EXCLUSIVE: पीएनबी के अलावा कई बैंक फ्रॉड में शामिल, बिना सिक्युरिटी नीरव मोदी को मिला था लोन

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, फ्रॉड में यूनियन बैंक, एक्सिस बैंक, अलाहाबाद बैंक और कई ओवरसीज बैंक शामिल हैं. वित्त मंत्रालय ने इस मामले में ईडी से रिपोर्ट भी मांगी है.

News18Hindi
Updated: February 15, 2018, 2:39 PM IST
EXCLUSIVE: पीएनबी के अलावा कई बैंक फ्रॉड में शामिल, बिना सिक्युरिटी नीरव मोदी को मिला था लोन
पीएनबी बैंक ने बिना किसी सिक्युरिटी के नीरव मोदी को लोन दिया.
News18Hindi
Updated: February 15, 2018, 2:39 PM IST
पीएनबी फ्रॉड मामले में नई जानकारियां सामने आ रही हैं. ईडी सूत्रों ने CNBC-TV18 को बताया कि अनाधिकृत ट्रांजेक्शन के  इस मामले में पंजाब नेशनल बैंक के अलावा कई अन्य बैंक शामिल हैं. सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, फ्रॉड में यूनियन बैंक, एक्सिस बैंक, अलाहाबाद बैंक और कई ओवरसीज बैंक शामिल हैं. इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि यह फ्रॉड 11 हजार करोड़ रुपये से कहीं ज्यादा हो सकता है. वित्त मंत्रालय ने इस मामले में ईडी से रिपोर्ट भी मांगी है.

ईडी सूत्रों ने CNBC-TV18 को बताया कि यूनियन बैंक ने 2300 करोड़ रुपये और अलाहाबाद बैंक ने 2000 करोड़ रुपये का लोन दिया था. नीरव मोदी और उनके सहयोगियों को यह लोन दिया गया था. यह भी सामने आया है कि कि नीरव मोदी ने कई शेल कंपनियों के जरिए लोन लिए.

सूत्रों ने यह भी बताया कि पीएनबी बैंक ने बिना किसी सिक्युरिटी के नीरव मोदी को लोन दिया. बैंक के कई अधिकारी नीरव मोदी के सहयोगियों के साथ संपर्क में थे.

ये भी पढ़ें: PNB घोटाला: वित्त मंत्री ने ईडी से मांगी रिपोर्ट, FIR से पहले नीरव मोदी ने छोड़ा देश

नीरव मोदी के दफ्तर और घर पर ईडी की जांच
फिलहाल ईडी की टीम नीरव मोदी के घर, शोरूम और दफ्तरों में सर्च अभियान में लगी हैं और दस्‍तावेज खंगाल रही हैं. प्रवर्तन निदेशालय ने यह मामला इस महीने की शुरुआत में दर्ज हुई सीबीआई की प्राथमिकी के आधार पर दर्ज किया है.

कौन है नीरव मोदी?
इस घोटाले के आरोपी 48 वर्षीय मोदी मशहूर डायमंड ब्रोकर हैं. अमेरिका के मशहूर वार्टन स्कूल के ड्रॉप आउट मोदी के नाम से उनका ज्वैलरी ब्रांड इतना मशहूर है कि उसके दम पर वे फोर्ब्स के भारतीय धनकुबेरों की 2017 की लिस्‍ट में 84वें नंबर पर पहुंच गए थे. वे 1.73 अरब डॉलर यानी लगभग 110 अरब रुपये के मालिक हैं और उनकी कंपनी का राजस्व 2.3 अरब डॉलर यानी लगभग 149 अरब रुपये है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर