होम /न्यूज /व्यवसाय /

केंद्रीय कर्मचारियों के लिए सरकार का फरमान, अब वर्किंग डेज में जाना होगा ऑफिस, सिर्फ इन्हें मिलेगी छूट...

केंद्रीय कर्मचारियों के लिए सरकार का फरमान, अब वर्किंग डेज में जाना होगा ऑफिस, सिर्फ इन्हें मिलेगी छूट...

60 प्रतिशत से ज्यादा लोगों ने सरकार से नौकरी सुरक्षित रखने के लिए अपील की

60 प्रतिशत से ज्यादा लोगों ने सरकार से नौकरी सुरक्षित रखने के लिए अपील की

कार्मिक मंत्रालय (Personnel Ministry) के एक आदेश के अनुसार केंद्र सरकार के सभी कर्मचारियों को कार्य दिवसों में कार्यालय में उपस्थित होने के लिए कहा गया है. यह निर्णय राष्ट्रीय राजधानी सहित देश में कोविड-19 के उपचाराधीन मामलों की संख्या में काफी कमी आने के बीच आया है.बयान में कहा गया है कि हालांकि, निषिद्ध क्षेत्रों (Prohibited areas) में रहने वाले सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को कार्यालय आने से छूट रहेगी.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. कार्मिक मंत्रालय (Personnel Ministry) के एक आदेश के अनुसार केंद्र सरकार के सभी कर्मचारियों को कार्य दिवसों में कार्यालय में उपस्थित होने के लिए कहा गया है. यह निर्णय राष्ट्रीय राजधानी सहित देश में कोविड-19 के उपचाराधीन मामलों की संख्या में काफी कमी आने के बीच आया है. बयान में कहा गया है कि हालांकि, निषिद्ध क्षेत्रों (Prohibited areas) में रहने वाले सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को कार्यालय आने से छूट रहेगी, जब तक कि उनका क्षेत्र निषिद्ध श्रेणी से बाहर नहीं आ जाता. अभी तक, केवल अपर सचिव और उससे ऊपर के स्तर के अधिकारी ही मार्च में कोरोना वायरस के चलते लागू पाबंदियों के बीच कार्यालय आ रहे थे.

    अगले आदेश तक निलंबित रखी जाएगी बायोमेट्रिक उपस्थिति
    केंद्र ने गत मई में उपसचिव के स्तर से नीचे के अपने 50 प्रतिशत कर्मचारियों को अपने कार्यालयों से काम करने के लिए कहा था, जबकि उसने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के अपने प्रयास के तहत अलग-अलग कार्यालय समय लागू किया था. केंद्र सरकार के सभी विभागों के लिए शनिवार देर रात जारी आदेश में कहा गया, ‘‘सभी स्तर के सरकारी कर्मचारियों को सभी कार्य दिवसों में कार्यालय में उपस्थित होना है और किसी भी श्रेणी के कर्मचारी को कोई छूट नहीं होगी.’’ इसमें कहा गया है कि अगले आदेश तक बायोमेट्रिक उपस्थिति निलंबित रखी जाएगी.

    यह भी पढ़ें- जरूरी खबर: आज से वाहनों पर FASTag हुआ अनिवार्य, नहीं लगाने पर देना होगा जुर्माना, जानें इसके बारे में सबकुछ..

    निषिद्ध क्षेत्रों वाले कर्मचारी करेंगे WFH
    इसमें कहा गया है कि अधिकारी और कर्मचारी जो निषिद्ध क्षेत्रों में रहते हैं, वे घर से काम (Work From Home) करेंगे और हर समय टेलीफोन और संचार के इलेक्ट्रॉनिक साधनों के माध्यम से उपलब्ध रहेंगे. आदेश में कहा गया है कि जब तक संभव हो, बैठकें वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये जारी रहेंगी और विजिटर्स के साथ व्यक्तिगत बैठकों से जब तक कि सार्वजनिक हित में पूरी तरह से आवश्यक न हो, तब तक बचा जा सकता है.कार्मिक मंत्रालय ने एक अन्य आदेश में कहा कि ‘‘सभी विभागीय कैंटीन खोली जा सकती हैं.’’ रविवार को अद्यतन किए गए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, कोविड-19 के उपचाराधीन मामले 1.5 लाख से नीचे हैं. दिल्ली में शनिवार को उपचाराधीन मामले घटकर 1,041 हो गए.

    यह भी पढ़ें- सभी एयरलाइंस कंपनियों ने शुरू की नई फ्लाइट्स, यात्रा का है प्लान तो चेक करें रूट्स-किराया और बाकी डिटेल..

    कर्मचारियों को मिलेगा 3 दिन का ऑफ
    बता दें कि श्रम और रोजगार मंत्रालय (Ministry of Labour and Employment) चार नए लेबर कोड को लागू करने के लिए उनसे संबंधित नियमों को इस सप्ताह अंतिम रूप दे सकता है. इन लेबर कोड्स के लागू होने के बाद कर्मचारियों को एक सप्ताह में चार दिन काम करने और उसके साथ तीन दिनों की छुट्टी का विकल्प मिलेगा.

    Tags: Busienss news in hindi, Central government, Government Employee, Work From Home

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर