बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने किया कमाल, MSME लोन ग्रोथ के मामले में सरकारी बैंकों में टॉप पर

बैंक ऑफ महाराष्ट्र

खुदरा क्षेत्र के कर्ज के मामले में बीओएम (BoM) ने करीब 25.61 फीसदी की वृद्धि दर्ज की जो देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई (SBI) से भी ज्यादा रही.

  • Share this:
    नई दिल्ली. बैंक ऑफ महाराष्ट्र यानी बीओएम (Bank of Maharashtra) खुदरा और सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम (MSME) को दिए जाने वाले लोन में वृद्धि के लिहाज से वित्तीय वर्ष 2020-21 में सरकारी क्षेत्र के बैंकों में सबसे ऊपर रहा. पुणे के इस बैंक ने 2020-21 में एमएसएमई लोन में 35 फीसदी की भारी वृद्धि दर्शाई. बैंक ने एमएसएमई सेक्टर की यूनिट्स के लिए वित्तीय वर्ष 2020-21 में 23,133 करोड़ रुपये के लोन दिए.

    चेन्नई का इंडियन बैंक दूसरे स्थान पर रहा. उसने 15.22 फीसदी की वृद्धि के साथ एमएमएमई सेक्टर को कुल 70,180 करोड़ रुपए का कर्ज दिया. खुदरा क्षेत्र के कर्ज के मामले में बीओएम ने करीब 25.61 फीसदी की वृद्धि दर्ज की जो देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक से भी ज्यादा रही. एसबीआई ने इस खंड में 16.47 फीसदी की वृद्धि दर्ज की.

    ये भी पढ़ें- RBL Bank Platinum Maxima Card: हर महीने 200 रुपये की मूवी बिल्कुल मुफ्त, एक साल में 20 हजार तक मिलेंगे रिवॉर्ड प्वाइंट्स, जानें और फीचर्स

    खुदरा क्षेत्र को दिए जाने वाले कुल कर्ज में एसबीआई ने राशि के हिसाब से बीओएम से 30 गुना ज्यादा कर्ज दिया. बीओएम ने इस खंड में कुल 28,651 करोड़ रुपये का कर्ज दिया जबकि एसबीआई ने 8.70 लाख करोड़ का कर्ज दिया. आंकड़े के मुताबिक पिछले वित्तीय वर्ष में बैंक ऑफ बड़ौदा द्वारा खुदरा क्षेत्र को दिए जाने वाले लोन में 14.35 फीसदी की वृद्धि देखी गई और उसने कुल 1.20 लाख करोड़ का लोन दिया.

    ये भी पढ़ें- Indian Railways: रेलवे ने कई ट्रेनों के फेरों को बढ़ाया, अब आसानी से मिलेगा टिकट, यहां देखें लिस्ट

    बता दें कि वित्त वर्ष 2020-21 में बैंक आफ महाराष्ट्र का एकल शुद्ध लाभ 42 फीसदी बढ़कर 550.25 करोड़ रुपये रहा जो कि इससे पिछले वित्त वर्ष में 388.58 करोड़ रुपये रहा था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.