आम बजट से ठीक एक दिन पहले बैंकों ने क्यों की हड़ताल, मार्च में इस तारीख से फिर होगी स्ट्राइक!

दो दिनों की हड़ताल पर हैं बैंक, अब न मानी गईं मांगें तो मार्च में फिर होगी स्ट्राइक

दो दिनों की हड़ताल पर हैं बैंक, अब न मानी गईं मांगें तो मार्च में फिर होगी स्ट्राइक

देश के सरकारी बैंकों के कर्मचारी दो दिन यानी 31 जनवरी और 1 फरवरी को हड़ताल पर हैं. भारतीय स्टेट बैंक (SBI) सहित विभिन्न बैंकों ने अपने ग्राहकों को पहले ही सूचित कर दिया था कि हड़ताल से उनका सामान्य बैंकिंग कामकाज प्रभावित हो सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 31, 2020, 10:48 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के सरकारी बैंकों के कर्मचारी दो दिन यानी 31 जनवरी और 1 फरवरी को हड़ताल पर हैं. माना जा रहा हैं कि इससे सामान्य बैंकिंग कामकाज प्रभावित हो सकता है. भारतीय स्टेट बैंक (SBI) सहित विभिन्न बैंकों ने अपने ग्राहकों को पहले ही सूचित कर दिया था कि हड़ताल से उनका सामान्य बैंकिंग कामकाज प्रभावित हो सकता है. हालांकि, प्राइवेट बैंक खुले रहेंगे. अगर प्राइवेट बैंक में आपका खाता हैं तो आसानी से काम निपटा सकते हैं. साथ ही, मोबाइल बैंकिंग और नेट बैंकिंग के जरिए भी पैसों का लेन-देन किया जा सकता हैं.

फरवरी में कुल 11 दिन बंद रहेंगे बैंक- आपको बता दें कि फरवरी में कुल 11 दिन बैंकों में बंद रहें. इन 11 छुट्टियों में अलग-अलग राज्यों में होने वाली छुट्टियों के साथ महीने का दूसरा और चौथा शनिवार भी शामिल है. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने इस महीने में बैंकों की छुट्टियों की लिस्ट जारी की है.

बैंक क्यों कर रहे हैं हड़ताल- देश के सरकारी बैंक बजट से ठीक एक दिन पहले और बजट वाले दिन यानी 1 फरवरी को भी बड़ताल कर रहे हैं. वित्त वर्ष 2020-21 का बजट कल यानी शनिवार को पेश होगा. बैंकों की सबसे यूनियन ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन (AIBOC), ऑल इंडिया बैंक एंप्लॉयीज असोसिएशन (AIBEA) और नेशनल ऑर्गनाइजेशन ऑफ बैंक वर्कर्स (NOBW) हड़ताल में शामिल होंगी. दरअसल बैंकों के कर्मचारी वेतन बढ़ोतरी की मांग को लेकर हड़ताल कर रहे हैं.



ये भी पढ़ें-1 अप्रैल से 50 पैसे से एक रुपये लीटर बढ़ सकते हैं पेट्रोल, डीजल के दाम


(I) शुक्रवार को एआईबीईए के महासचिव सी एच वेंकटचलम ने कहा था कि भारतीय बैंक संघ (आईबीए) के साथ हमारी मांगों को लेकर हुई बैठक विफल रही है. ऐसे में हम शुक्रवार से दो दिन की हड़ताल पर जाएंगे.

(II) बैंकों के कर्मचारी नवंबर 2017 से ही सैलरी बढ़ाने की मांग कर रहे हैं लेकिन अभी तक 12.25% वेतन बढ़ाने का ऑफर किया गया है जो यूनियनों की मंजूर नहीं है. आज और कल की इस हड़ताल में 10 लाख बैंक कर्मचारी और अधिकारी शामिल हो सकते हैं.



(III) इस हड़ताल के बाद बैंक कर्मचारी एक बार फिर वेतन बढ़ाने को लेकर बातचीत करेंगे और अगर तब भी मांगें नहीं मानी जातीं तो मार्च में 11,12 और 13 को फिर हड़ताल होगी. उसके बाद भी शर्त नहीं मानने पर 1 अप्रैल 2020 से अनिश्चितकालीन हड़ताल की चेतावनी भी दी गई है.

31 जनवरी और एक फरवरी को बैंक करेंगे हड़ताल


(IV) बैंक कर्मचारी 11-13 मार्च को भी तीन दिन की हड़ताल करेंगे. यह हड़ताल कई मांगों को लेकर की जा रही है, जिन्हें अब तक माना नहीं गया है. समान काम की समान सैलरी, काम का समय निर्धारित करने, पारिवारिक पेंशन आदि से जुड़ी मांगें पूरी न पूरी होने के कारण दोबारा हड़ताल का आह्वान किया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज