अपना शहर चुनें

States

जैक मा की Ant Group कर रही पेटीएम में अपनी 30% हिस्सेदारी बेचने की तैयारी, जानें वजह

जैक मा की कंपनी Ant Group भारतीय फिनटेक कंपनी पेटीएम से अपनी हिस्‍सेदारी बेचने की योजना बना रही है.
जैक मा की कंपनी Ant Group भारतीय फिनटेक कंपनी पेटीएम से अपनी हिस्‍सेदारी बेचने की योजना बना रही है.

चीन के अर‍बपति कारोबारी जैक मा (Jack Ma) की कंपनी अलीबाबा (Alibaba) की सहयोगी कंपनी एंट ग्रुप (Ant Group) भारतीय डिजिटल पेमेंट सर्विस प्रोवाइडर पेटीएम (Paytm) में अपनी हिस्सेदारी बेचने की योजना बना रही है. हालांकि, अभी तक दोनों कंपनियों की ओर से इसकी आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 2, 2020, 8:51 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. चीन के अरबपति कारोबारी जैक मा (Jack Ma) की फिनटेक कंपनी एंट ग्रुप (Ant Group) भारतीय डिजिटल पेमेंट सर्विस प्रोवाइडर पेटीएम (Paytm) में अपनी हिस्सेदारी बेचने की तैयारी कर रही है. हालांकि, इसे लेकर अभी दोनों कंपनियों में किसी ने भी आधिकारिक घोषणा नहीं की है. दोनों कंपनियों ने अभी ऐसी किसी भी बिक्री से इनकार किया है. हालांकि, रायटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक अलीबाबा ग्रुप (Alibaba Group) की सहयोगी कंपनी एंट ग्रुप जल्द ही पेटीएम में अपनी 30 फीसदी हिस्सेदारी बेच देगी. रिपोर्ट में कहा गया है कि सीमा विवाद (India-China Border Dispute) को लेकर तनाव के कारण भारत में तगड़ा कॉम्पिटिशन होने से एंट ग्रुप पेटीएम की हिस्सेदारी बेचने के बारे में सोच रही है.

बिक्री प्रक्रिया नहीं हुई है शुरू, फाइनेंशियल डिटेल्‍स नहीं आईं सामने
पेटीएम के प्रवक्ता ने कहा कि अभी एंट ग्रुप के साथ हिस्‍सेदारी बेचने को लेकर किसी तरह की बातचीत नहीं हुई है. कंपनी अभी अपनी हिस्सेदारी बेचने को लेकर किसी योजना पर विचार नहीं कर रही है. वहीं, रायटर्स की रिपोर्ट में चार सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि हिस्‍सेदारी बेचने पर विचार चल रहा है. अभी तक संभावित लेनदेन की फाइनेंशियल डिटेल्स सामने नहीं आई हैं. साथ ही अभी तक बिक्री की प्रक्रिया भी शुरू नहीं हुई है. जून 2020 में लद्दाख में सीमा (Ladakh Border Dispute) पर दोनों देश के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प के बाद से भारत ने चीन के खिलाफ कई सख्‍त कदम उठाए हैं. भारत की ओर से प्रतिबंधित ऐप्‍स (Chinese Apps Ban) में अलीबाबा के ऐप्स भी हैं. माना जा रहा है कि एंट ग्रुप अब किसी भी भारतीय कंपनी में हिस्सेदारी बढ़ाने की योजना बनाने से कतरा रहा है.

ये भी पढ़ें- भारत के सामने झुका चीन! बीजिंग ने 30 साल में पहली बार नई दिल्‍ली से खरीदा चावल
एंट ग्रुप को हिस्‍सेदारी बेचने पर मिल सकते हैं 4.8 अरब डॉलर


फिनटेक कंपनी पेटीएम में जापान के सॉफ्टबैंक का भी निवेश है. पेटीएम की वैल्यू इस समय 16 अरब डॉलर है. एक साल पहले ही इसमें प्राइवेट फंडिंग हुई थी, जिसके बाद इसका वैल्यूएशन बढ़ गया है. इस वैल्यूएशन पर एंट ग्रुप को 30 फीसदी हिस्सेदारी के एवज में 4.8 अरब डॉलर की रकम मिल सकती है. एंट ग्रुप अगर हिस्सेदारी बेचकर पेटीएम से निकल जाता है तो चीन की कंपनी के लिए यह बड़ा झटका होगा. पिछले महीने ही एंट ग्रुप के 37 अरब डॉलर के आईपीओ की लिस्टिंग को सस्पेंड कर दिया गया था. बता दें कि चीनी कंपनी अलीबाबा ने भारत में अब तक 4 अरब डॉलर का निवेश किया है. यह 2021 तक 5 अरब डॉलर के निवेश की योजना बना रही थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज