5 हजार रुपये पेंशन वाली इस सरकारी स्कीम के सब्सक्राइबर्स की संख्या 2.4 करोड़ के पार, जानें इसके फायदे

5 हजार रुपये पेंशन वाली इस सरकारी स्कीम के सब्सक्राइबर्स की संख्या 2.4 करोड़ के पार, जानें इसके फायदे
अटल पेंशन योजना के फायदे

Atal Pension Yojana: चालू वित्त वर्ष 2020-21 में 260 APY सर्विस प्रोवाइडर्स के जरिए 17 लाख से अधिक अटल पेंशन योजना खाते खोले गए. इसके तहत सिर्फ जीते जी ही नहीं, बल्कि मौत के बाद भी परिवार को मदद मिलती रहती है. सब्सक्राइबर की मृत्यु हो जाने की स्थिति में पति/पत्नी को यह पेंशन मिलती है. दोनों के नहीं होने पर पेंशन राशि नॉमिनी को प्रदान की जाती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 25, 2020, 3:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मोदी सरकार की ओर से शुरू की गई अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojana- APY) के सदस्यों की संख्या 2.4 करोड़ से अधिक हो गई है. वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान 260 एपीवाई सर्विस प्रोवाइडर्स के जरिए 17 लाख से अधिक APY खाते खोले गए हैं. इस तरह 20 अगस्त 2020 तक अटल पेंशन योजना के सब्सक्राइबर्स की संख्या 2.4 करोड़ को पार कर गई है. भारतीय स्टेट बैंक (SBI) और निजी क्षेत्र के बैंकों द्वारा अटल पेंशन योजना (APY) खाते खोले जा रहे हैं, जो नए APY नामांकन में भाग ले रहे हैं. बता दें कि 8 वर्ष से लेकर 40 वर्ष तक की आयु के लोग इस योजना से जुड़ सकते हैं. हालांकि, इस योजना का लाभ वे लोग ही उठा सकते हैं, जो इनकम टैक्स स्लैब से बाहर हैं.

पेंशन नियामकपेंशन फंड रेग्युलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (PFRDA) के मुताबिक, सार्वजनिक क्षेत्र की श्रेणी के तहत चालू वित्त वर्ष में, SBI ने अब तक सबसे ज्यादा APY खाते खोले हैं. जबकि निजी क्षेत्र में एक्सिस बैंक, आरआरबी में आर्यावृत बैंक (Aryavart Bank) और पेमेंट बैंक्स में एयरटेल पेमेंट बैंक ने सबसे अधिक खाते खोले हैं.

यह भी पढ़ें- बड़ी खुशखबरी-अब किसानों को मिलेगा 0% ब्याज पर 3 लाख रुपये का लोन



अटल पेंशन योजना के फायदे
Atal Pension Yojana के तहत सिर्फ जीते जी ही नहीं, बल्कि मौत के बाद भी परिवार को मदद मिलती रहती है. इस योजना के तहत सब्सक्राइबर को अपने योगदान के आधार पर 60 साल की आयु से न्यूनतम 1000 रुपये से 5 हजार रुपये तक प्रत्येक महीने पेंशन मिलती है. अगर 60 साल से पहले ही योजना से जुड़े किसी व्‍यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो फिर उसकी पत्नी इस योजना में पैसे जमा करना जारी रख सकती है और 60 साल के बाद हर महीने पेंशन पा सकती है. दूसरा विकल्‍प यह है कि उस व्‍यक्ति की पत्नी अपने पति की मौत के बाद एकमुश्त रकम का दावा कर सकती है. अगर पत्नी की भी मौत हो जाती है तो एक एकमुश्त रकम उनके नॉमिनी को दे दी जाती है.



PFRDA के मुताबिक, 20 अगस्त 2020 को योजना के कुल सब्सक्राइबर आधार में से करीब 73.38 फीसदी सब्सक्राइबर्स ने 1,000 रुपये पेंशन प्लान, 16.93 फीसदी ने 5,000 रुपये पेंशन प्लान को चुना. कुल सब्सक्राइबर्स में से 43.52 फीसदी महिला सब्सक्राइबर्स और 56.45 फीसदी पुरुष सब्सक्राइबर्स हैं. वहीं, 52.55 फीसद सब्सक्राइबर्स 21 से 30 साल की आयु के हैं.

अटल पेंशन योजना केंद्र सरकार की एक सोशल सिक्योरिटी स्कीम है. इस योजना के तहत, केंद्र सरकार असंगठित क्षेत्र (Unorganized Sector) में काम करने वाले लोगों को 1 हजार रुपये से लेकर 5 हजार रुपये प्रति महीने पेंशन देती है. 18 से 40 साल की उम्र का कोई भी व्यक्ति अटल पेंशन योजना अकाउंट (APY Account) खुलवा सकता है. इस सरकारी योजना की सबसे खास बात यह है कि जितनी जल्दी इस योजना में निवेश किया जाएगा, उतना ही फंड जमा होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज