कोरोना संकट के बावजूद इस सेक्‍टर ने अपने कर्मचारियों को दिया बड़ा Increment, नहीं काटी किसी की सैलरी

कोरोना संकट के बावजूद इस सेक्‍टर ने अपने कर्मचारियों को दिया बड़ा Increment, नहीं काटी किसी की सैलरी
कोरोना संकट के बीच ज्‍यादातर कंपनियों ने नकदी संकट से बचने के लिए कर्मचारियों के वेतन में कटौती और छंटनी का सहारा लिया.

टोयोटा किर्लोस्‍कर ने अपने कुछ कर्मचारियों की वेतनवृद्धि (Pay Hike) की घोषणा की है. वहीं, हुंडई मोटर इंडिया ने फैक्‍ट्री वर्कर्स के मेहनताने (Wages) में इजाफा कर दिया है. मारुति सुजुकी अपने कर्मचारियों को अगले दो महीने के भीतर बोनस देगी. इसके अलावा उम्‍मीद की जा रही है कि एमजी मोटर भी वेतनवृद्धि की जल्‍द घोषणा करेगी.

  • Share this:
मुंबई/नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लाकडाउन (Lockdown) के कारण तमाम आर्थिक गतिविधियां थम गईं. ज्‍यादातर सेक्‍टर्स की माली हालत खराब होने लगी. ऐसे में बड़ी तादाद में कंपनियों ने या कर्मचारियों की सैलरी में कटौती (Salary Cut) की या छंटनी (Job Cut) की. इस बीच एक ऐसा सेक्‍टर भी है, जिसमें ना तो किसी की सैलरी काटी गई और ना ही किसी को नौकरी से निकाला गया. इसके उलट ऐसे मुश्किल हालात में कर्मचारियों को वेतनवृद्धि (Salary Hike) और पदोन्‍नति (Promotion) का तोहफा दिया गया. दरअसल, देश के कार निर्माताओं (Carmakers in India) का कहना है कि बाजार में उम्‍मीद से कहीं ज्‍यादा रफ्तार से सुधार हो रहा है. इसका फायदा कर्मचारियों को दिया जा रहा है.

मारुति समेत इन कंपनियों ने की वेतनवृद्धि की घोषणा
टोयोटा किर्लोस्‍कर (Toyota Kirloskar) ने किसी भी यूनियन से संबंध नहीं रखने वाले अपने कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी की घोषणा कर दी है. वहीं, हुंडई मोटर इंडिया (Hyundai Motor India) ने अपने फैक्‍ट्री वर्कर्स के मेहनताने (Wages) में इजाफा कर दिया है. साथ ही कंपनी अपने ऑफिस एग्‍जीक्‍यूटिव्‍स की सैलरी बढ़ाने पर विचार कर रही है. देश की सबसे बड़ी कार निर्माता मारुति सुजुकी (Maruti Suzuki) अगले दो महीने के भीतर अपने कर्मचारियों का बोनस और इंसेंटिव्‍स रिलीज कर देगी. वहीं, एमजी मोटर (MG Motor) तय समय से पहले ही वेतनवृद्धि की घोषणा कर सकती है.

ये भी पढ़ें- जानें गोल्‍ड या इक्विटी म्‍यूचुअल फंड में कौन है निवेश का बेहतर विकल्‍प? किसमें मिलेगा ज्‍यादा फायदा
कंपोनेंट निर्माताओं ने की छंटनी और वेतन में कटौती


कोविड-19 के कारण पहले से खस्‍ताहाल चल रही ऑटोमोटिव इंडस्‍ट्री की हालत और बिगड़ गई. ऐसे में ऑटो सेक्‍टर में काम करने वाले लोगों को नौकरी जाने और सैलरी में कटौती की चिंता सताने लगी. ऐसे में देश के कार निर्माताओं ने अपने कर्मचारियों को कोविड-19 के कारण आर्थिक संकट में फंसने से बचाया. हालांकि, कंपोनेंट सेक्‍टर (Component Makers) में काफी कर्मचारियों की छंटनी और वेतन में कटौती की गई है. दरअसल, लॉकडाउन के कारण मांग घटने से कंपोनेंट निर्माताओं के सामने नकदी का संकट खड़ा हो गया था. ऐसे में उन्‍हें कारोबार को बचाने के लिए कड़ा फैसला लेना पड़ा.

ये भी पढ़ें- SBI ग्राहकों के लिए बड़ी खबर! इस फॉर्म को भरकर FD पर मिले ब्‍याज पर बचा सकते हैं Income Tax

4 से 14 फीसदी तक की है वेतन में वृद्धि की घोषणा
लॉकडाउन में ढील के बाद कार कंपनियों में काम शुरू हुए अब करीब दो महीने हो चुके हैं. इस बीच देश की 14 कार कंपनियों में से 10 ने पिछले साल के लिए कर्मचारियों का बोनस जारी कर दिया है. वहीं, आधा दर्जन कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को पदोन्‍नति दी है. इसके अलावा कुछ कंपनियां पदोन्‍नति और वेतनवृद्धि की घोषणा करने की प्रक्रिया में हैं. होंडा, टोयोटा और रेनॉ ने सैलरी और पद के आधार पर अपने कर्मचरियों के वेतन में 4 से 14 फीसदी की बढ़ोतरी की है. हुंडई मोटर इंडिया ने ब्‍लू कॉलर कर्मचारियों को पदोन्‍नति की घोषणा कर दी है. साथ ही उनका बोनस जारी कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें- मोटा लेनदेन करने के बावजूद रिटर्न नहीं भरने वाले IT डिपार्टमेंट के रडार पर, कल से शुरू होगा ई-अभियान

ये कंपनियां जल्‍द कर सकती हैं वेतनवृद्धि का ऐलान
मारुति, फोर्ड, स्‍कोडा और एमजी मोटर जल्‍द ही वेतनवृद्धि की घोषणा कर सकते हैं. एमजी मोटर इंडिया के एमडी राजीव चाबा ने कहा कि अब हालात सामान्‍य हो रहे हैं. अब हम अगले दो-तीन महीने के भीतर अपने कर्मचरियों को पदोन्‍नति और वेतनवृद्धि की घोषणा कर देंगे. महिंद्रा एंड महिंद्रा ने लॉकडाउन के दौरान कर्मचारियों के वेतन में किसी तरह की कटौती नहीं की. हालांकि, इस साल अब तक किसी को वेतनवृद्धि या पदोन्‍नति भी नहीं दी गई है. कंपनी का कहना है कि इस बारे में गंभीरता से विचार किया जा रहा है. बता दें कि वित्‍त वर्ष 2020 में वाहनों की बिक्री घटकर 2015 के स्‍तर पर पहुंच गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज