अपना शहर चुनें

States

अगर आपके पास आया है ये मेसेज तो अब आप नहीं कर पाएंगे अपने Debit-Credit Card से लेनदेन


पैसों की है किल्लत तो भी Credit Card से नहीं चुकाएं घर का किराया, जानिए क्यों?
पैसों की है किल्लत तो भी Credit Card से नहीं चुकाएं घर का किराया, जानिए क्यों?

अब बैंक ग्राहकों को मैसेज कर ये बता रहे हैं कि बैंक ने आपके डेबिट-क्रेडिट कार्ड से कई सर्विस बंद कर दी हैं. अगर आपको भी आया है ये मैसेज तो चेक कर लें की बैंक ने आपकी कौन-कौन सर्विस बंद कर दी हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 18, 2020, 7:22 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने आज से क्रेडिट और डेबिट कार्ड (Credit-Debit Card) के नियम बदल दिए हैं. RBI ने डेबिट और क्रेडिट कार्ड से होने वाले ट्रांजैक्शंस को पहले से ज्यादा आसान और सुरक्षित बनाने के उद्देश्य से दोनों कार्ड को इश्यू/रीइश्यू करने के लिए नए नियम जारी किए हैं. इसके बाद अब बैंक ग्राहकों को मैसेज कर ये बता रहे हैं कि बैंक ने आपके डेबिट-क्रेडिट कार्ड से कई सर्विस बंद कर दी हैं. अगर आपको भी आया है ये मैसेज तो चेक कर लें की बैंक ने आपकी कौन-कौन सर्विस बंद कर दी हैं.



आपको बताते हैं कि बैंक आपकी कौन सी सुविधाएं बंद कर सकता है..



>> जिन लोगों के पास अभी कार्ड है, उन्हें तय करना होगा कि वे अपने डोमेस्टिक और इंटरनैशनल कार्ड के ट्रांजैक्शन को डिसेबल करना चाहते हैं या नहीं. यानी अगर आप चाहें तो अपने डेबिट या क्रेडिट कार्ड पर इन सुविधाओं को डिसेबल भी कर सकते हैं.
>> अगर आपने क्रेडिट और डेबिट कार्ड से 16 मार्च 2020 तक ऑनलाइन या कॉन्टैक्टलेस ट्रांजैक्शन नहीं किया तो यह सुविधा बंद हो जाएगी. इस सुविधा को जारी रखने के लिए जरूरी है कि हर डेबिट और क्रेडिट कार्ड से 16 मार्च से पहले कम से कम एक बार ऑनलाइन और कॉन्टैक्टलेस ट्रांजैक्शन कर लिया जाए. इसको लेकर रिजर्व बैंक की तरफ से 15 जनवरी को नोटिफिकेशन जारी किया गया था.

>> बैंकों को कार्डधारक को पीओएस/एटीएम/ऑनलाइन ट्रांजैक्शंस/कॉन्टैक्टलेस ट्रांजैक्शंस के लिए ट्रांजैक्शंस लिमिट में डोमेस्टिक और इंटरनैशनल दोनों के लिए ही बदलाव करने की सुविधा देनी होगी. इसके साथ ही बैंकों को कार्ड को स्वीच ऑफ और स्वीच ऑन करने की भी सुविधा देनी होगी.

>> यूजर्स चौबीस घंटे सातों दिन किसी भी समय अपने कार्ड को ऑन/ऑफ कर सकते हैं या ट्रांजैक्शंस लिमिट में बदलाव कर सकते हैं. इसके लिए वे मोबाइल ऐप या इंटरनेट बैंकिंग या एटीएम या आईवीआर का सहारा ले सकते हैं.

>> आरबीआई ने बैंकों से कहा है कि वे डेबिट-क्रेडिट कार्ड इश्यू/रीइश्यू करते समय उन्हें केवल देश में एटीएम और प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) टर्मिनल्स पर ट्रांजैक्शन के लिए ऐक्टिवेट करें. नए नियम के अनुसार, अब ग्राहक डेबिट और क्रेडिट कार्ड का सिर्फ एटीएम और पीओएस टर्मिनल पर इस्तेमाल कर सकेंगे.

ये भी पढ़ें: LIC ने लॉन्च की एक और खास स्कीम: सिर्फ 11 रुपये रोजाना देकर पाएं ये बड़े फायदे

>> अगर ग्राहक को विदेश में ट्रांजैक्शंस, ऑनलाइन ट्रांजैक्शंस तथा कॉन्टैक्टलेस ट्रांजैक्शंस की सेवा चाहिए तो उसे ये सुविधाएं अपने कार्ड पर अलग से लेनी होंगी. इसका मतलब यह है कि अगर आपको विदेश में या ऑनलाइन या कॉन्टैक्टलेस ट्रांजैक्शंस की सुविधा चाहिए तो आपको यह सेवा अलग से लेनी होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज