Bank Strike: SBI समेत देश के इन सरकारी बैंक में 16 मार्च तक रहेगी हड़ताल, जानें क्यों...

सरकारी बैंकों में आज और कल रहेगी हड़ताल.

सरकारी बैंकों में आज और कल रहेगी हड़ताल.

देश के सरकारी और ग्रामीण बैंकों में लगातार तीन दिनों तक काम (Bank Strike) नहीं होगा. यूनाइडेट फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स (United Forum of Bank Unions -UFBU) के बैनर तले 9 यूनियों ने 15 मार्च और 16 मार्च को हड़ताल का ऐलान किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 14, 2021, 9:49 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: देश के सरकारी और ग्रामीण बैंकों में लगातार तीन दिनों तक काम (Bank Strike) नहीं होगा. यूनाइडेट फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स (United Forum of Bank Unions -UFBU) के बैनर तले 9 यूनियों ने 15 मार्च और 16 मार्च को हड़ताल का ऐलान किया है. केंद्र सरकार की ओर से देश के कई बैंकों के निजीकरण का प्रस्ताव रखा गया है, जिसके विरोध में बैंक हड़ताल का ऐलान किया गया है तो ऐसे में अब आप सोमवार और मंगलवार को बैंक न जाएं.

आपको बता दें SBI समेत देश के कई पीएसयू बैंक इस हड़ताल में शामिल हो रहे हैं. ऑल इंडिया बैंक एम्पलाॉइज एसोसिएशन (All India Bank Employees Association -AIBEA) के महासचिव सी एच वेंकटचलम (C H Venkatachalam) ने दावा किया था कि करीब 10 लाख बैंक के कर्मचारी इस हड़ताल में शामिल होंगे.

यह भी पढ़ें: पेट्रोल-डीजल के नए रेट्स जारी, टंकी फुल कराने से पहले जान लें 1 लीटर का भाव, कितना हुआ सस्ता?

SBI समेत कई बैंकों में नहीं होगा कामकाज
देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक SBI, केनरा बैंक समेत कई बैंकों ने अपने ग्राहकों को इस बारे में जानकारी दे दी है. इसके साथ ही बैंक ने कुछ दिन पहले यह भी बताया था कि हड़ताल का असर बैंकिग कामकाज पर देखने को मिल सकता है. कामकाज पर असर न हो इसके लिए कई खास कदम भी उठाए गए हैं.

बजट में की थी घोषणा

दरअसल फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण ने यूनियन बजट का ऐलान करते समय कहा कि सरकार इस साल 2 सरकारी बैंकों और एक इंश्योरेंस कंपनी के निजीकरण का फैसला किया है, जिसकी वजह से यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के बैनर तले 9 यूनियनों ने 15 और 16 मार्च को देश भर में हड़ताल करने की घोषणा की है.



अबतक 14 सार्वजनिक बैंकों का हो चुका है मर्जर

केंद्र सरकार साल 2019 में ही LIC में IDBI Bank का मेजोरिटी हिस्सा बेच चुकी है. इसके साथ ही पिछले 4 सालों में 14 सार्वजनिक बैंकों का मर्जर किया है. अभी देश में 12 सरकारी बैंक हैं. उसके बाद इनकी संख्या घटकर 10 रह जाएगी. दो बैंकों का निजीकरण फिस्कल ईयर 2021-22 में किया जाएगा.

यह भी पढ़ें: Laxmi Organic Industries IPO: सोमवार को मिलेगा कमाई का एक और शानदार मौका, निवेश से पहले जान लें ये 8 प्रमुख बातें

कौन-कौन होगा हड़ताल में शामिल?

UFBU के सदस्यों में ऑल इंडिया बैंक एम्पलाॉइज एसोसिएशन (All India Bank Employees Association -AIBEA), ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कॉन्फेडेरेशन ((All India Bank Officers Confederation -AIBOC), नेशनल कॉन्फेडेरेशन ऑफ बैंक एम्पलॉइज (National Confederation of Bank Employees - (NCBE), ऑल बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन (All India Bank Officers Association -AIBOA) और बैंक एम्पलॉइज कॉन्फेडेरेशन ऑफ इंडिया (Bank Employees Confederation of India -BEFI) शामिल हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज