अमेरिका ने फिर बढ़ाई चीन की मुश्किलें, दुनिया को Huawei की 5जी तकनीक से दूर रहने की दी चेतावनी

अमेरिका ने फिर बढ़ाई चीन की मुश्किलें, दुनिया को Huawei की 5जी तकनीक से दूर रहने की दी चेतावनी
अमेरिका ने दुनिया को किया आगाह, हुवावे की 5जी तकनीक से रहें दूर

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दुनिया की सबसे बड़ी टेलीकॉम उपकरण निर्माता कंपनी हुवावेई पर प्रतिबंध लगा दिया है.

  • Share this:
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दुनिया की सबसे बड़ी टेलीकॉम उपकरण निर्माता कंपनी हुवावेई पर प्रतिबंध लगा दिया है. ट्रंप ने अमेरिकी कंपनियों को निर्देश दिया है कि वह विदेश में बने किसी भी दूरसंचार उपकरण का उपयोग नहीं करेंगी, जो राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा पैदा कर सकती हैं. चीनी कंपनी हुवावेई ने अमेरिका के इस कदम को अनुचित और अपने अधिकारों का उल्लंघन बताया है.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस मामले में आदेश देते हुए किसी कंपनी या देश का नाम नहीं लिया है लेकिन इस मुद्दे पर पहले भी खबरें आती रही हैं. दूरसंचार से जुड़े अधिकारियों ने पहले ही हुवावेई को सुरक्षा के लिहाज से खतरनाक बताया था. अमेरिका ने अपने सहयोगी देशों को भी आगाह किया है कि हुवावेई 5जी दूरसंचार टेक्नोलॉजी के लिए किसी भी तरह का उपकरण नहीं खरीदे. अमेरिका ने अपने सहयोगी देशों को हुवावेई 5जी दूरसंचार टेक्नोलॉजी के लिए उपकरण नहीं खरीदने के लिए कहा है.

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान का रुपया हुआ 'तबाह', महंगाई बढ़ने से पाकिस्तानियों की टूटेगी कमर



ट्रंप के कदम पर चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने कहां कि चीन अपनी कंपनियों के हितों की रक्षा के लिए कदम उठाएगा. उन्होंने कहा कि हमने अमेरिका के वाणिज्य विभाग के फैसले पर गौर किया है. चीन ने हमेशा अपनी कंपनियों को निर्यात नियंत्रण में कानूनों और नियमों का पालन करने और अपने अंतरराष्ट्रीय दायित्वों को पूरा करने के लिए कहा है. हमने वैश्विक कारोबार में हमेशा उनसे अन्य देशों के नियमों का पालन करने को कहा है.'
लू ने कहा कि हम घरेलू कानून और गतिविधियों के आधार पर अन्य देशों के अनुचित प्रतिबंधों के खिलाफ रहे हैं. हम अमेरिका से इस तरह की गतिविधियों को रोकने और बेहतर कारोबारी सहयोग स्थापित करने का आग्रह करते हैं. चीन अपने कारोबारों के कानूनी अधिकारों और हितों की रक्षा के लिए जरूरी कदम उठाएगा. अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने बुधवार को अमेरिकी कंपनियों को विदेश में निर्मित दूरसंचार उपकरणों को लगाने से रोकने के लिए सरकारी आदेश पर हस्ताक्षर किए. यह कदम हुवावेई को अमेरिकी नेटवर्क से दूर रखने के उद्देश्य से उठाया गया है.

ये भी पढ़ें: सावधान! कहीं आपके Aadhaar का तो नहीं हो रहा है गलत इस्तेमाल, ऐसे करें चेक

अमेरिका के वाणिज्य विभाग का आरोप है कि हुवावे की गतिविधियां अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा या विदेश नीति हित के खिलाफ है. इस सूची में शामिल कंपनी या व्यक्ति को अमेरिकी प्रौद्योगिकी की बिक्री या स्थानांतरण करने के लिए बीआईएस के लाइसेंस की जरूरत होती है. यदि बिक्री या स्थानांतरण अमेरिकी सुरक्षा या विदेश नीति को नुकसान पहुंचाने वाला हो तो लाइसेंस देने से मना किया जा सकता है. फेडरल रजिस्टर में प्रकाशित होने पर यह कदम प्रभावी होगा.

ये भी पढ़ें:- चीन के खिलाफ अमेरिका ने उठाया एक और बड़ा कदम, अब लगेगा इन चीनी सामान पर भारी टैक्स

राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद ये आदेश आने वाले दिनों में लागू किया जाएगा. इस आदेश के तहत हुवावेई को अमेरिकी टेक्नोलॉजी खरीदने के लिए अमरिकी सरकार से लाइसेंस लेने की जरूरत होगी. गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने और 300 अरब डॉलर के प्रोडक्ट्स पर टैक्स बढ़ाने की तैयारी की है. न्यूयॉर्क टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक, अमेरिका ने करीब 4000 चीनी सामानों की लिस्ट बनाई है. जिन पर टैक्स बढ़ाकर 25 फीसदी करने की तैयारी है. आपको बता दें कि ये सभी सामान आम लोगों की रोजमर्रा की जिदंगी में इस्तेमाल होने वाले हैं. हालांकि इस लिस्ट से कुछ जरूरी फार्मास्युटिकल्स, निश्चित मेडिकल गुड्स और कुछ मिनरल्स को इस दायरे से बाहर रखा गया है.

ये भी पढ़ें:

US की मार से चीन में ठप हुआ ये बिजनेस, भारतीयों के पास मौका!

चीन के खिलाफ अमेरिका ने उठाया एक और बड़ा कदम, अब लगेगा इन चीनी सामान पर भारी टैक्स

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज