होम /न्यूज /व्यवसाय /iPhone निर्माता Apple चीन से बोरिया-बिस्तर समेटने की कर रहा तैयारी, जानिए क्यों उत्पादन बंद करना चाहती है कंपनी

iPhone निर्माता Apple चीन से बोरिया-बिस्तर समेटने की कर रहा तैयारी, जानिए क्यों उत्पादन बंद करना चाहती है कंपनी

Apple

Apple

आईफोन निर्माता Apple चीन से अपने उत्पादन को दूसरे देश में ट्रांसफर करने पर विचार कर रही है. बढ़ते भू-राजनीतिक तनाव और ल ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. आईफोन निर्माता Apple चीन से अपने उत्पादन को दूसरे देश में ट्रांसफर करने पर विचार कर रही है. बढ़ते भू-राजनीतिक तनाव और लॉकडाउन के बीच दिग्गज टेक कंपनी चीन में अपना उत्पादन बंद करना चाहती है. वह 2025 तक मैक, आईपैड, एपल वॉच और एयरपॉड समेत कुल एपल उत्पादों का 25 फीसदी उत्पादन चीन से बाहर कर सकती है. वर्तमान में कंपनी 5 फीसदी उत्पाद चीन से बाहर बनाती है.

Apple ने अपने कई अनुबंध निर्माताओं को निर्देश दिया है कि वह चीन के बाहर उत्पादन बढ़ाना चाहता है. वॉल स्ट्रीट जर्नल के अनुसार, पता चलता है कि ऐप्पल भारत और वियतनाम में अपना कारोबार स्थापित करने संभावनाओं पर विचार और अध्ययन कर रहा है.

ये भी पढ़ें: Fixed Deposit Calculator: ₹1 लाख की एफडी पर मिलेगा ₹27,760 ब्याज, इस बैंक ने दिया ऑफर 

चीन में Apple के कई प्रोड्क्ट का उत्पादन
भारत और वियतनाम में फिलहाल ऐप्पल के वैश्विक उत्पादन की बहुत ही कम हिस्सेदारी है. अनुमानों के अनुसार, स्वतंत्र निर्माता चीन में 90 प्रतिशत से अधिक ऐप्पल उत्पादों जैसे आईफोन (iPhones), आईपैड (iPads) और मैकबुक (MacBook) कंप्यूटरों का निर्माण करते हैं.

इस शहर में आईफोन का प्रोडक्शन पूरी तरह से ठप
चीन के शहर झेंग्झौ में उथल-पुथल ने Apple की पारी को आगे बढ़ाने में मदद की. झेंग्झौ जहां पूरी दुनिया के 70 प्रतिशत से ज्यादा आईफोन का निर्माण किया जाता है. यहां फॉक्सकॉन की फैक्ट्री बंद है और आईफोन का प्रोडक्शन पूरी तरह से ठप है.

ये भी पढ़ें: Electoral Bonds: इलेक्टोरल बॉन्ड की 24वीं किस्त को सरकार ने दी मंजूरी, 5 दिसंबर से शुरू होगी बिक्री

मार्केट-रिसर्च फर्म काउंटरपॉइंट रिसर्च के अनुसार, एक समय में, यह अकेले iPhones के प्रो लाइनअप का लगभग 85% हिस्सा बनाता था. फॉक्सकॉन के स्वामित्व वाले कारखाने में हाल ही में बड़े पैमाने पर श्रमिकों के विरोध की खबरें आई थीं. Apple iPhone उत्पादन के लिए फॉक्सकॉन की झेंग्झौ फैक्ट्री काफी अहम है.

भारत को अगले चीन के रूप में देखता है Apple 
विश्लेषकों के अनुसार, बीजिंग के दमनकारी कम्युनिस्ट शासन और अमेरिका के साथ उसके संघर्षों के चलते, Apple की चीन पर निर्भरता को एक संभावित खतरा है. हालांकि, वॉल स्ट्रीट जर्नल ने जब एपल के प्रवक्ता से संपर्क किया, तो उन्होंने कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया. Apple के मैन्युफैक्चरिंग योजना से जुड़े लोगों के अनुसार, कंपनी बड़ी जनसंख्या और कम लागत के चलते भारत को अगले चीन के रूप में देखता है.

Tags: Apple, Apple Iphone 13, China, Chinese Apple

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें