बैंक ग्राहकों के लिए बड़ी खबर, मार्च में शुरू होगी हड़ताल! जानें बैंक के कर्मचारियों-अधिकारियों ने क्‍यों लिया ये फैसला

बैंकों के संगठनों ने सरकारी बैंकों के निजीकरण के खिलाफ हड़ताल का आह्वान किया है.

बैंकों के संगठनों ने सरकारी बैंकों के निजीकरण के खिलाफ हड़ताल का आह्वान किया है.

केंद्रीय वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) ने बजट 2021 (Budget 2021) पेश करते हुए कहा था कि केंद्र सरकार विनिवेश योजना के तहत 2 सरकारी बैंकों का निजीकरण (Privatisation) करेगी. केंद्र की इस योजना के खिलाफ 9 संगठनों की प्रमुख संस्‍था यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (UFBU) ने हड़ताल का ऐलान किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 9, 2021, 8:43 PM IST
  • Share this:


नई दिल्‍ली. बैंकों से जुड़े 9 संगठनों की मुख्‍य संस्‍था (Umbrella Body) यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (UFBU) ने 15 मार्च 2021 से देशभर के सभी बैंकों की हड़ताल (Bank Strike) का आह्वान किया है. दरअसल, बैंकों के संगठन सरकारी बैंकों के निजीकरण (Privatization of PSBs) के खिलाफ हैं. दरअसल, केंद्रीय वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) ने बजट 2021 (Budget 2021) पेश करते हुए 2 सरकारी बैंकों के निजीकरण की घोषणा की थी. उन्‍होंने कहा था कि दोनों बैंकों का निजीकरण केंद्र सरकार की विनिवेश योजना (Disinvestment Plan) के तहत किया जाएगा.

यूएफबीयू की बैठक में कई मुद्दों पर की गई चर्चा
केंद्र सरकार 2019 में आईडीबीआई बैंक के मैजॉरिटी स्‍टेक एलआईसी को बेचकर उसका निजीकरण कर चुकी है. इसके अलावा पिछले चार साल में 14 सरकारी बैंकों का विलय भी किया जा चुका है. यूएफबीयू ने मंगलवार को हुई बैठक के दौरान फैसला किया कि बैंकों के सभी संगठन 15 मार्च से 2 दिन की हड़ताल कर निजीकरण के निर्णय का विरोध करेंगे. ऑल इंडिया बैंक एम्‍प्‍लॉयज एसोसिएशन के महासचिव सीएच वेंकटचलम ने बताया कि बैठक के दौरान एलआईसी व एक जनरल इंश्‍योरेंस कंपनी के निजीकरण, इंश्‍योरेंस सेक्‍टर में 74 फीसदी एफडीआई को मंजूरी जैसे अहम मुद्दों पर चर्चा के बाद ये फैसला किया गया है.
ये भी पढ़ें- Gold Price Today: गोल्‍ड में अच्‍छी बढ़त, लेकिन चांदी हुई सस्‍ती, फटाफट देखें आज के नए भाव



कर्मचारियों पर निजीकरण से बुरे असर का है डर
यूएफबीयू की बैठक में चर्चा के दौरान पाया गया कि केंद्र सरकार की ओर से निजीकरण को लेकर लिए गए फैसलों का कर्मचारियों पर बुरा असर पड़ेगा. लिहाजा, इनका विरोध किया जाना जरूरी है. इसके बाद 15 और 16 मार्च को बैंकों की हड़ताल का आह्वान किया गया. बता दें कि यूएफबीयू में ऑल इंडिया बैंक एम्‍प्‍लॉयज एसोसिएशन (AIBEA), ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कंफेडरेशन (AIBOC), नेशनल कंफेडरेशन ऑफ बैंक एम्‍प्‍लॉयज (NCBE), ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स ऐसासिएशन (AIBOA) और बैंक एम्‍प्‍लॉयज कंफेडरेशन ऑफ इंडिया (BEFI) शामिल हैं. इसके अलावा मुख्‍य संगठन में आईएनबीईएफ, आईएनबीओसी, एनओबीडब्‍ल्‍यू और एनओबीओ भी हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज