Home /News /business /

SBI की इस योजना के जरिए खरीदिए खेती के लिए जमीन, मिलेंगे ये फायदे

SBI की इस योजना के जरिए खरीदिए खेती के लिए जमीन, मिलेंगे ये फायदे

SBI की इस योजना के जरिए खरीदिए खेती के लिए जमीन, मिलेंगे ये फायदे

SBI की इस योजना के जरिए खरीदिए खेती के लिए जमीन, मिलेंगे ये फायदे

SBI की इस स्‍कीम का नाम "लैंड परचेज स्‍कीम" है. इससे उन लोगों का फायदा हो सकता है जो जमीन न होने के कारण मजदूरी पर निर्भर रहते हैं

    अगर आपके पासे खेती के लिए जमीन नहीं है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है. स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने खेती को बढ़ावा देने के लिए एक ऐसी स्‍कीम निकाली है, जिसके तहत अगर कोई खेती करना चाहता है तो जमीन का 85 प्रतिशत लोन मिल जाता है. इस लोन को आप आसान किश्‍तों के साथ चुका सकते हैं. SBI की इस स्‍कीम का नाम "लैंड परचेज स्‍कीम" है. इस स्‍कीम का फायदा उन लोगों को मिल सकता है जो जमीन न होने के कारण मजदूरी पर निर्भर रहते हैं.

    SBI ने इस लोन के लिए आवेदन करने वालों के लिए कुछ नियम भी निर्धारित किए हैं. इसमें ज्‍यादातर छोटे किसान, मजदूर और बेरोजगारों को शामिल किया गया है. यह लोन उन्‍हीं किसानों को मिलेगा, जिनके पास पांच एकड़ से कम जमीन है. इस लोन के जरिए खेतों में सिंचाई सुविधा का भी लाभ उठाया जा सकता है. एसबीआई उन्‍हीं किसानों या व्‍यक्‍तियों को लोन देगी, जिन्‍होंने कम से कम दो साल तक बैंक से लिया लोन चुकाया हो. अन्य बैंकों के अच्छे कर्जदार भी इसके लिए आवेदन कर सकते हैं, बशर्ते उनपर किसी बैंक का लोन बकाया न हो.

    जो भी जमीन आप खरीदना चाहते हैं बैंक पहले उसका आकलन करेगा. इसके बाद जमीन की कुल कीमत का 85 फीसदी लोन के लिए दिया जाएगा. खरीदी गई जमीन बैंक के पास तब तक बंधक रहेगी, जब तक लोन का पूरा पैसा चुकाया नहीं जाता. लोन अधिकतम नौ से दस साल के लिए दिया जाएगा. इसी के साथ ब्‍याज की रकम एक साल के बाद से देनी होगी.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स.

    Tags: Sbi, SBI Bank, SBI loan, SBI PO Jobs, Trending news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर