• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • घर खरीदने के लिए कहां मिल रहा सबसे सस्ता लोन? यहां पढ़ें बैंकों की ब्याज दरें, EMI समेत अन्य जरूरी जानकारी

घर खरीदने के लिए कहां मिल रहा सबसे सस्ता लोन? यहां पढ़ें बैंकों की ब्याज दरें, EMI समेत अन्य जरूरी जानकारी

Home Loan: कम से कम 16 बैंक और हाउसिंग फाइनेंस कंपनियां 7 प्रतिशत से कम ब्याज दरों पर 75 लाख रुपये का होम लोन दे रही हैं.

Home Loan: कम से कम 16 बैंक और हाउसिंग फाइनेंस कंपनियां 7 प्रतिशत से कम ब्याज दरों पर 75 लाख रुपये का होम लोन दे रही हैं.

Home Loan: कम से कम 16 बैंक और हाउसिंग फाइनेंस कंपनियां 7 प्रतिशत से कम ब्याज दरों पर 75 लाख रुपये का होम लोन दे रही हैं.

  • Share this:

    नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) ने लोगों को समझा दिया कि अपना घर होना कितना जरूरी है. जब लोगों के पास नौकरियां नहीं थी तब भी उन्हें किराया देना पड़ रहा था. ऐसे में लोगों को लगा कि अपना घर होता तो कम से कम मुश्किल को दौर में भी किराए की चिंता नहीं होती. इसी के चलते महामारी के बाद से लोग अपना घर लेने में ज्यादा दिलचस्पी दिखा रहे है. घर लेने के लिए अधिकतर लोग लोन (Home Loan) लेते हैं. इसलिए अगर आप भी घर लेने का प्लान कर रहे हैं तो आज हम आपको बताएंगे कि कितना ब्याज दर और  EMI लगेगा.

    जानें इन बैंकों की ब्याज दरें
    कई बैंक है जो आपको कम ब्याज दरों में भी लोन ऑफर करने के लिए तैयार है. Bankbazaar.com के आंकड़ों के अनुसार, कम से कम 16 बैंक और हाउसिंग फाइनेंस कंपनियां 7 प्रतिशत से कम ब्याज दरों पर 75 लाख रुपये का होम लोन देती हैं. इन उधारदाताओं में, निजी क्षेत्र के बैंक कोटक महिंद्रा (Kotak Mahindra Bank) और सरकार के स्वामित्व वाली पंजाब एंड सिंध (Punjab & Sind Bank) 6.65 प्रतिशत से शुरू होने वाली ब्याज दरों के साथ सबसे सस्ता होम लोन प्रदान करते हैं.

    ये भी पढ़ें- 6 करोड़ नौकरीपेशा को मिलेगी बड़ी खुशखबरी! PF खाते में आएंगे 8.5% ब्याज के पैसे, इस नंबर पर दें मिस्ड कॉल

    अगर आप भी अपना घर खरीदने का प्लान कर रहे है, तो यहां देखें  ब्याज दरें, EMI की पूरी जानकारी… 

    होम लोन दरें 6.49-6.95 प्रतिशत रेंज पर
    बैंकबाजार के अनुसार, सितंबर 2019 में, सबसे कम होम लोन की दरें 8.40 प्रतिशत के क्षेत्र में थीं. अब, जुलाई 2021 में सबसे कम होम लोन दरें 6.49-6.95 प्रतिशत रेंज में हैं. मार्च और मई 2020 में भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा RLLR के साथ-साथ संचयी 115 आधार बिंदु दर की शुरुआत के कारण दरों में गिरावट आई है.

    ये भी पढ़ें- SSY: सरकारी बैंक में सिर्फ ₹250 देकर खुलवाएं बेटी के नाम ये खाता, मेच्योरिटी पर मिलेंगे ₹15 लाख, टैक्स में भी छूट

    दरअसल भारतीय रिजर्व बैंक के रेपो दर को एक वर्ष से अधिक के लिए 4% के निचले स्तर पर अपरिवर्तित रखने के निर्णय से कई बैंकों को अपनी सावधि जमा ब्याज दरों को कम करने में योगदान दिया है जिससे निवेशकों का मनोबल गिर रहा है. हालांकि, इस कम रेपो प्रवृत्ति ने कई बैंकों को अपने फ्लोटिंग होम लोन की ब्याज दरों को कई दशक के निचले स्तर तक कम करने के लिए प्रेरित किया है, खासकर अक्टूबर 2019 के बाद से जब केंद्रीय बैंक ने सभी बैंकों को अपने ऋणों को बाहरी रूप से बेंचमार्क करने का निर्देश दिया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज