सरकार के एक फैसले से चीन समेत इन देशों को होगा नुकसान, जानें क्या है मामला?

सरकार के एक फैसले से चीन समेत इन देशों को होगा नुकसान, जानें क्या है मामला?
चीन, यूरोपीय संघ, जापान, रूस से रबड़ आयात पर डंपिंगरोधी शुल्क लगा सकता है भारत

एप्कोटेक्स इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Apcotex Industries Ltd) ने व्यापार उपचार महानिदेशालय (DGTR) से इन देशों द्वारा ‘एक्रीलोनिट्राइल बुटाडीन रबड़’ (Acrylonitrile Butadiene Rubber) के डंपिंग की शिकायत की थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. सरकार चीन, यूरोपीय संघ, जापान और रूस से रबड़ के आयात पर डंपिंगरोधी शुल्क (Anti-Dumping Duty) लगा सकती है. इस संबंध में घरेलू रबड़ उत्पादक ने वाणिज्य मंत्रालय से इन देशों से रबड़ के डंपिंग करने की शिकायत की है. एप्कोटेक्स इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Apcotex Industries Ltd) ने व्यापार उपचार महानिदेशालय (DGTR) से इन देशों द्वारा ‘एक्रीलोनिट्राइल बुटाडीन रबड़’ (Acrylonitrile Butadiene Rubber) के डंपिंग की शिकायत की थी.

डीजीटीआर, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के तहत काम करने वाला निकाय है. यह डंपिंगरोधी मामलों की जांच कर शुल्क लगाने की सिफारिश मंत्रालय को भेजता है. मंत्रालय उसे वित्त मंत्रालय को भेज देता है जो डंपिंग रोधी शुल्क लगाने पर अंतिम निर्णय लेता है.

ये भी पढ़ें- आज से इस स्कीम में नहीं कर सकेंगे निवेश, इस वजह से सरकार कर रही है बंद



यह आरोप लगाया है कि इन देशों के उत्पाद का डंपिंग घरेलू उद्योग को प्रभावित कर रहा है. उत्पाद का उपयोग विभिन्न रबर आर्टिकल्स के निर्माण में किया जाता है जहां तेल, घर्षण और गर्मी अनुप्रयोगों के प्रतिरोध शामिल होते हैं, जैसे कि तेल सील्स,, होज, ऑटोमोटिव प्रोडक्ट, गास्केट्स, राइस डस्किंग रोल्स, प्रिंटर और कपड़े.
क्यों लगाया जाता है एंटी-डंपिंग ड्यूटी?
डंपिंग, एक अनुचित व्यापार अभ्यास जो किसी उत्पाद के निर्यात को उसके सामान्य मूल्य से कम कीमत पर मजबूर करता है, एक दंडात्मक एंटी-डंपिंग ड्यूटी द्वारा काउंटर किया जाता है. सेफगार्ड ड्यूटी अप्रत्याशित आयात में बढ़ोतरी को रोकने के लिए लगाया जाता है ताकि घरेलू उद्योग को बचाया जा सके.

इन प्रोडक्ट्स पर भी लग सकती है ड्यूटी
सरकार चीन से इम्पोर्ट होने वाली 25 आइटम्स पर एंटी-डंपिंग ड्यूटी (Anti-Dumping Duties) बढ़ा सकती है. कैलकुलेटर (Calculators) और यूएसबी ड्राइव (USB drives) से लेकर स्टील, सोलर सेल और विटामिन ई तक दो दर्जन से अधिक चीनी सामानों पर एंटी-डंपिंग ड्यूटी इस साल समाप्त हो रही है. ऐसे में सरकार इन सामानों पर डंपिंग ड्यूटी बढ़ाने का फैसला कर सकती है.

ये भी पढ़ें- 1 जून से बदल रहे हैं रेलवे-राशन कार्ड और फ्लाइट्स से जुड़े कई नियम, जानिए आप पर क्या होगा असर

इस साल समाप्त हो एंटी-डंपिंग ड्यूटी
साल 2018-19 में चीन से भारत का कुल आयात 70.32 अरब डॉलर था. इनमें इन 25 सामानों का बहुत ज्यादा योगदान रहा. इन उत्पादों पर एंटी-डंपिंग ड्यूटी 5 साल पहले लगाई गई थी और इस साल समाप्त हो रही है. सोलर सेल और मॉड्यूल पर सेफगार्ड ड्यूटी 30 जुलाई, 2018 को लगाया गया थाऔर यह 29 जुलाई, 2020 को समाप्त हो रहा है.

ये भी पढ़ें- कोरोना संकट के बीच निवेशकों ने यहां की जमकर कमाई, मिला 46% तक का मोटा रिटर्न, अभी है मौका
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading