इंडिया की GDP ग्रोथ को लेकर ADB ने लगाया ये अनुमान, जानें कोरोना संकट में किस रफ्तार से होगा विकास?

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

Asian Development Bank ने बुधवार को कहा कि चालू वित्त वर्ष में भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian Economy) 11 प्रतिशत की दर से बढ़ेगी. इसके साथ ही आर्थिक सुधारों पर कोविड के खतरे को लेकर चेतावनी भी दी है.

  • Share this:
नई दिल्ली: एशियाई विकास बैंक (Asian Development Bank) ने बुधवार को कहा कि चालू वित्त वर्ष में भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian Economy) 11 प्रतिशत की दर से बढ़ेगी, लेकिन साथ ही आगाह किया कि देश में कोविड-19 संक्रमण (Covid-19) के बढ़ते मामलों से आर्थिक सुधार के लिए जोखिम पैदा हो सकते हैं. बता दें व्यापक वैक्सीन अभियान के बीच 31 मार्च 2022 को समाप्त होने वाले वित्त वर्ष के दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था के 11 प्रतिशत की दर से बढ़ने की उम्मीद है.

एडीबी ने हालांकि कहा कि कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप के चलते देश में आर्थिक सुधार की गति जोखिम में पड़ सकती है. रिपोर्ट में कहा गया कि इसके अगले साल भारत की जीडीपी वृद्धि दर सात प्रतिशत रह सकती है. रिपोर्ट में आगे कहा गया कि दक्षिण एशिया का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) 9.5 प्रतिशत की दर से बढ़ सकता है, जबकि पिछले साल इसमें छह प्रतिशत की गिरावट हुई थी.

यह भी पढ़ें: Gold Price Today: आज फिर सस्ता हो गया सोना-चांदी, खरीदने से पहले चेक करें कितना गिरा भाव

जानें क्या है अर्थशास्त्री का कहना
मुख्य अर्थशास्त्री का कहना है कि "इस क्षेत्र में अर्थव्यवस्थाएं मार्ग परिवर्तन पर हैं. यह देखना होगा कि उनके प्रक्षेपवक्र घरेलू प्रकोपों की सीमा, उनके वैक्सीन रोलआउट की गति और वैश्विक रिकवरी से उन्हें कितना फायदा हो रहा है. रिपोर्ट के अनुसार, विकासशील एशिया में मुद्रास्फीति पिछले साल के 2.8 प्रतिशत से 2.3 प्रतिशत तक गिरने का अनुमान है, क्योंकि भारत और चीन के पीपुल्स रिपब्लिक में खाद्य मूल्यों पर प्रेशर है. 2022 में इस क्षेत्र की मुद्रास्फीति दर बढ़कर 2.7 प्रतिशत होने का अनुमान है.

ब्रोकरेज कंपनी मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के विश्लेषण के अनुसार हालांकि, पिछले साल अप्रैल-जून के दौरान सोना, जमीन आदि के रूप में रखी जाने वाली परिवार की भौतिक बचत कम होकर 5.8 प्रतिशत पर आ गई यह महामारी पूर्व स्तर का लगभग आधा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज