1 लाख से अधिक रेहड़ी-पटरी वालों को मोदी सरकार ने दिए 10 हजार, ऐसे करें अप्लाई

1 लाख से अधिक रेहड़ी-पटरी वालों को मोदी सरकार ने दिए 10 हजार, ऐसे करें अप्लाई
50 लाख रेहड़ी-पटरी लगाने वाले को मिलेगा लोन

PM SVANidhi Scheme: पीएम स्वनिधि स्कीम के तहत अधिकतम 10 हजार रुपये तक का लोन मिलता है. यह कारोबार को शुरू करने में मदद करता है. यह बेहद आसान शर्तों के साथ दिया जाता है. यह एक तरह का अनसिक्‍योर्ड लोन है.

  • Last Updated: August 12, 2020, 8:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. रेहड़ी-पटरी, ठेले या सड़क किनारे दुकान चलाने वालों के लिए सरकार द्वारा शुरू की लोन स्कीम पीएम स्‍वनिधि योजना (PM SVANidhi Scheme) के तहत अब तक 5 लाख से ज्यादा आवेदन मिले हैं और 1,00,000 से अधिक स्वीकार किए गए हैं. बता दें कि पीएम स्वनिधि स्कीम के तहत अधिकतम 10 हजार रुपये तक का लोन मिलता है. यह कारोबार को शुरू करने में मदद करता है. यह बेहद आसान शर्तों के साथ दिया जाता है. यह एक तरह का अनसिक्‍योर्ड लोन है.

आवास और शहरी कार्य मंत्रालय ने एक जून, 2020 को पीएम स्वनिधि योजना शुरू की थी. इसका उद्येश्य कोविड-19 ‘लॉकडाउन’ के कारण प्रतिकूल रूप से प्रभावित हुए ठेले, खोमचे वालों को अपनी आजीविका फिर से शुरू करने के लिए किफायती दर पर कार्यशील पूंजी लोन प्रदान करना है.

यह भी पढ़ें- PM मोदी कल लांच करने वाले हैं Tax से जुड़ी नई योजना, ईमानदार करदाताओं को फायदा



पहचान पत्र नहीं रखने वाले रेहड़ी-पटरी वालों को भी मिलेगा कर्ज
अब वे रेहड़ी-पटरी, ठेले या सड़क किनारे दुकान चलाने वाले भी प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना का लाभ ले सकेंगे जिनके पास पहचान पत्र और विक्रय प्रमाण पत्र नहीं है. इस कर्ज को एक साल में मासिक किस्त में लौटाना होगा.

50 लाख रेहड़ी-पटरी लगाने वाले को मिलेगा लोन
प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि (Pradhan Mantri Street Vendor's AtmaNirbhar Nidhi- PM SVANidhi) योजना की शुरुआत 1 जून को की थी. इस योजना का मकसद कोविड-19 (COVID-19) की मार से प्रभावित रेहड़ी-पटरी वालों को अपनी आजीविका फिर शुरू करने के लिए सस्ता लोन उपलब्ध कराना है. इस योजना का लाभ इस साल 24 मार्च या उससे पहले रेहड़ी-पटरी लगाने वाले 50 लाख लोगों को मिलेगा.



कितना है ब्‍याज?
लोन की किस्तों को समय से चुकाने या समय से पहले चुकाने पर लाभार्थी को 7 फीसदी सालाना ब्याज में सब्सिडी दी जाएगी. इसके तहत, निर्धारित डिजिटल लेनदेन करने पर 1,200 रुपये तक का कैशबैक और लोन की अगली किश्त बढ़ाने के लिए पात्रता भी प्रदान की गई है. इस ब्याज सब्सिडी को उनके खाते में छमाही आधार पर डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (DBT) के माध्यम से जमा करा दिया जाएगा.

कैसे करें आवेदन?
सबसे पहले आवेदक को स्‍कीम की आधिकारिक वेबसाइट http://pmsvanidhi.mohua.gov.in/ पर जाना होगा. इसके बाद आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन पर होम पेज खुल जाएगा. इस होम पेज पर 'प्‍लानिंग टू अप्‍लाई फॉर लोन?' दिखाई देगा. इसमें 3 स्टेप को ध्यान से पढ़ कर 'व्‍यू मोर' पर क्लिक करें. ऐसा करने पर आपको तमाम नियम और शर्तें डिटेल में दिखाई देंगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज