लाइव टीवी

बाबा रामदेव ने मोदी सरकार की तारीफ, नोटबंदी और जीएसटी को लेकर कही ये बड़ी बातें

भाषा
Updated: January 14, 2020, 2:34 PM IST
बाबा रामदेव ने मोदी सरकार की तारीफ, नोटबंदी और जीएसटी को लेकर कही ये बड़ी बातें
बाबा रामदेव ने मोदी सरकार की तारीफ

आर्थिक सुस्ती (Economic Slowdown) से निपटने के लिये नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi Government) के मौजूदा कदमों की तारीफ करने के साथ योग गुरु रामदेव (Baba Ramdev) ने सोमवार को कहा कि अच्छी नीयत के साथ लाये गये.

  • Share this:
नई दिल्ली. आर्थिक सुस्ती (Economic Slowdown) से निपटने के लिये नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi Government) के मौजूदा कदमों की तारीफ करने के साथ योग गुरु रामदेव (Baba Ramdev) ने सोमवार को कहा कि अच्छी नीयत के साथ लाये गये. नोटबंदी और माल एवं सेवा कर (जीएसटी) जैसे सुधारों को देश पचा चुका है. उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा कि मोदी सरकार ने नोटबंदी, जीएसटी और अन्य जो भी आर्थिक सुधार किये, इनके पीछे सरकार की नीयत अच्छी थी. देश ने इन सुधारों को पचा लिया है.

रामदेव ने आर्थिक सुस्ती के सवाल पर कहा कि खुद प्रधानमंत्री ने हाल ही में इस आशय की बात कही है कि भारतीय अर्थव्यवस्था में बड़ी ताकत है और देश आर्थिक सुस्ती के दौर से उबर जायेगा. इसका मतलब यही होता है कि प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री ने (आर्थिक सुस्ती पर) आंखें बंद नहीं कर रखी हैं. सरकार ने उद्योगपतियों से सुझाव मांग कर आर्थिक सुस्ती से निपटने के लिये अपनी प्रतिबद्धता भी जतायी है.

ये भी पढ़ें: मोदी सरकार का नया प्लान! बीमारियों के इलाज के लिए 15 लाख रुपए तक की करेगी मदद

उन्होंने कहा कि हमें नकारात्मक चीजों का रोना रोते रहने के बजाय सोचना चाहिये कि देश आगे कैसे बढ़ेगा. देश को आगे बढ़ाना हम 125 करोड़ हिंदुस्तानियों की भी जिम्मेदारी है. अब खुद मोदी खेत में हल तो जोतेंगे नहीं या वह कोई कम्पनी तो चलायेंगे नहीं.

रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद ने दीवालिया प्रक्रिया से 4,350 करोड़ रुपये के भुगतान के जरिये इंदौर स्थित सोया उत्पाद निर्माता रुचि सोया का अधिग्रहण किया है. योग गुरु ने रुचि सोया और पतंजलि आयुर्वेद से जुड़े लोगों की साझी बैठक में शामिल होने के बाद बताया कि हमारी रुचि सोया में 5,000 करोड़ रुपये से ज्यादा की पूंजी लगाने की योजना है. इसमें 4,350 करोड़ रुपये की अधिग्रहण की रकम शामिल है जिसका विधिवत भुगतान पहले ही किया जा चुका है.

उन्होंने कहा कि रुचि सोया में अगले तीन से पांच साल के भीतर 50,000 करोड़ रुपये का कारोबारी लक्ष्य हासिल करने की क्षमता है. इस लक्ष्य को हासिल करने के लिये नये उत्पाद भी पेश किये जायेंगे. रामदेव ने यह भी बताया कि रुचि सोया ने अभी 50,000 हेक्टेयर क्षेत्र पर पाम के पौधे लगा रखे हैं. इस रकबे को अगले पांच साल में बढ़ाकर दो लाख हेक्टेयर पर पहुंचाया जायेगा.

ये भी पढ़ें: 25 हजार में शुरू करें ये खास बिजनेस, 1.40 लाख रुपये की कमाई होनी तय

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 2:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर