अपना शहर चुनें

States

COVID-19 ने बढ़ाया एयरलाइंस का संकट, मई के अंत तक निकल सकता है दिवाला!

कोरोनावायरस की वजह से एयरलाइंस कैश रिजर्व पर बुरा असर पड़ा है.
कोरोनावायरस की वजह से एयरलाइंस कैश रिजर्व पर बुरा असर पड़ा है.

कोरोना वायरस (COVID-19) की वजह से एयरलाइंस के बिजनेस पर सबसे बड़ा असर पड़ा है. इस बीच Centre for Asia Pacific Aviation का कहना है कि मई के अंत तक अधिकतर एयरलाइंस का दिवाला निकल सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 16, 2020, 4:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दुनियाभर में कोरोना वायरस (COVID-19) ने एक बड़ी​ चिंता खड़ी कर दी है. अभी तक कोरोना वायरस की वजह से सबसे अधिक धक्का टूरिज़्म, होटल और एविएशन इंडस्ट्री को लगा है. दरअसल, कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए कई देशों ने यातायात पर काफी हद तक प्रतिबंध लगा दिया है. इस बीच Centre for Asia Pacific Aviation (CAPA) का कहना है कि कोरोना के कहर के चलते मई के अंत तक अधिकतर एयरलाइंस (Airlines) का दिवाला निकल सकता है.

लगातार घट रहा कंपनियों का कैश रिज़र्व
CAPA ने बताया कि इस नुकसान से तभी निपटा जा सकता है तब दुनियाभर की सरकारें इसके असर को कम करने के लिए मिलजुल कर कोशिश करें. 16 मार्च को जारी किए गए बयान में CAPA ने कहा है कि उड़ानों के रुकने और क्षमता से कम बुकिंग के चलते एविएशन कंपनियों (Aviation Companies) का कैश रिजर्व (Cash Reserve) लगातार घट रहा है.

यह भी पढ़ें: SBI कार्ड्स की लिस्टिंग पर Coronavirus का साया! 13% डिस्काउंट के साथ हुआ लिस्ट
दुनिया में कई देशों द्वारा उड़ानों पर रोक लगाने की वजह से तमाम एयरलाइंस तकनीकी तौर पर दीवालिया होने के कगार पर पहुंच गई हैं.



एविएशन कंपनियों को लग सकता है तगड़ा झटका
CAPA के साउथ एशिया CEO Kapil Kaul ने मनीकंट्रोल से हुई बातचीत में कहा कि भारतीय एविएशन कंपनियों की बैलेंसशीट पहले से ही कमजोर है. इसमें अगर कोरोना का कहर बढ़ता है तो भारतीय एविएशन कंपनियों को बहुत तगड़ा झटका लगेगा. हालांकि उन्होंने आगे कहा कि भारत की स्थिति अभी दूसरों देशों की तुलना में बेहतर है. उन्होंने आगे कहा कि air turbine fuel पर GST घटाने की जरूरत है. किंतु मांग में आई भारी गिरावट को देखते हुए सिर्फ इतने से ही काम नहीं चलेगा.

एटीएफ पर GST दरें घटाने की जरूरत
हाल ही में सिविल एविएशन मिनिस्टर हरदीप सिंह पुरी ने इस बात के संकेत दिए है कि सरकार जल्द ही GST में बदलाव कर सकती है. उन्होंने 14 मार्च को कहा है कि हम इस परिणाम पर पहुंचे है कि air turbine fuel को GST के अंदर लाने की जरूरत है.

यह भी पढ़ें: 15 दिन में लिंक करवा लें आधार वरना नहीं मिलेंगे ₹ 6000, जानिए क्यों?

संयुक्त प्रयास करें सरकारें
भारतीय एयरलाइंस कंपनियों जैसे IndiGo, Vistara, SpiceJet की बुकिंग में भारी गिरावट देखने को मिली है. लगभग 50 फीसदी एयरक्राफ्ट के ग्राउंडेड हो जाने की भी आशंका है. CAPA का कहना है कि इस समस्या से निपटने के लिए सरकारों को संयुक्त प्रयास करना चाहिए.

गौरतलब है कि भारत सरकार ने 15 अप्रैल तक टूरिस्ट वीजा सस्पेंड कर दिया है और लोगों से अपील की  है कि वे देश के बाहर या अंदर अपनी यात्राओं को अपनी जरूरत तक ही सीमित रखें. दूसरे देशों ने भी इसी तरह के कदम उठाए हैं. चीन में अब तक कोरोना वायरस से 5800 लोग मर चुके हैं और लगभग 1,60,000 लोग संक्रमित है. वहीं भारत में अब तक इस वायरस से 2 लोगों की मौत हो चुकी है और 110 लोग संक्रमित पाए गए हैं.

यह भी पढ़ें: रेसक्यू प्लान की मंजूरी से YES बैंक का शेयर 58% बढ़ा, निवेशकों को हुआ फायदा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज