भारत के प्याज एक्सपोर्ट पर रोक लगाने से बांग्लादेश हुआ परेशान, एक दिन में ही दोगुने हुए दाम

बांग्लादेश के कई बड़े शहरों में प्याज के दाम दोगुने हो गए है.
बांग्लादेश के कई बड़े शहरों में प्याज के दाम दोगुने हो गए है.

भारत की ओर से अचानक प्याज पर लगाए गए प्रतिबंध से बांगल्देश में रहने वालों की परेशानियां बढ़ गई हैं. एक ही दिन में प्याज की खुदरा कीमत दोगुने से ज्यादा बढ़ गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 18, 2020, 11:35 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत के पड़ोसी देश बांग्लादेश (Bangladesh) ने बिना किसी सूचना के प्याज के एक्सपोर्ट पर प्रतिबंध लगाने के फैसले पर ‘‘गहरी चिंता’’ (Deep Concern) जताई है. बांग्लादेश के विदेश मंत्रालय (Ministry of Forgiven Affairs ) ने ढाका स्थित भारत के उच्चायोग के माध्यम से भेजे पत्र में कहा है कि 14 सितंबर 2020 को भारत सरकार द्वारा अचानक की गई घोषणा से दो मित्र देशों के बीच 2019 और 2020 में हुई चर्चाओं और इस दौरान बनी आपसी समझ को कमजोर किया गया है. आपको बता दें कि भारत सरकार ने सोमवार को घरेलू बाजार में प्याज की उपलब्धता बढ़ाने और कीमतों पर अंकुश लगाने के लिए प्याज की सभी किस्मों के निर्यात पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगा दिया था.

एक ही दिन में दोगुने हुए दाम- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बांग्लादेश के कई बड़े शहरों में प्याज के दाम दोगुने हो गए है. एक बांग्लादेशी प्याज आयातक पीटीआई को बताया कि अचानक लगाए गए प्रतिबंध से हमारी कई परेशानियां बढ़ गई हैं. भारत हमें प्याज का निर्यात करने वाला सबसे बड़ा देश है. एक ही दिन में प्याज की खुदरा कीमत 50 टका से बढ़कर 90 टका हो गई है. इसके आगे और बढ़ने की आशंका है.

प्याज को लेकर बांग्लादेश ने भारत को लिखा पत्र- बांग्लादेश की मीडिया को यह पत्र बुधवार की देर शाम उपलब्ध कराया गया. पत्र में प्याज के निर्यात को फिर से शुरू करने के लिए आवश्यक उपाय करने का अनुरोध किया गया है.



ये भी पढ़ें- 100 रुपये हुए टमाटर के दाम! क्यों एक महीने में दोगुने हुए आलू-प्याज समेत कई सब्जियों के दाम
पत्र में कहा गया है कि भारत के अचानक इस संबंध में घोषणा करने से बांग्लादेश के बाजार में आवश्यक खाद्य पदार्थों की आपूर्ति प्रभावित होगी.पत्र के मुताबिक, ढाका में 15-16 जनवरी, 2020 को हुई दोनों देशों के वाणिज्य मंत्रालयों की एक सचिव-स्तरीय बैठक में बांग्लादेश ने भारत से आवश्यक खाद्य वस्तुओं के निर्यात प्रतिबंध नहीं लगाने का अनुरोध किया गया था.

बांग्लादेश ने इस तरह के प्रतिबंध जरूरी होने पर भारत को समय से पहले उसे सूचित करने का अनुरोध भी किया है. इस मामले को बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने अक्टूबर 2019 में भारत की यात्रा के दौरान भी उठाया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज