ग्रेच्युटी की सीमा बढ़कर 20 लाख हुई, जेटली ने कहा- इन कर्मचारियों को होगा फायदा

अंतरिम बजट में सरकार ने 5 साल के बाद नौकरी छोड़ने पर मिलने वाली अधिकतम 10 लाख रुपये की राशि को बढ़ाकर अधिकतम 20 लाख रुपये कर दिया था.
अंतरिम बजट में सरकार ने 5 साल के बाद नौकरी छोड़ने पर मिलने वाली अधिकतम 10 लाख रुपये की राशि को बढ़ाकर अधिकतम 20 लाख रुपये कर दिया था.

अंतरिम बजट में सरकार ने 5 साल के बाद नौकरी छोड़ने पर मिलने वाली अधिकतम 10 लाख रुपये की राशि को बढ़ाकर अधिकतम 20 लाख रुपये कर दिया था.

  • Share this:
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार को कहा कि टैक्स-फ्री ग्रेच्युटी की सीमा को 20 लाख रुपये करने के फैसले से सार्वजनिक और निजी सेक्टर के कर्मचारियों को फायदा होगा. बता दें कि अंतरिम बजट में सरकार ने 5 साल के बाद नौकरी छोड़ने पर मिलने वाली अधिकतम 10 लाख रुपये की राशि को बढ़ाकर अधिकतम 20 लाख रुपये कर दिया था. (ये भी पढ़ें: PM किसान सम्मान योजना: इन लोगों से 2000 रुपये वापस लेगी सरकार, मोदी सरकार ने दिए निर्देश)

जेटली ने ट्विटर पर लिखा, आयकर अधिनियम की धारा 10 (10) (iii) के तहत ग्रेच्युटी के लिए इनकम टैक्स छूट को बढ़ाकर 20 लाख रुपये कर दिया गया है. उन्होंने कहा सभी पीएसयू कर्मचारियों और अन्य कर्मचारियों को पेमेंट ऑफ ग्रेच्युटी एक्ट से कवर नहीं किया जाएगा.

संसद ने पिछले साल पेमेंट ऑफ ग्रैच्युटी (अमेंडमेंट) बिल, 2018 पारित किया, जिससे सरकार को कर मुक्त ग्रेच्युटी की सीमा को बढ़ाकर 20 लाख रुपये करने का मौका मिला.





ये भी पढ़ें: अब आधार दिए बिना भी कर सकते हैं ये तीन काम, जानें यहां!

ये भी पढ़ें: PNB ने शुरू की खास फिक्सड डिपॉजिट स्कीम, जानें क्या है 111/222/333 दिन का प्लान!

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज