आनंद महिंद्रा ने अदार पूनावाला को किया सलाम, ट्वीट कर कही दिल खुश कर देने वाली ये बात

आनंद महिंद्रा और अदार पूनावाला

आनंद महिंद्रा और अदार पूनावाला

भारत में कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए दो वैक्सीन को इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिल चुकी है. इस पर आंनद महिंद्रा (Anand Mahindra) ने SII के CEO अदार पूनावाला (Adar Poonawalla) के एक ट्वीट का रिप्लाई किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 4, 2021, 8:02 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत को कोरोना फ्री बनाने के लिए देश के सबसे पहले वैक्सीन 'कोविशील्ड' (Covishield) को सरकार से हरी झंडी मिल चुकी है. बिजनेसमैन आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) ने इसके बाद कहा कि इससे करोड़ों जीवन बचाने में मदद मिलेगी. बीते रविवार को ड्रग रेगुलेटर ने दो 'मेड इन इंडिया' वैक्सीन को इमरजेंसी में इस्तेमाल करने की अनुमति दी है. ये दो वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सीन (Covaxin) हैं. कोविशील्ड को ऑक्सफॉर्ड यूनिवर्सिटी और ब्रिटेन की दवा कंपनी एस्ट्रजेनेका ने मिलकर तैयार किया है. इस वैक्सीन का उत्पादन सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) कर रही है. जबकि, कोवैक्सीन को भारत बायोटेक (Bharat Biotech) उत्पादन कर ही है.

सरकार से मंजूरी मिलने के कुछ देर बाद ही SII के सीईओ अदार पूनावाला (Adar Poonwalla) ने ट्वीट कर इस बारे में जानकारी दी. उन्होंने कहा कि वैक्सीन को लेकर उठाए गए जोखिम का फल अंतत: मिलने जा रहा है.

पूनावाला के ट्वीट का रिप्लाई करते हुए आनंद महिंद्रा ने कहा कि जोखिम उठाना ही किसी भी बिजनेस का फंडामेंटल कैरेक्टर है. अदार पूनावाला द्वारा उठाए गए इस बड़े जोखिम से ही करोड़ों लोगों की जीवन बचाने में मदद मिलेगी.

यह भी पढ़ें: FD पर चाहिए 7.5 फीसदी ब्याज तो इन बैंकों में कराएं फिक्स डिपॉजिट, चेक करें लेटेस्ट ब्याज दरें
इस ट्वीट में उन्होंने लिखा, 'जोखिम उठाना ही किसी भी बिजनेस का मौलिक लक्षण है. इसके दो ही नतीजे होते हैं, लेकिन इसके सफल होने पर फायदा भी बहुत बड़ा होता है. @adarpoonawalla ने क्षमता बढ़ाने का बड़ा जोखिम लिया है. लेकिन उनका यह जोखिम केवल पैसे के मामले में ही फलदायी नहीं होगा, बल्कि इससे करोड़ों लोगों की जीवन बचाने में मदद मिलेगी. सलाम'



भारत बायोटेक द्वारा तैयार किए गए वैक्सीन को लेकर एक्सपर्ट्स ने कुछ सवाल भी उठाए हैं. उनका कहना है कि हाल ही में ही इस वैक्सीन का क्लिनिकल ट्रायल शुरू हुआ है.



सबसे पहले इन 30 करोड़ लोगों को लगेगा वैक्सीन

इन वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद शुरुआत में 30 करोड़ लोगों को यह लगाया जाएगा. इसमें हेल्थकेयर वर्कर्स, फ्रंट लाइन स्टाफ, राज्यों की पुलिस भी शामिल होंगे. कोरोना वायरस वैक्सीन डिस्ट्रीब्युशन के लिए 20 हजार हेल्थ वर्कर्स को विशेष तौर पर ट्रेन किया जा चुका है.

यह भी पढ़ें: पंजाब नेशनल बैंक ने शुरू किया ये ऑफर, Home loan और Car loan पर नहीं लगेगा ये चार्ज

इस बीच भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल 1,03,23,965 मामले सामने आ चुके हैं. यह आंकड़ा रविवार को स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा दिया गया है. संक्रमण की संख्या की बात करें तो भारत पूरी दुनिया में अमेरिका के बाद दूसरे नंबर पर है. हालांकि, सितंबर के बाद संक्रमण के मामलों में लगातार कमी देखने को मिली है. देश के कोरोना वायरस से होने वाले मौत का आंकड़ा 1,49,000 है. फिलहाल देश में कुल 2,47,220 एक्टिव मामले हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज