लाइव टीवी

सनी लियोनी की फिल्म के चक्कर में हजारों लोगों ने गवाएं करोड़ों रुपए, जानिए क्या है पूरा मामला?

News18Hindi
Updated: February 20, 2020, 9:19 AM IST
सनी लियोनी की फिल्म के चक्कर में हजारों लोगों ने गवाएं करोड़ों रुपए, जानिए क्या है पूरा मामला?
हजारों लोगों ने गवाएं करोड़ों

ठगी करने के लिए जालसाज आजकल नए-नए तरीके लेकर आ रहे हैं. हाल ही में जालसाजी का एक नया मामला सामने आया है. यह मामला एक बॉलीवुड फिल्म से जुड़ा है और इस फिल्म की एक्ट्रेस थी सनी लियोनी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 20, 2020, 9:19 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ठगी करने के लिए जालसाज आजकल नए-नए तरीके लेकर आ रहे हैं. हाल ही में जालसाजी का एक नया मामला सामने आया है. यह मामला एक बॉलीवुड फिल्म से जुड़ा है और इस फिल्म की एक्ट्रेस थी सनी लियोनी. 12 सितंबर 2017 को फिल्म ‘तेरा इंतजार’ का प्रमोशन था. करीब एक हजार लोग पहुंचे थे. ब्लू फॉक्स मोशन पिक्चर्स (प्राइवेट) लिमिटेड प्रॉडक्शन हाउस ने इसके सहारे लोगों को फिल्म इंडस्ट्रीज में पैसा लगाकर मोटा मुनाफा कमाने का झांसा दिया. 2 लाख लगाओ और 1 साल में 5 लाख बनाओ की स्कीम बताई गई. इसके फेर में फंसकर दिल्ली-एनसीआर के 16 लोगों ने 16 लाख रुपये गंवा दिए. जानकारी के मुताबिक, इस कंपनी में करीब 14 हजार लोगों ने पैसा लगाया था, जिनके करोड़ों रुपये डूबे हैं.

दिल्ली एनसीआर के लोग हुए इस धोखाधड़ी का शिकार
इनकी शिकायत पर शुरुआती जांच के बाद दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने (EOW) अमानत में खयानत (406), धोखाधड़ी (420) और आपराधिक षड़यंत्र (120B) के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया. धोखाधड़ी में दिल्ली, पंजाब, हरियाणा और जम्मू-कश्मीर के लोग भी शिकार हुए हैं. मोहाली में ही करीब 200 लोगों के सौ फीसदी रिटर्न की इस स्कीम में 190 करोड़ रुपये गंवाने की बात सामने आई है. इस कंपनी का मास्टरमाइंड मनु प्रशांत विग है, जिसे मोहाली में नवंबर 2018 में पत्नी समेत गिरफ्तार किया जा चुका है.

ये भी पढ़ें: पैसे जमा करने और खाते से जुड़ी SMS सर्विस के लिए SBI वसूलता है इतने रुपये!



कंपनी के 4 डायरेक्टर ने मिलकर लगाया लोगों चूना 
आरोप लगाया है कि कंपनी के प्रमोशन प्रोग्राम में एक्टर सोहेल खान भी आया करते थे. आरोप है कि कंपनी ‘क्रिप्टोकरेंसी’ और मल्टीलेवल मार्केटिंग दोनों में डील करती थी. आरोप है कंपनी की कई इनवेस्टमेंट स्कीमें थीं. दिल्ली के बाराखंभा रोड पर इनका ऑफिस था. विग के अलावा तीन और डायरेक्टर थे, जबकि धर्मवीर सिंह और विजेंद्र सिंह भी प्रमोशन प्रोग्राम कंडक्ट करते थे. ईओडब्ल्यू ने शुरुआती जांच के लिए चारों डायरेक्टरों को नोटिस दिया, लेकिन कोई भी जांच में शामिल नहीं हुआ. धर्मवीर और विजेंद्र ने बताया कि कंपनी में खुद उनका 30 लाख रुपये डूब गया है.

ये भी पढ़ें: सैलरी खाते पर बैंक देते हैं ये 5 बड़े फायदे, बिल्कुल मुफ्त होती हैं ये सर्विस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 20, 2020, 9:19 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर