बैंकों से 5000 करोड़ का फ्रॉड कर विदेश भागे गुजरात के संदेसरा बंधु, ED फाइल करेगा चार्जशीट

बैंकों से 5000 करोड़ का फ्रॉड कर विदेश भागे गुजरात के संदेसरा बंधु, ED फाइल करेगा चार्जशीट
प्रतीकात्मक तस्वीर

एजेंसी ने कहा कि उसने इस मामले में संदेसरा बंधुओं और उनकी वडोदरा स्थित कंपनी स्टर्लिंग बायोटेक लिमिटेड और अन्य के खिलाफ पिछले साल अक्तूबर में पीएमएलए का मामला दर्ज किया था

  • भाषा
  • Last Updated: September 25, 2018, 1:52 PM IST
  • Share this:
प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) जल्द ही संदेसरा बंधुओं (चेतन जयंतीलाल संदेसरा और नितिन जयंतीलाल संदेसरा) के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत आरोप पत्र दायर करेगा. संदेसरा बंधु गुजरात स्थित दवा कंपनी के प्रमोटर हैं और कथित तौर पर 5000 करोड़ रुपये से ज्यादा के बैंक कर्ज धोखाधड़ी मामले में वांछित हैं. अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी.

अधिकारियों ने कहा कि केंद्रीय जांच एजेंसी इसके बाद इन भाइयों और अन्य आरोपियों के खिलाफ आपराधिक शिकायत के आधार पर इंटरपोल से रेड कॉर्नर नोटिस (वैश्विक गिरफ्तारी वारंट) जारी करवाने की कोशिश करेगी. उन्होंने कहा कि अभी वे कहां हैं इसका उन्हें ठीक-ठीक पता नहीं हैं और वह यूएई से लेकर नाइजीरिया तक बदल रही है. उन्होंने कहा कि  प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत आरोप-पत्र अगले एक पखवाड़े के अंदर विशेष अदालत में दायर किए जाने की उम्मीद है. प्रवर्तन निदेशालय ने इस मामले में अन्य आरोपियों के खिलाफ पूर्व में कुछ आरोप पत्र दायर किए थे.

यह भी पढ़ें: PM मोदी का करीबी है माल्या-नीरव को भगाने वाला CBI अधिकारी- राहुल गांधी



एजेंसी ने कहा कि उसने इस मामले में संदेसरा बंधुओं और उनकी वडोदरा स्थित कंपनी स्टर्लिंग बायोटेक लिमिटेड और अन्य के खिलाफ पिछले साल अक्तूबर में पीएमएलए का मामला दर्ज किया था. इससे दो दिन पूर्व ही सीबीआई ने 5,700 करोड़ रूपये की कथित बैंक धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार को लेकर उनके खिलाफ मामला दर्ज किया था.
ईडी ने एक बयान में कहा, ‘‘वर्ष 2004-2012 के दौरान विभिन्न बैंकों द्वारा 5,700 करोड़ रूपये का कर्ज दिया गया. अगस्त 2017 में आरोपियों के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी किये गए थे.’’

यह भी पढ़ें:  नीरव मोदी की 4,000 करोड़ रुपए की विदेशी संपत्तियां जब्त करने की तैयारी में ईडी

इसमें कहा गया, ‘‘जांच के दौरान तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया इनमें से एक गगन धवन है जो कर्ज की मंजूरी के समय सत्ता केंद्रों का करीबी था."

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading