अपना शहर चुनें

States

सरकार यह उपाय कर ले तो आधी कीमत में महज 2 महीनों में 50 करोड़ लोगों को लग सकता है कोरोना वैक्सीन, अजीम प्रेमजी ने बताया तरीका

प्राइवेट सेक्टर सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) से 300 रुपए प्रति डोज की दर से वैक्सीन प्राप्त कर सकता है
प्राइवेट सेक्टर सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) से 300 रुपए प्रति डोज की दर से वैक्सीन प्राप्त कर सकता है

सरकारी मशीनरी रोज चार लाख से कम लोगों को टीका दे पा रही है. यही काम यदि प्राइवेट सेक्टर को दे दिया जाए तो महज दो महीने में ही 50 करोड़ लोगों को काेरोना के टीके लग सकते हैं. देश के दिग्गज उद्योगपति और विप्रो के फाउंडर अजीम प्रेमजी ने यह सुझाव दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 22, 2021, 10:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मोदी सरकार ने जुलाई तक 30 करोड़ लोगों को कोरोना वैक्सीन की खुराक देने का लक्ष्य तय किया है. यानी रोज 20 लाख से ज्यादा लोगों को टीका देने की जरूरत है. लेकिन सरकारी मशीनरी रोज चार लाख से कम लोगों को टीका दे पा रही है. यही काम यदि प्राइवेट सेक्टर को दे दिया जाए तो महज दो महीने में ही 50 करोड़ लोगों को काेरोना के टीके लग सकते हैं. देश के दिग्गज उद्योगपति और विप्रो के फाउंडर अजीम प्रेमजी ने यह सुझाव दिया है.
बेंगलुरु चैम्बर ऑफ इंडस्ट्री एंड कॉमर्स ने एक पोस्ट बजट डिस्कशन सत्र आयोजित किया था. इसमें देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण भी शामिल हुई थीं. इसी कार्यक्रम में वित्त मंत्री के सामने विप्रो के फाउंडर चेयरमैन अजीम प्रेमजी ने वित्त मंत्री के सामने कहा कि कोविड-19 के खिलाफ चल रही लड़ाई में प्राइवेट सेक्टर को शामिल करके इसे ज्यादा प्रभावी बनाया जा सकता है.
यह भी पढ़ें : नौकरी की बात : दस साल में 100 करोड़ नौकरियों की स्किल बदल जाएंगी, इसलिए सीखें नई स्किल और करें रि-स्किलिंग

300 रुपए प्रति डोज पर मिल सकता है टीका
प्रेमजी ने कहा कि वैक्सीनेशन को ज्यादा प्रभावी बनाने के साथ-साथ टीके की लगात में भी कमी लाई जा सकती है. यदि सरकार जल्द ही प्राइवेट सेक्टर को इसमें शामिल करे तो हम निश्चित तौर पर 60 दिन में 500 मिलियन यानी 50 करोड़ लोगों को टीका लगा सकते हैं. यही नहीं, प्राइवेट सेक्टर सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) से 300 रुपए प्रति डोज की दर से वैक्सीन प्राप्त कर सकता है और हॉस्पिटल्स तथा प्राइवेट नर्सिंग होम प्रशासन इसे 100 रुपए में लगा देंगे. इस प्रकार महज 400 रुपए प्रति डोज की दर से टीकाकरण कर सकते हैं.
यह भी पढ़ें : सस्ते में मिलेगी रेलवे की जमीन, सरकार लाएगी नई न्यू लैंड पॉलिसी 



सीआईआई भी सहमत
सीआईआई (CII) के पूर्व प्रेसीडेंट डॉक्टर नौशाद फोर्ब्स ने कहा है कि 30 करोड़ लोगों के वैक्सीनेशन का लक्ष्य कोई छोटी बात नहीं है. लेकिन इसे तेजी से पूरा करना करने के लिए प्रक्रिया में प्राइवेट सेक्टर को सक्रिय करना होगा. सीआईआई ने सुझाव दिया है कि इंडस्ट्रीज को इस बड़े टीकाकरण अभियान में पूर्ण रूप से शामिल किया जाना चाहिए ताकि जरूरतमंदों तक समान रूप से टीके की पहुंच सुनिश्चित की जा सके. टाटा स्टील के एमडी और सीआईआई डेलीगेट के प्रेसीडेंट (वैक्सीन टास्क फोर्स) टीवी नरेन्द्रन ने कहा है कि इंडस्ट्री उचित नियंत्रण और संतुलन के साथ सरकार के टीकाकरण कार्यक्रम में पूरक हो सकती है और योगदान कर सकती हैं. कोटक महिन्द्रा बैंक के एमडी और सीईओ उदय कोटक इस समय कॉन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री (CII) के प्रेसीडेंट भी हैं. हाल ही में ऑल इंडिया मैनेजमेंट एसोसिएशन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि अपने लोगों का जल्द से जल्द टीकाकरण करा सकते हैं और एक नई यात्रा शुरू कर सकते हैं.
यह भी पढ़ें : खिलौनों से रोजगार के लिए 2300 करोड़ रुपए मंजूर, जानिए किन राज्यों में खुल रहे हैं खिलौने के मैन्युफैक्चरिंग क्लस्टर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज