ध्यान दें! दिल्ली में इस तरह के पटाखे जलाने पर लगेगा 1 लाख का जुर्माना, सरकार ने जारी किए निर्देश

राज्य सरकार ने दिवाली पर सिर्फ ग्रीन पटाखे जलाने की परमिशन दी है.
राज्य सरकार ने दिवाली पर सिर्फ ग्रीन पटाखे जलाने की परमिशन दी है.

राज्य सरकार ने दिवाली पर सिर्फ ग्रीन पटाखों (Green crackers) के इस्तेमाल की अनुमति दी है. राजधानी में इस साल सामान्य पटाखे जलाने वालों पर एक लाख रुपए जुर्माना लगाया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 29, 2020, 11:18 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: हर साल दिवाली आने से पहले राजधानी वासियों को इस बात की टेंशन सताने लगती है कि इस बार फिर पटाखों की धुंध से उनको परेशान होना पड़ेगा, लेकिन इस साल दिल्ली सरकार ने पटाखों से फैलने वाले प्रदूषण को कम करने के लिए कुछ खास प्लान बनाया है. इसके साथ ही ग्रीन दिल्ली ऐप (Green Delhi App) लेकर आ रही है, जिसके जरिए राजधानी में पटाखों से फैलने वाले प्रदूषण को रोका जाएगा. राज्य सरकार ने कहा कि इस साल सामान्य पटाखे जलाने वालों पर एक लाख रुपए जुर्माना लगाया जाएगा.

राज्य सरकार ने दिवाली पर सिर्फ ग्रीन पटाखों (Green crackers) के इस्तेमाल की अनुमति दी है. सरकार सिर्फ ग्रीन पटाखे जलाने और अन्य तरह के पटाखों पर रोक के लिए सरकार 3 नवंबर से विशेष अभियान भी चलाने जा रही है.

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री ने दी जानकारी



दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बताया कि दिवाली से पहले सरकार एंटी Crackers कैंपेन शुरू करने जा रही है. इस कैंपेन के तहत हम पुलिस का सहयोग लेने के साथ-साथ DPCC की मदद लेंगे. DPCC की तरफ से सरकार 11 टीमों का गठन कर रही है, जिसमें DPCC के साथ-साथ 5 environmenta मार्शल उनके साथ होंगे.
यह भी पढ़ें: ऑनलाइन शॉपिंग करने से पहले जानें लें No Cost EMI से जुड़ी सभी बातें, वरना लग सकता है आपको चूना
राजधानी में प्रदूषण कम करने के लिए दिल्ली सरकार ने सख्त कदम उठाए हैं- >> दिल्ली सरकार ग्रीन दिल्ली ऐप ला रही है.>> दिल्ली में केवल ग्रीन पटाखों की बिक्री होगी.>> ग्रीन Crackers के अलावा कोई भी पटाखा अगर जलाया तो एक लाख रुपए तक का जुर्माना भरना होगा.>> सरकार एंटी Crackers कैंपेन शुरू करने जा रही है.>> सरकार 11 टीमों का गठन कर रही है.>> 3 नवंबर से ये टीमें काम शुरू कर देंगी.>> फैक्ट्रियों और दुकानों में चेकिंग करेगी सरकार की टीमसभी दुकानों और फैक्ट्रियों की होगी चेकिंगपर्यावरण मंत्री के मुताबिक, ये 11 टीमें फैक्ट्रियों और दुकानों में चेकिंग करेंगी. सरकार की टीम हर दुकान और फैक्ट्री में जाएगी और अगर वहां पर ग्रीन क्रैकर के अलावा स्टॉक पाया जाता है तो उसके खिलाफ environmental protection act और Air Act के तहत कार्रवाई की जाएगी.

ग्रीन क्रैकर से धुंआ बहुत कम होता है
इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ग्रीन क्रैकर के उपयोग से जो धुआं होता है वो काफी कम होता है. हमारी एनओसी के मुताबिक दिल्ली में 93 उत्पादक एजेन्सी हैं जो फायर टेक्निक मिलाकर क्रैकर बना सकती हैं. इसी तरह के पटाखे आयात किए जा सकेंगे. यह लिस्ट हम वेबसाइट पर अपलोड कर देंगे.

यह भी पढ़ें: आम आदमी को झटका! अगले महीने से आपका ये बैंक पैसा जमा करने पर लेगा चार्जेस

रेड लाइट ऑन-गाड़ी ऑफ कैंपेन
आपको बता दें प्रदूषण पर कंट्रोल लगाने के लिए दिल्ली सरकार ने इन दिनों 'रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ' अभियान चलाया हुआ है. राजधानी की सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में यह अभियान चलाया जा रहा है. और 2 नवंबर तक यह शहर के सभी 272 वार्डों तक पहुंच जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज