• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • मोदी सरकार की इस स्कीम से 5 साल में जुड़े 2 करोड़ लोग, मिलती है 5 हजार रुपये पेंशन

मोदी सरकार की इस स्कीम से 5 साल में जुड़े 2 करोड़ लोग, मिलती है 5 हजार रुपये पेंशन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अटल पेंशन योजना (APY) 9 मई 2015 को शुरू की थी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अटल पेंशन योजना (APY) 9 मई 2015 को शुरू की थी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अटल पेंशन योजना (APY) 9 मई 2015 को शुरू की थी. इस योजना का मुख्य लक्ष्य असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को पेंशन व्यवस्था के दायरे में लाना है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. सरकार की प्रमुख पेंशन योजना अटल पेंशन (Atal Pension scheme) के अंशधारकों की संख्या योजना शुरू होने के पांच साल में 2.2 करोड़ से ऊपर पहुंच गयी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अटल पेंशन योजना (APY) 9 मई 2015 को शुरू की थी. इस योजना का मुख्य लक्ष्य असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को पेंशन व्यवस्था के दायरे में लाना है. पेंशन कोष नियामक एवं विकास प्राधिकरण (PFRDA) ने कहा, एपीवाई का प्रदर्शन पिछले पांच साल में शानदार रहा. 9 मई 2020 को योजना के तहत पंजीकृत लोगों की संख्या बढ़कर 2,23,54,028 पहुंच गयी.

    2 करोड़ से ज्यादा लोग APY से जुड़े
    पीएफआरडीए के अनुसार पहले दो साल में लगभग 50 लाख अंशधारक इससे जुड़े और तीसरे साल में यह संख्या दोगुनी होकर एक करोड़ पर पहुंच गयी. वहीं चौथे साल में यह संख्या बढ़कर 1.50 करोड़ हो गयी. पिछले वित्त वर्ष में योजना से करीब 70 लाख अंशधारक जुड़े. पीएफआरडीए नई पेंशन व्यवस्था (NPS) के साथ पेंशन योजना की देखरेख करने वाली नोडल एजेंसी है. NPS सरकारी कर्मचारियों और संगठित क्षेत्र में काम करने वाले कामगारों की जरूरतों को पूरा करता है.

    ये भी पढ़ें- ये आठ स्पेशल ट्रेन चलेंगी आज, जानिए क्या है इनकी टाइमिंग और कहां-कहां रुकेंगी

    1,000 रुपये से 5,000 रुपये तक पेंशन की गारंटी
    अटल पेंशन योजना का मकसद खासकर असंगठित क्षेत्र में काम करने वालों को वृद्धावस्था में आय सुरक्षा प्रदान करना है. इसमें 60 साल की उम्र के बाद न्यूनतम पेंशन की गारंटी दी जाती है. पीएफआरडीए के अनुसार योजना पूरे देश भर में लागू की गयी है और इसमें पुरूष-महिला अनुपात 57:43 है. एपीवाई देश का कोई भी नागरिक 18 से 40 साल की उम्र में ले सकता है. योजना के लिये जरूरी है कि संबंधित व्यक्ति का बैंक में खाता हो. इसमें 60 साल की उम्र के बाद न्यूनतम 1,000 रुपये से 5,000 रुपये तक की पेंशन की गारंटी दी गयी है. योजना की खासियत यह है कि इसमें अंशधारक के निधन होने पर पेंशन उसके पति/पत्नी को दी जाती है. इतना ही नहीं दोनों के निधन के बाद पेंशन कोष में जमा राशि नामित व्यक्ति को दे दी जाती है.

    ये भी पढ़ें- बैंक जाने की जरुरत नहीं, किसी भी पोस्ट ऑफिस से निकाल सकते हैं पैसा, जानें कैसे?

    लॉकडाउन के बीच आज से शुरू होंगी कुछ ट्रेनें, यात्रा से पहले जान लें ये नियम नहीं तो होगी दिक्कत

    342 रुपये में मिलेगा​ ट्रिपल इंश्योरेंस कवर, जानिए आप कैसे ले सकते हैं मोदी सरकार की इस बीमा स्कीम का फायदा

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज