भारत और ऑस्ट्रेलिया में चीनी को लेकर छिड़ सकता है ट्रेड वार, जानें पूरा मामला

ऑस्ट्रेलिया ने भारत पर आरोप लगाया कि भारत चीनी किसानों को लगातार सब्सिडी दे रहा है. लिहाजा वैश्विक स्तर पर चीनी का भंडार बढ़ गया है और कीमतें नीचे आ गई हैं.

News18Hindi
Updated: July 14, 2019, 2:45 PM IST
भारत और ऑस्ट्रेलिया में चीनी को लेकर छिड़ सकता है ट्रेड वार, जानें पूरा मामला
चीनी को लेकर भारत और ऑस्ट्रेलिया में हो सकता है ट्रेड वार
News18Hindi
Updated: July 14, 2019, 2:45 PM IST
अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वार अभी खत्म भी नहीं हुआ कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चीनी (Sugar) को लेकर एक नया ट्रेड वार छिड़ने की आशंका दिखने लगी है. दरअसल मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो ऑस्ट्रेलिया ने भारत पर आरोप लगाया कि भारत गन्ना किसानों को लगातार सब्सिडी दे रहा है. लिहाजा वैश्विक स्तर पर चीनी का भंडार बढ़ गया है और कीमतें नीचे आ गई हैं. ऐसे में ऑस्ट्रेलिया ने विश्व व्यापार संगठन (WTO) से एक समिति का गठन करके इसकी जांच करने की मांग की है.

ब्राजील और ग्वाटेमाला भी ऑस्ट्रेलिया के साथ


ऑस्ट्रेलिया का कहना है कि दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा चीनी उत्पादक भारत कहीं कृषि सब्सिडी संबंधी अपनी प्रतिबद्धताओं का उल्लंघन तो नहीं कर रहा है. इस मामले में ऑस्ट्रेलिया ने ब्राजील और ग्वाटेमाला को भी अपने पाले में कर लिया है. ऑस्ट्रेलिया ने ब्राजील और ग्वाटेमाला के साथ मिलकर डब्ल्यूटीओ से विवाद निपटान के लिए समिति बनाने को कहा है. ये भी पढ़ें: PAN कार्ड और आधार के बदल गए ये नियम, जान लें होगा फायदा



3.5 करोड़ टन तक पहुंचा चीनी का प्रोडक्शन
नवंबर 2018 के आंकड़ों के अनुसार, पिछले साल भारत में चीनी का उत्पादन बढ़ कर 3.5 करोड़ टन तक पहुंच गया था, जबकि भारत का औसत उत्पादन 2 करोड़ टन सालाना है. तब ऑस्ट्रेलिया ने कहा था कि अब हमारे सामने खुद के गन्ना किसानों और चीनी मिलों के हितों की रक्षा के लिए खड़े होने के अलावा कोई विकल्प नहीं है.

ये भी पढ़ें: IT डिपार्टमेंट का मैसेज, 50 लाख तक है सैलरी तो रिटर्न के लिए भरें ये फॉर्म
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...