होम /न्यूज /व्यवसाय /इस नई हेल्थ बीमा पॉलिसी से विदेश में भी करा सकते हैं इलाज, जानें क्या हैं अन्य फायदे

इस नई हेल्थ बीमा पॉलिसी से विदेश में भी करा सकते हैं इलाज, जानें क्या हैं अन्य फायदे

कुछ पॉलिसी हैं जो ऐसे वक्त में बहुत काम आ सकती हैं.

कुछ पॉलिसी हैं जो ऐसे वक्त में बहुत काम आ सकती हैं.

बजाज आलियांज ने अपना 'ग्लोबल हेल्थ केयर' पॉलिसी को लॉन्च किया है, जो  भारत के साथ-साथ विदेशों में भी इलाज के लिए किया ग ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

हॉस्पिटलाइजेशन बिल और प्री एंड पोस्ट हॉस्पिटलाइजेशन चार्ज भी मिलता है.
रोड एंड एयर एंबुलेंस, आउट पेशेंट ट्रीटमेंट,और डे-केयर प्रोसीजर का पैसा मिलता है.
प्रोडक्ट के तहत देश और विदेश में इलाज पर आने वाला खर्च कवर होता है.

नई दिल्ली. एक रेगुलर हेल्थ बीमा पॉलिसी आमतौर पर केवल भारत में अस्पताल में भर्ती होने और इलाज कराने के लिए भुगतान करती है. अगर आप किसी बीमारी का इलाज विदेश में कराना चाहते हैं तो किसी रेगुलर पॉलिसी में यह सुविधा नहीं मिलती है. अक्सर पैसे वाले लोग अपना इलाज विदेशों में करवाना पसंद करते हैं. साथ ही कई ऐसी बीमारियां भी हैं, जिनका इलाज देश में नहीं है. इसकी वजह से कई बार लोगों को मजबूरी में इलाज के लिए विदेश जाना पड़ता है. हालांकि, कुछ पॉलिसी हैं जो ऐसे वक्त में बहुत काम आ सकती हैं.

मणिपालसिग्ना, केयर हेल्थ और आदित्य बिड़ला हेल्थ जैसी हेल्थ बीमा कंपनियां इन पॉलिसी के प्रीमियम वेरिएंट के जरिए अपनी घरेलू स्वास्थ्य नीतियों के तहत अंतरराष्ट्रीय कवरेज प्रदान करती हैं. हाल ही में बजाज आलियांज ने अपना ‘ग्लोबल हेल्थ केयर’ पॉलिसी को लॉन्च किया है, जो  भारत के साथ-साथ विदेशों में भी इलाज के लिए किया गया खर्च का भुगतान करता है.

ये भी पढ़ें- फेस्टिव सीजन में सोना-चांदी हुआ महंगा, चेक करें पूरे हफ्ते के सर्राफा मार्केट का हाल

बजाज आलियांज की ग्लोबल हेल्थ बीमा पॉलिसी के फायदे
बजाज आलियांज के ग्लोबल हेल्थ केयर प्रोडक्ट में ऐसे मरीजों का हॉस्पिटलाइजेशन बिल, प्री एंड पोस्ट हॉस्पिटलाइजेशन चार्ज, रोड एंड एयर एंबुलेंस, आउट पेशेंट ट्रीटमेंट, डे-केयर प्रोसीजर, लिविंग डोनर एक्सेस और मेंटल इलनेस के इलाज लिए पैसा मिल जाता है. आप इस पॉलिसी के इंपीरियल प्लान या इंपीरियल प्लस वेरिएंट में से किसी एक को चुन सकते हैं.

ये भी पढ़ें- इस दिवाली चीन को लगेगा 50 हजार करोड़ का झटका, मेकिंग इंडिया को मिलेगी मजबूती

अलग-अलग होती है सम इंश्योर्ड की लिमिट
ग्लोबल हेल्थ केयर प्रोडक्ट के तहत देश और विदेश में इलाज पर आने वाला खर्च कवर होता है. लेकिन, सम इंश्योर्ड की लिमिट अलग होती है. देश में इलाज के लिए आप 37.5 लाख से 3.75 करोड़ का सम इंश्योर्ड ले सकते हैं. विदेश में इलाज के लिए आप 1,00,000 से 10,00,000 डॉलर का सम इंश्योर्ड ले सकते हैं.

मिलती हैं कई तरह की फैसिलिटी
पॉलिसी लेने वाले इंडिया या विदेश में कहीं पर भी इलाज करा सकते हैं. इस पॉलिसी में पॉलिसी होल्डर के पास दुनियाभर में इलाज कराने का ऑप्शन है. साथ ही कुछ खास कवर भी इसमें मिलते हैं. इनमें रिहैबिलिटेशन, पैलिएटिव केयर और अगर मरीज बच्चा है तो उसके माता-पिता के विदेश में रहने का खर्च भी पुलिस में मिल जाता है.

Tags: Bajaj Group, Business news, Business news in hindi, Health Insurance, Insurance Company

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें