मजबूरी: आर्मी का पूर्व बॉक्सिंग काेच चला रहा है ऑटाे, साेशल मीडिया में आया वीडियाे ताे आनंद महिंद्रा ने दिया बड़ा ऑफर

आनंद महिंद्रा ने पूर्व बॉक्‍सर की मदद के लिए बढ़ाया हाथ. (File pic)

आनंद महिंद्रा ने पूर्व बॉक्‍सर की मदद के लिए बढ़ाया हाथ. (File pic)

वायरल वीडियो में आबिद खान कह रहे हैं कि बॉक्सिंग में मिडिल क्लास या गरीब तबके के लोग आते हैं, क्योंकि इसमें मार खानी पड़ती है. पैसे वाले लोग क्रिकेट, लॉन टेनिस, बैडमिंटन खेलते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 18, 2021, 7:54 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कहते हैं परिवार को दो वक्त की रोटी देने के लिए इंसान कुछ भी कर सकता है. कुछ ऐसी ही कहानी है पांच साल तक इंडियन आर्मी (Indian Army) में बतौर बॉक्सिंग कोच, उससे पहले नेशनल लेवल के बॉक्सर (National level boxer) रह चुके आबिद खान (Abid Khan) की. ना कभी आबिद खान ने और ना ही उनके परिवार ने कभी यह सोचा कि उनके सामने ऐसे दिन भी आएंगे कि उन्हें बॉक्सिंग गल्ब्ज उतारकर ऑटो का हैंडल थामना पड़ जाएगा. हाल में आबिद खान (Abid Khan) का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है, जिसमें उन्‍होंने अपने नेशनल लेवल के बॉक्सर रहने के दौरान से ऑटो ड्राइवर बनने के सफर के बारे में बताया है.

आबिद खान के वायरल वीडियो को जब उद्योगपति और महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) ने देखा तो तुरंत मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया. उन्होंने इस वीडियो को री-ट्वीट करते हुए कहा है कि आबिद की स्टोरी बताने के लिए धन्यवाद. मैं उनकी सराहना करता हूं कि वो कोई मदद नहीं मांग रहे हैं. फिर भी मैं लोगों को चैरिटी ऑफर करने के बजाय उनकी प्रतिभा (Talent) और जुनून (Passion) में निवेश करना पसंद करता हूं. कृपया मुझे बताएं कि मैं कैसे उनकी स्टार्टअप बॉक्सिंग एकेडमी (startup boxing academy) में निवेश कर सकता हूं और उसे सपोर्ट कर सकता हूं.



बॉक्सिंग में मध्‍यम या गरीब तबके के लोग आते हैं
वायरल वीडियो में आबिद खान कह रहे हैं कि गरीब इंसान या मिडिल क्लास के लिए सबसे बड़ा अभिशाप पैसों की तंगी होना है. उससे भी बड़ा अभिशाप यह है कि वो स्पोर्ट्स लवर है. इसमें समय की बर्बादी के अलावा कुछ नहीं है. स्पोटर्समैन होते हुए मैंने इतनी उपलब्धियां हासिल कीं, डिप्लोमा भी किया, लेकिन बाद भी हमें जॉब नहीं मिला. बॉक्सिंग में मिडिल क्लास या गरीब तबके के लोग आते हैं क्योंकि इसमें मार खानी पड़ती है. पैसे वाला क्रिकेट, लॉन टेनिस, बैडमिंटन खेलता है.

ये भी पढ़ें - SBI जनरल इंश्योरेंस सहित चार कंपनियों पर IRDA ने लगाया 51 लाख रुपये का जुर्माना

लोगों की मदद करते रहते हैं आनंद महिंद्रा



आनंद महिंद्रा अक्सर लोगों की मदद करते रहते हैं. खासतौर से उन लोगों की, जिन्हें मदद की सख्त जरूरत होती है. हाल में आनंद महिंद्रा ने कमलाथल के लिए एक घर खरीदा था, जिन्‍हें इडली अम्मा (Idli Amma) के तौर पर जाना जाता है. वह महज 1 रुपये में इडली सांभर बेचती हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज