इस सरकारी बैंक में है आपका खाता? तो ये छोटी सी गलती कर देगी आपका अकाउंट साफ, जानें बैंक ने क्या कहा?

कोरोनावायरस (Second wave of corona )और लाॅकडाउन में ऑनलाइन फ्रॉड के मामले तेजी से बढ़े हैं.

कोरोनावायरस (Second wave of corona )और लाॅकडाउन में ऑनलाइन फ्रॉड के मामले तेजी से बढ़े हैं.

कोरोना वायरस (Second wave of corona) और लाॅकडाउन में ऑनलाइन फ्रॉड के मामले तेजी से बढ़े हैं. इसी के मद्देनजर अब बैंक ने ग्राहकों को सोशल इंजीनियरिंग फ्रॉड से सावधान किया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आपका अकाउंट बैंक ऑफ इंडिया (Bank of India) में है, तो आपके लिए जरूरी खबर है. सरकारी बैंक BOI ने अपने ग्राहकों के लिए अलर्ट नोटिस जारी किया है. कोरोना वायरस (Second wave of corona ) और लाॅकडाउन में ऑनलाइन फ्रॉड के मामले तेजी से बढ़े हैं. इसी के मद्देनजर अब बैंक ने ग्राहकों को सोशल इंजीनियरिंग फ्रॉड से सावधान किया है. इसकी जानकारी Bank of India ने ट्वीट करके दी है.

अकाउंट हो सकता है खाली

बैंक ने अपने ट्वीट में कहा है कि ग्राहक किसी को भी फोन या अन्य मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपने पर्सनल डिटेल्स का खुलासा नहीं करे. अगर ग्राहक ऐसा करते हैं तो उनको बड़ा नुकसान हो सकता है. अकाउंट से पैसे गायब हो सकते हैं. बैंक ने कहा कि बैंकों के टोल फ्री नंबर के समान मोबाइल नंबर का उपयोग करने वाले सामाजिक इंजीनियरिंग धोखाधड़ी से सावधान रहें. किसी को भी फोन पर या अन्य मीडिया पर अपना PIN, CVV, OTP और कार्ड डिटेल्स न दें.


यहां करें शिकायत दर्ज

बता दें कि पिछले एक साल में ऑनलाइन फ्रॉड के मामलों में तेजी से इजाफा हुआ है. कोरोना के चलते ग्राहक ज्यादा से ज्यादा सेवाओं के लिए ऑनलाइन बैंकिंग का इस्तेमाल करते हैं ऐसे में साइबर अपराधी अलर्ट हैं और इस मौके को भुनाने में लगे हैं. ऐसे में आए दिन बैंकों द्वारा सावधानी बरतने को कहा जा रहा है. बैंक बार-बार ग्राहकों से अपील कर रहा है कि अपना पैन कार्ड (PAN Card) डिटेल्स, आईएनबी क्रिडेंशियल्स, मोबाइल नंबर, यूपीआई पिन, एटीएम कार्ड नंबर, एटीएम पिन और यूपीआई वीपीए गलती से भी किसी के साथ शेयर ना करें.

ये भी पढ़ें-  Stock Market Today: बाजार की अच्छी शुरुआत! 248 अंकों की तेजी के साथ खुला Sensex, निफ्टी 14,713 के पार



बैंकों का कहना है कि किसी के साथ कुछ भी साझा करने से पहले दो बार सोचना चाहिए. अगर आप धोखाधड़ी का शिकार होते हैं, तो कृपया साइबर अपराधों की रिपोर्ट – https://cybercrime.gov.in पर करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज