ऑटो सेक्‍टर से मिल रहे इकोनॉमी के पटरी पर लौटने के संकेत, सितंबर में बिके 72% ज्‍यादा ई-व्‍हीकल

सितंबर 2020 में इलेक्ट्रिक 2-व्‍हीलर्स की बिक्री में शानदार बढ़ोतरी हुई है.
सितंबर 2020 में इलेक्ट्रिक 2-व्‍हीलर्स की बिक्री में शानदार बढ़ोतरी हुई है.

सोसायटी ऑफ मैन्युफेक्चरिंग ऑफ इलेक्ट्रिक व्हीकल (SMEV) के मुताबिक, पिछले साल के मुकाबले सितंबर 2020 में हाईस्पीड इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों (Electric 2-Wheelers) की बिक्री में 72 फीसदी का इजाफा हुआ है. जहां सिंतबर 2019 में 1,473 वाहनों का रजिस्‍ट्रेशन हुआ था, वहीं, सितंबर 2020 में ये संख्‍या बढ़कर 2,544 हो पहुंच गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2020, 7:02 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस (Coronavirus Crisis) और लॉकडाउन ने सभी सेक्टरों पर बुरा असर डाला. पहले से संकट की मार झेल रही ऑटो इंडस्ट्री (Auto Industry) पर वैश्विक महामारी की जबरदस्‍त मार पड़ी. लॉकडाउन (Lockdown) में ढील के साथ केंद्र और राज्य सरकारों ने धीरे-धीरे आर्थिक गतिविधियों को रफ्तार देनी शुरू की. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत जीडीपी का 10 फीसदी करीब 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की घोषणा की ताकि पटरी से उतर चुकी देश की अर्थव्यवस्था (Indian Economy) को वापस लाया जा सके. अब इन तमाम कोशिशों का असर दिखने लगा है.

सितंबर में बिके 2,544 इलेक्ट्रिक टू-व्‍हीलर्स
सोसायटी ऑफ मैन्युफेक्चरिंग ऑफ इलेक्ट्रिक व्हीकल (SMEV) के मुताबिक, पिछले साल के मुकाबले सितंबर 2020 में हाईस्पीड इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों की बिक्री में 72 फीसदी का इजाफा हुआ है. जहां सिंतबर 2019 में 1,473 वाहनों का रजिस्‍ट्रेशन हुआ था, वहीं, सितंबर 2020 में ये संख्‍या बढ़कर 2,544 हो पहुंच गई है. अप्रैल-सितंबर 2020 के दौरान इस सेक्टर ने काफी उथल-पुथल देखी. चालू वित्त वर्ष की शुरुआत ही अनिश्चितता के माहौल से हुई लेकिन अच्छी बात यह है कि अब इसका ग्राफ धीरे-धीरे बढ़ने लगा है. एसएमईवी के डायरेक्टर जनरल सोहिंद्र गिल ने उम्मीद जताई है कि त्‍योहारी सीजन में मांग बढ़ सकती है.

ये भी पढ़ें- Hero Pleasure Plus के प्लैटिनम ब्लैक एडिशन का हुआ खुलासा! जल्द होगी लॉन्च
कोरोना काल में 25 फीसदी कम हुई बिक्री


एसएमईवी की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल-सितंबर 2020 के दौरान 25 फीसदी कम हाई स्पीड इलेक्ट्रिक टू-व्‍हीलर्स बिके. चालू वित्त वर्ष के पहली छमाही में कुल 7,552 हाई स्पीड इलेक्ट्रिक टू-व्‍हीलर्स का रजिस्‍ट्रेशन किया गया, जबकि पिछले साल की इसी अवधि में कुल 10,161 वाहनों का पंजीकरण किया गया था. इलेक्ट्रिक वाहनों के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए हाल में केंद्र और राज्य सरकारों ने कई कदम उठाए हैं. फेम-2 को लेकर भी सरकार से कई उम्मीदें हैं.

ये भी पढ़ें : आम आदमी को झटका! महंगे हुए Honda के ये बाइक और स्कूटर, खरीदने से पहले यहां चेक करलें नए रेट्स

'बैटरियों पर जीएसटी घटाकर 5 फीसदी हो'
एसएमईवी का कहना है कि सब्सिडी के लिए दोपहिया वाहनों से रेंज क्राइटेरिया भी हटाया जाना चाहिए. अलग से बेची जाने वाली बैटरियों पर लगने वाली जीएसटी दर 18 फीसदी से घटाकर 5 फीसदी की जानी चाहिए. सेक्टर ने मांग की है कि केंद्र सरकार को स्वच्छ भारत कैंपेन के तहत इलेक्ट्रिक वाहनों के इस्तेमाल का संदेश देना चाहिए. हालांकि, सरकार के उस कदम का सेक्टर ने स्वागत किया, जिसके तहत अब बिना बैटरी के इलेक्ट्रिक वाहन बेचे जा सकते हैं. पीएमपी गाइडलाइंस की वजह से भी इलेक्ट्रिक वाहनों के उत्पादन में बढ़ोतरी होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज