Bank Strike: बैंक कर्मचारी जाएंगे लंबी हड़ताल पर, फटाफट निपटा लें सभी जरूरी काम, इतने दिन बंद रहेंगे बैंक!

बैंक प्राइवेटाइजेशन को लेकर बैंक यूनियन एक बार फिर से हड़ताल पर जाने की तैयारी में है

बैंक प्राइवेटाइजेशन को लेकर बैंक यूनियन एक बार फिर से हड़ताल पर जाने की तैयारी में है

Bank Strike: सरकारी बैंक के ग्राहकों के लिए जरूरी खबर है. बैंक से संबंधित सभी जरूरी काम फटाफट निपटा लें. बैंक प्राइवेटाइजेशन (Bank privatization ) को लेकर बैंक यूनियन एक बार फिर से हड़ताल पर जाने की तैयारी में है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 6, 2021, 10:13 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सरकारी बैंक के ग्राहकों के लिए जरूरी खबर है. बैंक से संबंधित सभी जरूरी काम फटाफट निपटा लें. बैंक प्राइवेटाइजेशन (Bank privatization ) को लेकर बैंक यूनियन एक बार फिर से हड़ताल (Bank strike) पर जाने की तैयारी में है. हाल ही में अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ (AIBEA) की परिषद ने देशभर के संगठनों के साथ बैठक की है. इस बैठक में सदस्यों को अपना आंदोलन तेज करने के लिए कहा गया है. बता दें कि बैंक यूनियनों (Bank Unions) ने सरकारी बैंकों के निजीकरण करने के फैसले के विरोध में बैठक की, जहां देशभर के बैंक यूनियन और संगठन के सदस्य शामिल रहें. बैठक के बाद संगठन ने बैंकों के निजीकरण के केंद्र सरकार के प्रस्ताव के खिलाफ बड़े स्तर पर हड़ताल की धमकी दी है.

लंबे समय तक हड़ताल के लिए तैयार रहें

इस बैठक में पूरे देश के विभिन्न शहरों से 262 जनरल काउंसिल सदस्यों ने भाग लिया. बैठक में सर्वसम्मति बैंक निजीकरण को घोषणा के खिलाफ आंदोलन तेज करने का निर्णय लिया गया. संघ की बैठक में कहा गया कि सामान्य परिषद की बैठक ने पूरे देश में हमारे सभी यूनियनों और सदस्यों से आह्वान किया है कि वे बैंक के निजीकरण के खिलाफ संघर्ष जारी रखें, लंबे समय तक हड़ताल के लिए तैयार रहें.

ये भी पढ़ें- Petrol Diesel Price: फरवरी में 4.74 रु बढ़े पेट्रोल के दाम और मार्च में 61 पैसे की हुई कटौती, जानें आज का हाल
मार्च में दो दिवसीय राष्ट्रीय हड़ताल किया गया था

गौरतलब है कि इससे पहले भी निजीकरण के विरोध में बैंक यूनियन ने 15 और 16 मार्च को दो दिवसीय राष्ट्रीय हड़ताल किया था जिसमें लगभग 10 लाख बैंक कर्मचारियों ने हिस्सा लिया था. हड़ताल के पहले दिन 16,500 करोड़ के चेक और भुगतान उपकरणों की निकासी प्रभावित हुई थी.

हड़ताल के दौरान ये सेवाएं चालू रहेंगी



दिल्ली प्रदेश बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन के महासचिव अश्विनी राणा ने News18 हिन्दी से कहा कि आने वाले समय में लगातार बैंक बंद रहेंगे. ऐसे में लेनदेन के लिए ग्राहकों के लिए मोबाइल ऐप, नेट बैंकिंग, एटीएम जैसी सेवाएं उपलब्ध हैं. लगभग सभी बैंकों की मोबाइल ऐप मौजूद है. इन ऐप का इस्तेमाल कर सकते हैं. इस पर हड़ताल का कोई असर नहीं पड़ेगा. बता दें कि वर्तमान में कैश लेनदेन से लेकर एफडी में निवेश, लोन की इंस्टॉलमेंट, क्रेडिट कार्ड का बिल समेत कार्य मोबाइल के जरिए किया जा सकता है.

जानें, क्या है पूरा मामला?

बैंक यूनियन प्रतिनिधियो का कहना है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने केंद्रीय बजट 2021-22 में घोषणा की थी कि सरकार बिना नाम बताए आईडीबीआई बैंक (IDBI)के अलावा सरकारी बैंकों का निजीकरण किया जाएगा.

10 दिन बंद रहेंगे बैक

बता दें कि अप्रैल महीने में अब करीब 10 दिन बैंकों की छुट्टियां(Bank holidays)हो रही है. इस दिन बैंक बंद रहेंगे. ये है लिस्ट

- 10 अप्रैल - दूसरा शनिवार

- 11 अप्रैल - रविवार

- 13 अप्रैल - मंगलवार - उगाडी, तेलुगु न्यू ईयर, बोहाग बिहू, गुडी पड़वा, वैशाखी, बिजु फेस्टिवल

- 14 अप्रैल - बुधवार - डॉक्टर अंबेडकर जयंती, अशोका द ग्रेट का जन्मदिन, तमिल न्यू ईयर, महा विशुबा संक्रांति, बोहाग बिहू

- 15 अप्रैल - गुरुवार - हिमाचल डे, विशु, बंगाली न्यू ईयर, सरहुल

- 16 अप्रैल - शुक्रवार - बोहाग बिहू

- 18 अप्रैल - रविवार

- 21 अप्रैल - मंगलवार - राम नवमी, गरिया पूजा

- 24 अप्रैल - चौथा शनिवार

- 25 अप्रैल - रविवार - महावीर जयंती
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज