैसे तो उनकी ख्याति शेयर मार्केट के बिग बुल के रूप में थी लेकिन हाल ही में उनकी अगुवाई वाली एयरलाइन कंपनी अकासा ने अपना परिचालन भी शुरू किया था. 7 अगस्त को अकासा ने पहली उड़ान भरी थी. अकासा एयर उनका ड्रीम प्रोजेक्ट थी. इसके लिए उन्होंने 5 करोड़ डॉलर (करीब 400 करोड़ रुपये) का निवेश किया था.

राकेश झुनझुनवाला ने सीएनबीसी टीवी18 के साथ एक इंटरव्यू में कहा था कि लोगों को उनके इस फैसले पर संदेह हैं और वह उन लोगों को गलत साबित करना चाहते हैं. झुनझुनवाला ने कहा था कि उनके पास भारतीय एविएशन इंडस्ट्री के लिए गेम प्लान है. झुनझुनवाला के अनुसार, “यूरोप में जब 10 नेशनल एयरलाइन डूब गईं तो एक नई एयरलाइन्स रायन ने पहले दिन से मुनाफा बनाना शुरू कर दिया. हमारे पास भी ऐसा गेम प्लान है.”

ये भी पढ़ें-अपनी कमाई का 25 फीसदी दान करते थे झुनझुनवाला, देखें बिग बुल का चैरिटी पोर्टफोलियो?

बढ़ते एविएशन सेक्टर को भुनाने चाहते थे झुनझुनवाला

राकेश झुनझुनवाला कहते थे कि भारत की प्रति व्यक्ति आय बढ़ने के साथ-साथ लोग अधिक से अधिक हवाई यात्रा करेंगे. उन्होंने केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के एक बयान का हवाला देते हुए कहा था कि भारत में 4 साल में हवाई यात्रा करने वालों की संख्या बढ़कर 40 करोड़ हो जाएगी. वह कहते थे कि 2027 तक देश में विमानों के बेड़े को बढ़ाकर 1200 करने की जरूरत होगी. अकासा एयरलाइन को लेकर उन्होंने कहा था कि प्रतिद्वंदी उनके मुकाबले में नई हवाईजहाज के लिए नई कुर्सियां खरीद रहे हैं. झुनझुनवाला मानते थे कि इससे भारत के एविएशन सेक्टर में प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी.

कुछ न करने की बजाय करके असफल होना बेहतर

राकेश झुनझुनवाला ने कहा था कि वह इस सेक्टर में असफल होने के लिए भी तैयार हैं लेकिन कुछ न करने से बेहतर होगा कि वह कुछ करके असफल हो जाएं. उन्होंने कहा था कि अकासा को सफल बनाना उनके स्वाभिमान की बात हो गई है और वे इसे सफल बनाएंगे. अकासा में झुनझुनवाला की 40 फीसदी हिस्सेदारी है. उन्होंने इसके संचालन के लिए इंडिगो और स्पाइसजेट के पूर्व सीईओ को नियुक्त किया था.

अकासा एयर बजट एयरलाइन

राकेश झुनझुनवाला का ड्रीम प्रोजेक्ट अकासा एयरलाइन एक बजट एयरलाइन है. इसका मुकाबला स्पाइसजेट और इंडिगो से है. बता दें कि अकासा एयरलाइन की 12 महीने के अंदर अपने बेड़े में 18 हवाईजहाज शामिल करने की योजना है. इस एयरलाइन में फर्स्ट क्लास नहीं केवल सामान्य श्रेणी है.

Tags: Airline News, Business news, Business news in hindi, Rakesh Jhunjhunwala, Stock market

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर