1 रुपये में इडली बेचती है 80 साल की यह महिला, इनके बिजनेस में निवेश करना चाहते हैं आनंद महिंद्रा

तमिलनाडु के कोयम्बटूर जिले में 80 साल की एक महिला लकड़ी के चूल्हे पर इडली बनाती है. यह महिला इसे सुबह काम पर जाने वाले मजदूरों को मात्र एक रुपये में ही बेचती है.

News18Hindi
Updated: September 12, 2019, 7:42 PM IST
1 रुपये में इडली बेचती है 80 साल की यह महिला, इनके बिजनेस में निवेश करना चाहते हैं आनंद महिंद्रा
तमिलनाडु के कोयम्बटूर जिले में 80 साल की एक महिला लकड़ी के चूल्हे पर इडली बनाती है. यह महिला इसे सुबह काम पर जाने वाले मजदूरों को मात्र एक रुपये में ही बेचती है.
News18Hindi
Updated: September 12, 2019, 7:42 PM IST
नई दिल्ली. म​हिंद्रा एंड महिंद्रा ग्रुप (Mahindra & Mahindra Group) के चेयरमैन आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) सोशल मीडिया पर अपनी मौजूदगी से अक्सर लोगों का दिल जीतते रहते हैं. तमिलनाडु (Tamil Nadu) राज्य की एक 80 साल की महिला को लेकर किया गया उनका ट्वीट एक बार फिर आम लोगों का दिल जीत रहा है. आनंद महिंद्रा ने हाल ही के अपने एक ट्वीट में चूल्हे पर इडली बनाकर बेचने वाली एक महिला के बिजनेस में निवेश करने की पेशकश की है.

1 रुपये में इडली बेचती है यह महिला
बीते 10 सिंतबर को आंनद महिंद्रा ने एक वीडियो ट्वीट किया, जिसमें 80  साल की एक महिला चूल्हे पर इडली बना रही है. यह ​महिला गरीब व जरूरतमंद को तमिलनाडु में मात्र 1 रुपये में इडली बेचती है. इस महिला का नाम के कमलाथल है. कमलाथल तमिलनाडु के कोयम्बटूर जिले के एक छोटे से गांव में रहती हैं. यह ​महिला बीते 30-35 साल से बिना मुनाफे के मात्र एक रुपये में इडली बेच रही है.

ये भी पढ़ें: खराब सिबिल स्कोर होने पर भी मिलेगा लोन! खरीद सकेंगे अपना घर, मोदी सरकार लेगी गारंटी

महिंद्रा ने बिजनेस में निवेश करने की पेशकश
आनंद महिंद्रा ने अपने ट्वीट में​ लिखा, 'यह उन विनम्र कहानियों में से एक है जो आपको आश्चर्यचकित करती है, लेकिन आप भी कमलाथल जैसा कुछ प्रभावशाली काम करते हैं तो यकीनन वो दुनिया को हैरान करेगा. मैनें ध्यान दिया कि वो अभी भी लकड़ी के चूल्हे का इस्तेमाल करती हैं. अगर उन्हें कोई जानता है तो मुझे इसके बारे में जानकारी दें. मैं उनके बिजनेस में निवेश करूंगा और उन्हें एक एलपीजी स्टोव भी दूंगा'


Loading...

यह ​महिला हर रोज सुबह इडली बेचने के लिए निकल जाती है, ताकि कोई भी लेबर खाली पेट अपने काम की शुरुआत न कर सके. जब उन्होंने अपना कारोबार शुरू किया था तब  तब वो मात्र 50 पैसे में ही इडली के साथ-साथ सांभर व चटनी बेचती थी. बाद में लागत बढ़ने के बाद उन्हें कीमत बढ़ाकर 1 रुपये करनी पड़ी.

ये भी पढ़ें: ओला, उबर या अपनी गाड़ी, जानें किसमें चलना है फायदेमंद?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 12, 2019, 6:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...