• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • AKSHAYA TRITIYA 2021 SENSEX HAS BEEN GIVING MORE RETURNS THAN GOLD FOR TWO DECADES BUT YET IT IS BETTER TO BUY GOLD KNOW HOW INVESTMENT AND RETURN ACHS

Sensex दो दशक से गोल्‍ड के मुकाबले दे रहा ज्‍यादा रिटर्न, फिर भी फिलहाल Gold खरीदना ही बेहतर, जानें क्‍यों

सेंसेक्‍स ने 1999 से अब तक सोने से 50 फीसदी ज्‍यादा मुनाफा दिया है.

बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज के सेंसेक्‍स (Sensex) ने पिछले 21 साल में गोल्‍ड (Gold) के मुकाबले 50 फीसदी से ज्‍यादा मुनाफा (Return) दिया है. फिर भी इस अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya 2021) पर सोने की खरीदारी करना बेहतर साबित हो सकता है क्‍योंकि आर्थिक संकट के दौर में गोल्ड को सबसे सुरक्षित निवेश विकल्‍प (Safest Option) माना जाता है.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज (BSE) के संवदी सूचकांक सेंसेक्स (Sensex) ने बीते 21 साल में सोने की कीमतों (Gold Prices) के मुकाबले 50 फीसदी से ज्‍यादा मुनाफा (Return) दिया है. इसके बाद भी मौजूदा हालात को देखते हुए इस बार अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya 2021) पर सोना खरीदना फायदेमंद साबित हो सकता है. विशेषज्ञों का कहना है कि महंगाई (Inflation) के खिलाफ सोना आपके लिए कवच का काम कर सकता है. वहीं, मुश्किल दौर और आर्थिक चुनौतियों के वक्‍त में गोल्‍ड को सबसे सुरक्षित निवेश विकल्‍प (Safest Investment Option) माना जाता है.

    शेयर बाजार में जोखिम का स्‍तर रहता है ज्‍यादा
    सेंसेक्स 1999 में 4,141 अंक से 12 मई 2021 को 48,690 अंक तक पहुंच चुका है. इसी तरह मल्‍टी-कमोडिटी एक्‍सचेंज (MCX) पर गोल्ड की कीमतें 1999 में 4,234 रुपये प्रति 10 ग्राम से अब 47,760 रुपये तक बढ़ी हैं. कुल रिटर्न के लिहाज से सेंसेक्स ने गोल्ड को पीछे छोड़ा है. इसके बावजूद गोल्ड में निवेशकों की दिलचस्पी बरकरार है. यह साबित हुआ है कि इक्विटी मार्केट से लंबी अवधि का निवेश (Long Term Investment) करने पर ज्‍यादा मुनाफा मिलता है. हालांकि, शेयर बाजार में जोखिम का स्‍तर काफी ज्‍यादा (High Risk) रहता है. पिछले कुछ साल में गोल्ड में निवेश की रफ्तार घटी है.

    ये भी पढ़ें- सरकारी कर्मियों के लिए अच्‍छी खबर! LTC स्‍पेशल कैश पैकेज स्‍कीम की डेडलाइन बढ़ी, जानें कब तक जमा कर सकते हैं बिल

    संकट के दौर में गोल्‍ड निवेश का अच्‍छा विकल्‍प
    एक्सिस सिक्योरिटीज (Axis Securities) के वाइस प्रेसिडेंट राजेश पलविया ने कहा कि ज्‍यादा मुनाफे के साथ ही इक्विटीज से निवेशकों को डायवर्सिफाइड पोर्टफोलियो बनाने में भी मदद मिलती है. वहीं, इमरजेंसी में इक्विटीज से नकदी भी जल्दी मिल सकती है. आर्थिक संकट के दौर में गोल्ड निवेश का अच्छा जरिया है. आनंद राठी शेयर्स एंड स्टॉक ब्रोकर्स के रिसर्च हेड नरेंद्र सोलंकी ने बताया कि गोल्ड को महंगाई के खिलाफ बेहतरीन सुरक्षा के तौर पर देखा जाना चाहिए. इसे ध्यान में रखते हुए निवेशकों को अर्थव्‍यवस्‍था में तेजी आने पर गोल्ड खरीदने से बचना चाहिए और इक्विटीज में पैसा लगाना चाहिए, क्योंकि तब स्टॉक्स के अच्छा प्रदर्शन करने की संभावना होती है.