लाइव टीवी

BJP नेता को इस बैंक ने किया डिफॉल्टर घोषित, जानें क्या है मामला?

News18Hindi
Updated: June 6, 2019, 3:10 PM IST
BJP नेता को इस बैंक ने किया डिफॉल्टर घोषित, जानें क्या है मामला?
सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक BOB (बैंक ऑफ़ बरोड़ा) ने भारतीय जनता युवा मोर्चा के नेता को कर्ज ना चुकाने को लेकर विलफुल डिफॉल्टर घोषित किया है.

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक BOB (बैंक ऑफ़ बरोड़ा) ने भारतीय जनता युवा मोर्चा के नेता को कर्ज ना चुकाने को लेकर विलफुल डिफॉल्टर घोषित किया है.

  • Share this:
सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक BOB (बैंक ऑफ़ बरोड़ा) ने भारतीय जनता युवा मोर्चा के नेता को कर्ज ना चुकाने को लेकर विलफुल डिफॉल्टर घोषित किया है. मुंबई भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYP) के अध्यक्ष मोहित भारतीय को कई अखबारों ने विलफुल डिफॉल्टर घोषित किया है. बैंक के मुताबिक अव्यान ऑर्नामेंट्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने बैंक से लिया कर्ज नहीं भरा है. मोहित भारतीय और जितेंद्र कपूर की तस्वीर लगाकर उन्हें कसूरवार कर्जदार घोषित किया है. दूसरी तरफ मोहित भारतीय ने बैंक के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करने की चेतावनी दी है. मोहित ने अपनी सफाई में एक पत्र जारी कर लिखा है कि वो कंपनी में पार्टनर नहीं बल्कि कर्ज में पर्सनल गारंटर थे. उन्होंने पिछले 2 सालों में अपने हिस्से का 76 करोड़ रुपए लौटा भी दिया है. बावजूद इसके बैंक ने उनकी तस्वीर जारी कर जानबूझकर कर बदनामी की है.

चीन को पछाड़ भारत बनेगा दुनिया में तेजी से ग्रो करने वाला देश

मोहित ने पत्र में लिखा है कि 2014 के इस मामले में लोअर कोर्ट से बैंक ऑफ बड़ौदा पहले मुकदमा हार चुकी है जो ऑन द रिकॉर्ड है. बैंक ऑफ बड़ौदा ने जिस कंपनी का जिक्र करते हुए मेरी फोटो प्रकाशित की है, मैं उस कंपनी का प्रमोटर नहीं था, केवल पर्सनल गारंटर था. पर्सनल गारंटर के तौर पर मैंने दो साल में 76 करोड़ रुपए की अपने हिस्से की राशि चुका दी. इस मामले में कोर्ट का फैसला मेरे पक्ष में आया है. अगर बैंक साबित कर दे कि मेरे ऊपर कोई पैसा बकाया है तो मैं पाई पाई चुका दूंगा.

किराना दुकान से जल्द ATM कार्ड के जरिए ले सकेंगे कैश, RBI का नया प्लान

बैंक ऑफ बड़ौदा शेयरों की बिक्री से 11,900 करोड़ रुपये जुटाएगा
2 जून की खबर के मुताबिक बैंक ऑफ बड़ौदा की चालू वित्त वर्ष में शेयरों की बिक्री के जरिए 11,900 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है इसमें कर्मचारी शेयर खरीद योजना (ईएसपीएस) के जरिए बेचे जाने वाले शेयर भी होंगे. बैंक अपनी विस्तार योजनाओं पर यह पूंजी लगाएगा. बैंक को उम्मीद है कि बीओबी-ईएसपीएस के जरिए उसे 1,500 करोड़ रुपये प्राप्त होंगे. बैंक ने बयान में कहा है कि ईएसपीएस का आकार 10 करोड़ से बढ़ाकर 15 करोड़ शेयरों का कर दिया गया है. प्रत्येक शेयर का अंकित मूल्य दो रुपये होगा. बीओबी ने अपनी वार्षिक आम बैठक से जुड़े नोटिस में सभी अंशधारकों को सूचित किया है कि उसकी ईएसपीएस योजना 2019-20 में शेयरों से कुल 11,900 करोड़ रुपये जुटाने की बैंक की योजना के दायरे में ही होगी. उसने कहा है कि पात्र संस्थागत नियोजन (क्यूआईपी), अनुवर्ती सार्वजनिक निर्गम (एफपीओ) या राइट इश्यू या अन्य माध्यमों से शेष राशि जुटायी जाएगी. उसने कहा है कि 21 जून को बैंक के शेयरधारकों की होने वाली बैठक में इस बाबत निर्णय किया जाएगा.

35 हजार लगाकर हर महीने कमाएं 28 हजार रुपये, बिजनेस शुरू करने में मदद करेगी सरकार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 6, 2019, 3:10 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर