• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • एसिडिटी की इस दवा से हो सकता है कैंसर! ड्रग कंट्रोलर बोर्ड ने जारी की चेतावनी

एसिडिटी की इस दवा से हो सकता है कैंसर! ड्रग कंट्रोलर बोर्ड ने जारी की चेतावनी

एसिडिटी की इस दवा से हो सकता है कैंसर! ड्रग कंट्रोलर बोर्ड ने जारी की चेतावनी

एसिडिटी की इस दवा से हो सकता है कैंसर! ड्रग कंट्रोलर बोर्ड ने जारी की चेतावनी

एसिडिटी को दूर करने के लिए फेमस दवा रेनिटिडाइन (Ranitidine) का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको ध्यान देने की जरूरत है. ड्रग कंट्रोलर ऑफ इंडिया ने मंगलवार को एंटी-ऐसिडिटी दवा Ranitidine पर सार्वजनिक स्वास्थ्य चेतावनी जारी की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. अगर आप भी एसिडिटी (Acidity Medicine) को दूर करने के लिए फेमस दवा रेनिटिडाइन (Ranitidine) का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको ध्यान देने की जरूरत है. ड्रग कंट्रोलर ऑफ इंडिया ने एंटी-एसिडिटी दवा Ranitidine पर सार्वजनिक स्वास्थ्य चेतावनी जारी की है. जीएसके का यह ड्रग भारत में जिंटेक के नाम से बिकता है, जिसे कंपनी ने वापस मंगा लिया है. दरअसल ड्रग कंट्रोलर ऑफ इंडिया ने जीएसके को निर्देश दिया है कि वह इस दवा में कैंसर कारक तत्व होने की जांच करें. ड्रग कंट्रोलर की ओर से जारी बयान में कहा है कि रेनिटिडाइन (Ranitidine) दवा में कई ऐसे केमिकल पाए गए हैं, जिससे कैंसर होने का खतरा हो सकता है.


    इन दवाओं में भी यूज होता है ये रेनिटिडाइन
    आपको बता दें कि रेनिटिडाइन दवा का इस्तेमाल सिर्फ एसिडिटी में ही नहीं होता, बल्कि कई दूसरी बीमारियों के इलाज में जैसे आंत में होने वाला अल्सर, गैस्ट्रोइसोफेगल रिफ्लक्स बीमार, इसोफैगिटिस में किया जाता है. यह दवा मार्केट में अलग-अलग फॉर्मूलेशन में टैबलेट और इंजेक्शन के रूप में उपलब्ध है.

    जीएसके के प्रवक्ता का कहना है कि उन्होंने भारत सहित सभी बाजारों में Ranitdine के डिस्ट्रीब्यूशन और सप्लाई को बंद कर दिया है. इसके साथ ही Saraca लैब में बनाने वाली Zinetac दवाइयों के प्रोडक्शन पर भी रोक लगा दी है.

    जारी हुई चेतावनी- अंग्रेजी बिजनेस अखबार इकोनॉमिक टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक, स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय ड्रग्स कंट्रोलर, वीजी सोमानी ने देश के सभी राज्यों को रेनिटिडाइन दवा को लेकर चेतावनी जारी की है. राज्यों को इस पर कदम उठाने का आदेश दिया है.



    >> अमेरिका की एफडीए ने सबसे पहले इस दवाई में कैंसर के कारकों पता लगाया था और इस संबंध में अलर्ट जारी किया था.

    >> भारत में इस दवाई का उत्पादन करने वाली कंपनियों को तुरंत प्रभाव से इस दवा का उत्पादन रोकने के लिए कहा गया.

    >> ड्रग कंट्रोलर के निर्देशों के तहत डॉक्टरों को यह सलाह जारी की गई है कि वे यह दवाई मरीजों को लेने की सलाह ना दें.

    ये भी पढ़ें: कैश निकालने के लिए आपके SBI Cards की है इतनी लिमिट, भूल गए तो देना होगा चार्ज

    अब क्या होगा- भारत में दवाइयों की क्वॉलिटी, सेफ्टी और क्षमता-गुणवत्ता को नियंत्रित करने वाली संस्था द सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन ने रेनिटिडाइन से जुड़े इस मामले को एक्सपर्ट कमिटी के पास भेज दिया है. यह कमेटी देशभर में अलग-अलग ब्रैंड्स के नाम से बिक रही रेनिटिडाइन दवा की जांच करेगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज