सोना देगा मालामाल बनने का मौका! 52,000 रुपये तक पहुंच सकता है 10 ग्राम का भाव

सोना देगा मालामाल बनने का मौका! 52,000 रुपये तक पहुंच सकता है 10 ग्राम का भाव
बिहार के अररिया जिले के तालाब की सफाई के दौरान मिला सोना. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इस साल लॉकडाउन (Lockdown) की वजह फिजिकल गोल्ड (Gold) की मांग नहीं है. पिछले साल अक्षय तृतीया पर करीब 35 सोने की बिक्री हुई थी. मौजूदा वैश्विक परिस्थिति को देखते हुए गोल्ड के भाव में बड़ी तेजी देखने को मिल रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2020, 4:15 PM IST
  • Share this:
नई​ दिल्ली. अक्षय तृतीया (Akshay Tritiya) के मौके पर सोना खरीदना शुभ माना जाता है. कहा जाता है कि अक्षय तृतीया के दिन सोना खरीदने से एक समृद्ध साल की शुरुआत होती है. लेकिन फिलहाल देशभर में लॉकडाउन की वजह से परिस्थिति बिल्कुल अलग है. इस बार कोई भी ग्राहक ज्वेलरी शॉप्स से फिजिकल रूप में गोल्ड (Physical Gold) नहीं खरीद पा रहा है. 2019 में अक्षय तृतीया के दिन करीब 33 से 35 टन सोने की बिक्री हुई थी. अब हालात इसके बिल्कुल उलट है. पिछले दो महीनों के दौरान भारत में गोल्ड इंपोर्ट में 73 फीसदी तक की गिरावट देखने को मिली है. मार्च 2020 में भारत में केवल 25 टन सोना आयात किया गया. मार्च 2019 में यह आंकड़ा 94 टन का था.

अक्षय तृतीया पर eGold से काम चला रहे हैं लोग
हालांकि, आज के डिजिटल दुनिया में ऐसा नहीं है कि घरों के अंदर कैद लोगों को अक्षय तृतीया के इस मौके पर गोल्ड खरीदने का मौका नहीं मिल रहा है. उनके किसी एक्सचेंज से गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF), सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (SGB) या आनलाइन गोल्ड क्वाइन, बार या ज्वेलरी खरीदने का विकल्प मिल रहा है. गोल्ड की सबसे खास बात है कि आज के समय में जब अन्य निवेश पर बेहद ​कम रिटर्न मिल रहा है, तब ऐसे गोल्ड में निवेश करना सबसे सुरक्षित विकल्प माना जाता है.

यह भी पढ़ें: COVID-19 के बाद बदल जाएगा इकोनॉमी क्लास में ट्रैवल का अंदाज, क्या होंगे बदलाव
47 फीसदी तक बढ़े गोल्ड के दाम


कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) से पैदा आर्थिक अनिश्चित्तता को देखते हुए दुनियाभर में गोल्ड की मांग बढ़ गई है. सोना की कीमतें पिछले साल अक्षय तृतीया की तुलना में इस साल तक 47 फीसदी तक की तेजी आई है. पिछले साल इस दौरान 10 ग्राम सोना का भाव करीब 31,500 रुपये था, वो अब बढ़कर 46,500 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर पहुंच गया है. जानकारों का कहना है कि मांग बढ़ने से आगे भी कीमतों में तेजी जारी रहेगी.

52 हजार तक पहुंच सकता है भाव
एक्सपर्ट्स का कहना है कि वैश्विक परिस्थिति को देखते हुए आने वाले कुछ महीनों के दौरान गोल्ड का भाव 52,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक पहुंच सकता है. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में यह भाव 2,000 डॉलर प्रति ट्राय आउंस के स्तर पर पहुंच सकता है. हालांकि, रुक-रुक कर इसमें करेक्शन भी देखने को मिलेगा.

यह भी पढ़ें: PNB-OBC-UBI ग्राहकों के लिए बड़ी खबर, को लेनदेन से जुड़ी सर्विस में हुआ बदलाव

बीते एक साल कीमती धातुओं के भाव में तेजी
मनीकंट्रोल ने अपनी एक रिपोर्ट में मोतिलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज नवनीत दमानी के हवाले से लिखा है कि निकद भविष्य में सोने के भाव में करेक्शन देखने को मिल सकता है लेकिन मध्यावधि में इसमें तेजी जारी रहेगी. उन्होंने कहा कि अगले 12 महीनों में घरेलू बाजार में सोना का भाव 52,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक पहुंच सकता है. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में यह 2,000 डॉलर प्रति आउंस के स्तर तक पहुंच सकता है. दमानी ने बताया कि गोल्ड पर मिलने वाला रिटर्न आने वाले दिनों में महंगाई झेलने में मदद कर सकता है. जब भी बाजार में ऐसी कोई स्थिति आती है जब निवेशक किसी जोखिम वाले विकल्प से निकलना चाहते हैं तो वो गोल्ड में निवेश करना शुरू कर देते हैं. पिछले एक साल के दौरान कीमती धातुओं में तेजी देखने को मिली है.

करेक्शन के बाद बना सकत हैं निवेश की रणनीति
एंजेल ब्रोकिंग के अनुज गुप्ता का कहना है कि वैश्विक बाजार में अनिश्चित्तता और आर्थिक ग्रोथ के अनुमान को देखते हुए गोल्ड ट्रेंड पॉजिटिव नजर आ रहा है. गुप्ता ने कहा, 'सेफ हेवेन डिमांड हमेशा गोल्ड प्राइस को सपोर्ट करता है. इस बार सोना उच्चतम स्तर पर ट्रेड कर रहा है. हाल में यह 47,327 रुपये प्रति 10 ग्राम के सबसे उच्चतम स्तर पर पहुंचा था. टेक्नीकली इसमें 38,000 से 40,000 रुपये तक करेक्शन देखने को मिल सकता है. इस स्तर पर खरीदने के बाद 50 से 52 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम पहुंचने तक का इंतजार किया जा सकता है.'

यह भी पढ़ें: प्रॉविडेंट फंड से 1 लाख रुपये निकालने पर हो सकता है 11.55 लाख का नुकसान!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज