लाइव टीवी

मेडिकल स्टोर्स से दवा खरीदते वक्त हमेशा रखें लाल निशान समेत इनका ध्यान! रहेंगे टेंशन फ्री

News18Hindi
Updated: October 19, 2019, 4:18 PM IST
मेडिकल स्टोर्स से दवा खरीदते वक्त हमेशा रखें लाल निशान समेत इनका ध्यान! रहेंगे टेंशन फ्री
दवा की स्ट्रिप पर लाल निशान का मतलब होता है इस तरह की दवाएं डॉक्टर के पर्चे के बिना नहीं दी जा सकती है.

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय (Ministry of Health and Welfare Department of India) की ओर से जारी जानकारी में बताया गया है कि दवा (Medicine Strip) के पैकेट पर लाल रेखा हो तो उस दवा का इस्तेमाल बिना डॉक्टरी परामर्श के न करें. आइए जानें इसके बारे में...

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 19, 2019, 4:18 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. छोटी-मोटी बीमारी होने पर अक्सर कई लोग मेडिकल स्टोर (Medical Store) पर जाकर बिना डॉक्टर से पूछे दवा खरीदकर ले आते हैं. ऐसे में कई बार ऐसा करना सेहत के लिए बहुत नुकसानदेह हो जाता है. कई बार तो नई बीमारियां मरीज को घेर लेती हैं. इसीलिए सरकार इसको लेकर कई अहम जानकारियां दे रही है. स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय (Ministry of Health and Welfare Department of India) की ओर से जारी जानकारी में बताया गया है कि दवा के पैकेट पर लाल रेखा हो तो उस दवा का सेवन बिना डॉक्टरी परामर्श के न करें.

आइए जानें लाल पट्टी क्या मतलब होता है...

दवा की स्ट्रिप पर लाल निशान का क्या मतलब होता है- इसका मतलब यह है कि इस तरह की दवाएं डॉक्टर के पर्चे के बिना नहीं दी जा सकती.

>> कोई भी मेडिकल स्टोर वाला न तो इन दवाओं को बिना डॉक्टर के पर्चे के बेच सकता है और ना ही इसके इस्तेमाल की सलाह दे सकता है.

ये भी पढ़ें-बैंकों में पैसा डूबने का डर सता रहा तो यहां लगाएं पैसा, ज्यादा मुनाफे के साथ 100 फीसदी सुरक्षा!

>> एंटीबॉयोटिक दवाओं के गलत इस्तेमाल को रोकने के लिए दवाओं पर ये खास लाल रंग की पट्टी दी जाती है.



>> आपने अक्सर दवाओं के पैकेट पर Rx लिखा देखा होगा, लेकिन क्या कभी इसके बारे में सोचा है. दरअसल, जिन दवाओं पर Rx लिखा होता है उसे सिर्फ डॉक्टर की सलाह से लेना चाहिए.

>> अगर डॉक्टर पर्चे पर लिखकर दे, तभी वो दवा लेनी चाहिए, नहीं तो ये दवाएं आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकती हैं.

>> इस तरह की दवाओं को सिर्फ वही डॉक्टर सजेस्ट कर सकते हैं जिनके पास नशीली दवाओं का लाइसेंस प्राप्त है. बिना नशीली दवाओं के लाइसेंस वाले डॉक्टर या मेडिकल स्टोर वाले इस तरह की दवाएं बिल्कुल नहीं बेच सकते.

>> इस तरह की दवाओं को सिर्फ आप सीधे मेडिकल स्टोर से नहीं खरीद सकते. ये दवाएं वही डॉक्टर सजेस्ट करते हैं जिनके पास इन दवाओं को बेचने की अनुमति होती है. यानि ये दवाएं सिर्फ डॉक्टर ही आपको दे सकते हैं.

ये भी पढ़ें: 1 नवंबर से यहां बदल जाएगा बैंकों के खुलने और बंद होने का समय, जानिए क्या है नया टाइम टेबल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 19, 2019, 3:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...