Home /News /business /

गृह मंत्री अमित शाह का बड़ा बयान! कहा- सहकारिता क्षेत्र देश को बना सकता है 5000 अरब डॉलर की इकोनॉमी

गृह मंत्री अमित शाह का बड़ा बयान! कहा- सहकारिता क्षेत्र देश को बना सकता है 5000 अरब डॉलर की इकोनॉमी

गृह मंत्री अमित शाह ने कृषि क्षेत्र में सहकारिता मॉडल लागू कर किसानों की आय बढ़ाने पर जोर दिया. (lसांकेतिक फोटो)

गृह मंत्री अमित शाह ने कृषि क्षेत्र में सहकारिता मॉडल लागू कर किसानों की आय बढ़ाने पर जोर दिया. (lसांकेतिक फोटो)

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि सहकारिता मॉडल (Cooperative Model) लागू करने से कृषि और इससे जुड़े क्षेत्रों (Agriculture Sector) का तेजी से विकास किया जा सकता है. उन्‍होंने सहकारिता मॉडल को डेयरी प्रोडक्‍ट्स बनाने वाली कंपनी अमूल (Amul) की सफलता का कारण बताया.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. केंद्रीय गृह व सहकारिता मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने कहा कि भारत को 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था (Indian Economy) बनाने की क्षमता सहकारिता क्षेत्र (Cooperative Sector) रखता है. यही नहीं, यह कृषि क्षेत्र (Agriculture Sector) को आत्मनिर्भर बनाने में अहम योगदान दे सकता है. साथ ही कहा कि सहकारिता मॉडल लागू करने से कृषि और इससे जुड़े क्षेत्रों का तेजी से विकास हो सकता है. उन्होंने कहा कि आज लाल बहादुर शास्त्री का श्वेत क्रांति का सपना साकार हो रहा है. अब इससे आगे देखने का समय आ गया है. हमें कृषि और पशुपालन क्षेत्रों के विकास के लिए सहकारिता मॉडल लागू करने की जरूरत है.

    गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि सहकारिता मॉडल डेयरी प्रोडक्‍ट्स बनाने वाली कंपनी अमूल (Amul) की सफलता का सबसे बड़ा कारण है. उन्‍होंने अमूल के 75 साल पूरे होने पर आयोजित कार्यक्रम में कहा कि आप 36 लाख किसान परिवारों (Farmers) तक सीमित मत रहिए. आज कई किसान जैविक खेती (Organic Farming) की ओर बढ़े हैं. उनके पास भारत और दुनिया में अपने कृषि उत्पाद (Agri Products) बेचने के लिए सही प्‍लेटफॉर्म नहीं है. उन्‍होंने पूछा कि क्या अमूल जैसे सहकारी संस्थान ऐसा करने में उनकी मदद कर सकते हैं? अब इस दिशा में सोचने का समय आ गया है. इससे किसानों की आय (Farmers’ Income) बढ़ेगी.

    ये भी पढ़ें- EPFO की चेतावनी: PF खाताधारकों पर ऑनलाइन धोखाधड़ी का खतरा, जानें कैसे रहें सुरक्षित

    ‘सब्जियों की नई किस्‍मों से किसानों को होगा फायदा’
    केंद्रीय सहकारिता मंत्री अमित शाह ने कहा कि बीजों के क्षेत्र में समय पर अनुसंधान नहीं किया गया. सहकारिता क्षेत्र को इस दिशा में भी काम करना चाहिए. इस क्षेत्र को सब्जियों की नई किस्में विकसित करनी चाहिए. इससे निजी कंपनियों को नहीं बल्कि किसानों को फायदा पहुंचेगा. इससे किसानों की आय दोगुनी करने में भी मदद मिलेगी. उन्‍होंने भरोसा जताया कि भारत को पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने में सहकारिता आंदोलन का अहम योगदान रहेगा. साथ ही कहा, ‘पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) भी मानते हैं कि सहकारिता क्षेत्र आत्मनिर्भर भारत बनाने में अहम होगा.’

    ये भी पढ़ें- Fraud Alert: फेस्टिवल गिफ्ट के मैसेज में आए लिंक पर ना करें क्लिक, खाली हो सकता है आपका बैंक अकाउंट

    महिला सशक्तीकरण में अमूल की भूमिका की तारीफ की
    शाह ने महिलाओं के सशक्तीकरण में अमूल की भूमिका की तारीफ की. उन्होंने कहा कि जुलाई 2021 में बनाया गया नया सहकारिता मंत्रालय अपना चार्टर तैयार कर रहा है. अमूल के 75 वर्ष पूरे होने के मौके पर शाह ने एक डाक टिकट भी जारी किया. उन्होंने अमूल ब्रांड के जैविक उर्वरक की भी शुरूआत की. आणंद में सरदार वल्लभभाई पटेल और खेड़ा जिला सहकारिता दुग्ध उत्पादक के संस्थापक व सहकारिता क्षेत्र के नेता त्रिभुवनदास पटेल के मार्गदर्शन में सहकारिता आंदोलन के तौर पर 1946 में अमूल की स्‍थापना हुई थी. गुजरात में करीब 36 लाख किसान परिवार अमूल के साथ जुड़े हुए हैं.

    Tags: Amit shah, Amul, Business news in hindi, Cooperative Policy, Farmer Income Doubled, Home Minister Amit Shah, Indian economy

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर