Amazon के संस्‍थापक जेफ बेजोस 20 जुलाई को जाएंगे अंतरिक्ष, जानें ब्‍लू ओरिजिन के स्‍पेसक्राफ्ट की खूबियां

Jeff Bezos अपने रिटायरमेंट के 15 दिन के भीतर अंतरिक्ष यात्रा पर जाएंगे.

Jeff Bezos अपने रिटायरमेंट के 15 दिन के भीतर अंतरिक्ष यात्रा पर जाएंगे.

ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन (Amazon) के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी जेफ बेजोस (Jeff Bezos) चांद पर इंसान के पहले कदम की 52वीं वर्षगांठ पर अपनी कंपनी ब्‍लू ओरिजिन के एयरक्राफ्ट (Blue Origin Aircraft) से अंतरिक्ष यात्रा (Space Tour) पर जाएंगे. इस फ्लाइट का स्‍पेसक्राफ्ट 14 बार सफल परीक्षण कर चुका है.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. इलेक्ट्रिक कारमेकर टेस्‍ला के सह-संस्‍थापक एलन मस्‍क कई बार अंतरिक्ष यात्रा पर जाने की इच्‍छा सार्वजनिक तौर पर जाहिर कर चुके हैं. हालांकि, अभी तक उन्‍होंने अपनी अंतरिक्ष यात्रा को लेकर कोई पक्‍की घोषणा नहीं की है. वहीं, ई-कॉमर्स और टेक कंपनी अमेजन के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी व संस्‍थापक जेफ बेजोस ने ऐलान कर दिया है कि वह 20 जुलाई 2021 को अपने भाई के साथ अंतरिक्ष यात्रा पर जाएंगे. दूसरे शब्‍दों में कहें तो वह चांद पर इंसान के पहले कदम की 52वीं वर्षगांठ पर अंतरिक्ष यात्रा पर जाएंगे. बता दें कि नील आर्मस्ट्रांग ने 20 जुलाई 1969 को चांद पर पहला कदम रखा था.

जेफ बेजोस ने स्‍पेसक्राफ्ट को नाम दिया है NS-14

जेफ बेजोस अंतरिक्ष यात्रा अपनी कंपनी ब्‍लू ओरिजिन (Blue Origin) के एयरक्राफ्ट से करेंगे. बेजोस अपनी वत कंपनी के जरिये लोगों को स्‍पेस टूरिज्‍म कराने की घोषणा पहले ही कर चुके हैं. उनकी कंपनी का स्पेसक्रॉफ्ट न्‍यू शेपर्ड स्‍पेस टूरिज्‍म रॉकेट (New Shepard Space Tourism Rocket) 14 बार सफल परीक्षण कर चुका है. कंपनी इस स्पेसक्राफ्ट को लैंड और लॉन्च कराने में सफल रही है. बेजोस ने इस स्पेसक्रॉफ्ट को NS-14 नाम दिया है. कंपनी ने लॉन्च टेस्टिंग के दौरान नए बूस्टर और अपग्रेडेड कैप्सूल का परीक्षण किया था.

ये भी पढ़ें- इंडियन रेलवे की सहयोगी कंपनी IRCTC का शेयर ऑलटाइम हाई पर पहुंचा, जानें आगे कैसा रहेगा रुख
कैप्‍सूल में रखा गया है यात्री सुविधाओं का ख्‍याल

कैप्‍सूल के अपग्रेडेड वर्जन में यात्री सुविधाओं का भी खासा ख्‍याल रखा गया है. कैप्‍सूल में अंतरिक्ष यात्रियों को मिशन कंट्रोल से बात करने के लिए पुश-टू-टॉक सिस्टम, हर सीट पर एक नया क्रू अलर्ट सिस्टम उपलब्‍ध कराया गया है. यही नहीं, कैप्सूल में शोर कम करने के लिए कुशन लाइनिंग और एयर कंडीशन व ह्यूमिडिटी कंट्रांल करने वाले सिस्टम शामिल हैं. न्यू शेपर्ड पूरी तरह से ऑटोनॉमस सिस्टम है. टेस्ला के सीईओ एलन मस्क की कंपनी स्पेस एक्स की बेजोस की कंपनी ब्लू ओरिजिन से प्रतिस्पर्धा है. साल 2000 में शुरू हुई ब्लू ओरिजिन का मुख्‍यालय वाशिंगटन में है. वहीं, मई 2020 में स्पेस-एक्स अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन तक मानव को पहुंचाने वाली पहली निजी कंपनी बन चुकी है.

ये भी पढ़ें  - Gold Price Today: सोने के दाम में आई गिरावट, चांदी पहुंची 70 हजार रुपये से नीचे, फटाफट देखें लेटेस्‍ट भाव



धरती से 100 किमी ऊपर अंतरिक्ष में जाएंगे लोग

ब्‍लू ओरिजिन ने कुछ समय पहले जानकारी दी थी कि अंतरिक्ष यात्रियों को धरती से 100 किमी ऊपर जाने का मौका मिलेगा. साथ ही बताया कि लोगों को चार दिन का अंतरिक्ष का अनुभव मिलेगा. इसमें तीन दिन उड़ान से पहले की ट्रेनिंग का होगा, जो टेक्सास में कंपनी के लॉन्‍च साइट पर दी जाएगी. इसका कैप्‍सूल 6 यात्रियों को धरती से 100 किमी ऊपर सब-ऑर्बिटल स्पेस में ले जाने के लिए डिजाइन किया गया है, जहां यात्री कुछ मिनटों के लिए भारहीनता महसूस कर सकते हैं. यात्रियों को ले जाने वाले इस कैप्शूल में बोइंग 747 से करीब 3 गुना बड़ी 6 ऑब्जरवेशन विंडो होंगी. जुलाई के बाद इसी साल कंपनी एक और कैप्सूल के जरिये यात्रियों को अंतरिक्ष की सैर कराएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज