मेडिकल स्टोर्स से दवा खरीदते वक्त जरूर चेक करें लाल निशान समेत ये चिन्ह, सरकार ने दी इसकी पूरी जानकारी

मेडिकल स्टोर्स से दवा खरीदते वक्त जरूर चेक करें लाल निशान समेत ये चिन्ह, सरकार ने दी इसकी पूरी जानकारी
ऐसी दवा खरीदने वालों का पूरा रिकॉर्ड रखा जाएगा. (प्रतीकात्मक)

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय (Ministry of Health and Welfare Department of India) की ओर से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर दी गई है. ट्वीट के जरिए बताया गया है कि दवा के पैकेट पर लाल रेखा हो तो उस दवा का सेवन बिना डॉक्टरी परामर्श के न करें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 20, 2020, 1:47 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. अक्सर कई लोग छोटी-मोटी बीमारी के लिए अपने पड़ोस वाले मेडिकल स्टोर्स (Medical Store) पर जाकर और बिना डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन (डॉक्टर से पूछे बिना) के दवा खरीदकर ले आते हैं. इसका कई बार सेहत पर उलटा असर होता है. कई बार तो नई बीमारियां भी मरीज को घेर लेती है. इन सभी चीजों को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार अक्सर लोगों को इससे जुड़ी कई बातों की जानकारिया देते हैं. ऐसी ही एक जानकारी स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय (Ministry of Health and Welfare Department of India) की ओर से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर दी गई है. ट्वीट के जरिए बताया गया है कि दवा के पैकेट पर लाल रेखा हो तो उस दवा का सेवन बिना डॉक्टरी परामर्श के न करें.

आइए जानें क्या होता है स्ट्रिप पर दी गई लाल पट्टी का मतलब और क्यों जरूरी हैं चिन्ह को देखकर दवा खरीदना...

(1) स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक, दवा की स्ट्रिप पर लाल निशान मतलब यह होता है कि इस तरह की दवाएं डॉक्टर के पर्चे के बिना नहीं दी जा सकती. जी हां, कोई भी मेडिकल स्टोर मालिक  न तो इन दवाओं को बिना डॉक्टर के पर्चे के बेच सकता है और ना ही इसके इस्तेमाल की सलाह दे सकता है.



(2) सरकार का कहना है कि एंटीबॉयोटिक दवाओं के गलत इस्तेमाल को रोकने के लिए दवाओं पर ये खास लाल रंग की पट्टी दी जाती है.

ये भी पढ़ें-सरकार ने दिया किसानों को तोहफा, किसान क्रेडिट कार्ड पर अब आसानी से मिल जाएंगे 3 लाख रुपए 

(3) इसके अलावा आपने अक्सर दवाओं के पैकेट पर Rx लिखा देखा होगा, लेकिन क्या कभी इसके बारे में सोचा है. दरअसल, जिन दवाओं पर Rx लिखा होता है उसे सिर्फ डॉक्टर की सलाह से लेना चाहिए.अगर डॉक्टर पर्चे पर लिखकर दे, तभी वो दवा लेनी चाहिए, नहीं तो ये दवाएं आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकती हैं. इस तरह की दवाओं को सिर्फ वही डॉक्टर सजेस्ट कर सकते हैं जिनके पास नशीली दवाओं का लाइसेंस प्राप्त है.

(4) बिना नशीली दवाओं के लाइसेंस वाले डॉक्टर या मेडिकल स्टोर वाले इस तरह की दवाएं बिल्कुल नहीं बेच सकते. इस तरह की दवाओं को सिर्फ आप सीधे मेडिकल स्टोर से नहीं खरीद सकते. ये दवाएं वही डॉक्टर सजेस्ट करते हैं जिनके पास इन दवाओं को बेचने की अनुमति होती है. यानि ये दवाएं सिर्फ डॉक्टर ही आपको दे सकते हैं.
First published: February 20, 2020, 1:36 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading